कन्नौज : समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि सपा और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मिलकर लोकसभा चुनाव में जीत का परचम लहराएंगे। उन्होंने कहा कि पिछले साल लोकसभा उप-चुनाव में हम साथ आए तो प्रदेश के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री की सीट पर भाजपा चुनाव हार गई। इस बार भी हमारा गणित सटीक बैठेगा और भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ेगा।

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश शुक्रवार को कन्नौज में ई-चौपाल में लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा, ”हम लोगों को अब अफवाह फैलाने वालों से सावधान रहने की जरूरत है। हम लोगों को इन अफवाह फैलाने वालों यानी भाजपा के लोगों से बच के रहना होगा। मेरा तो इतना ही कहना है कि अगर हमको उन्नति करनी है तो जाति-पाति की बात छोड़नी होगी। भाजपा सरकार लोगों को हर स्तर पर गुमराह कर रही है।

अखिलेश ने कहा कि शनिवार को लखनऊ में सपा और बसपा की संयुक्त प्रेस कान्फ्रेंस होगी। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे साथ आने पर भाजपा के साथ कांग्रेस के अंदर भी काफी भय है। सपा और बसपा जब पहले साथ आई तो यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप-मुख्यमंत्री केशव मौर्य अपने-अपने क्षेत्र में उप-चुनाव हार गए। अब यही ताकत लोकसभा चुनावों में भी परचम फहराएगी। इस बार भी हमारा गणित सटीक बैठेगा और भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ेगा।’’ बसपा के साथ गठबंधन पर उठ रहे सवालों के बीच अखिलेश ने कहा कि क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन कर ही भाजपा इतनी मजबूत हुई है। अब हम भी गठबंधन कर अपनी ताकत बढ़ा रहे हैं।

चौपाल में सीबीआई पूछताछ पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सीबीआई को जो कुछ भी पूछना है वह चुनाव के बाद पूछे। इस दौरान नया नारा देते हुए उन्होंने कहा ,‘‘हमारा काम बोलता है, भाजपा का धोखा बोलता है।’’ अखिलेश ने यहां ट्विटर के जरिए गांव वालों को डिजिटल दुनिया की जरूरत के बारे में भी बताया। इसकी शुरुआत कन्नौज जिले के फकीरपुर गांव से की गई है, जिसमें उनके साथ ट्विटर इंडिया के ग्लोबल वाइस प्रेसिडेंट कॉलिन क्रॉवेल भी थे। कन्नौज की ई-चौपाल में लोगों को सोशल मीडिया के साथ ही ट्विटर के इस्तेमाल का तरीका बताया गया। इसी दौरान सपा मुखिया ने ट्विटर के जरिए गांव वालों से अपनी बात कही। सूत्रों के अनुसार, अखिलेश कन्नौज से ही लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी में हैं, लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।