BREAKING NEWS

पंजाब : नवजोत सिंह सिद्धू ने अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए उन्हें बताया फुंका कारतूस◾कांग्रेस पटोले को निगरानी में रखे और PM के खिलाफ टिप्पणी के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की जांच कराएं : भाजपा ◾दिल्ली कोर्ट ने शरजील इमाम के खिलाफ देशद्रोह का आरोप तय करने का दिया आदेश ◾छत्तीसगढ़ : मुख्यमंत्री बघेल ने भाजपा पर लगाया आरोप, कहा- सत्ता में आने के लिए लोगों को बांटने का काम करती है ◾दिल्ली में कोरोना के 5,760 नए मामले सामने आये, संक्रमण दर गिरकर 11.79 ◾ रामपुर से आजम खां और कैराना से नाहिद हसन लड़ेंगे चुनाव, जानिए सपा की 159 उम्मीदवारों की लिस्ट में किसे कहां से मिली टिकट◾केंद्र सरकार को सुभाषचंद्र बोस को देश के पहले प्रधानमंत्री के रूप में मान्यता देनी चाहिए : TMC◾कपटी 1 दिन में प्राइवेट नंबर पर 5 हजार से ज्यादा मैसेज नहीं आ सकते.....सिद्धू का केजरीवाल पर निशाना◾कर्नाटक : मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई अपने पहले बजट की तैयारियों में जुटे ◾गणतंत्र दिवस के बाद टाटा को सौंप दी जाएगी एयर इंड़िया, जानें अधिग्रहण की पूरी जानकारी◾पाक PM ने की नवजोत सिद्धू को मंत्रिमंडल में लेने की सिफारिश, अमरिंदर सिंह ने किया बड़ा खुलासा ◾कांग्रेस ने बेरोजगारी को लेकर केंद्र पर कसा तंज, कहा- कोरोना काल में बढ़ी अमीरों और गरीबों के बीच खाई ◾पंजाब: NDA में पूरा हुआ बंटवारे का दौर, नड्डा ने किया ऐलान- 65 सीटों पर BJP लड़ेगी चुनाव, जानें पूरा गणित ◾शरजील इमाम पर चलेगा देशद्रोह का मामला, भड़काऊ भाषणों और विशेष समुदाय को उकसाने के लगे आरोप ◾ गणतंत्र दिवस: 25-26 जनवरी को दिल्ली मेट्रो की पार्किंग सेवा रहेगी बंद, जारी की गई एडवाइजरी◾महिला सशक्तिकरण की बात कर रही BJP की मंत्री हुई मारपीट की शिकार, ऑडियो वायरल, जानें मामला? ◾UP चुनाव: SP को लगा तीसरा बड़ा झटका, BJP में शामिल हुए विधायक सुभाष राय, टिकट कटने से थे नाराज ◾देश में कोरोना के मामलों में 15 फरवरी तक आएगी कमी, कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में कम हुए कोविड केस◾UP चुनाव: BJP के साथ गठबंधन नहीं होने के जिम्मेदार हैं आरसीपी, JDU अध्यक्ष बोले- हमने किया था भरोसा.. ◾फडणवीस का उद्धव ठाकरे को जवाब, बोले- 'जब शिवसेना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से BJP...'◾

मनीष गुप्ता के परिजनों को अखिलेश देंगे 20 लाख की मदद, कहा- CM की ठोको नीति से पुलिस हुई बेलगाम

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरूवार को कहा कि गोरखपुर के एक होटल में कानपुर के व्यापारी की हत्या के लिये पुलिस के साथ साथ योगी सरकार भी बराबर की जिम्मेदार हैं। अखिलेश ने गोरखपुर के एक हाेटल में पुलिस की कथित पिटाई से मारे गये कानपुर निवासी प्रापर्टी डीलर मनीष गुप्ता के परिजनों से मुलाकात की और उन्हे सांत्वना प्रदान करते हुये न्याय की लड़ाई में साथ खड़े रहने का भरोसा दिलाया।

सपा की ओर से पीड़ित परिवार को 20 लाख रूपये देने की घोषणा

उन्होने प्रदेश सरकार से पीड़ित परिवार को दो करोड़ रूपये की आर्थिक मदद और मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी देने की मांग की। साथ ही पूरे मामले की जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की मांग की। उन्होने सपा की ओर से पीड़ित परिवार को 20 लाख रूपये देने की घोषणा की।

भाजपा सरकार से आम आदमी न्याय की उम्मीद नहीं कर सकता

उन्होने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भाजपा सरकार से आम आदमी न्याय की उम्मीद नहीं कर सकता। जब राज्य के मुख्यमंत्री ठोको नीति पर जोर देते है और डीएम एसएसपी से चुनाव को प्रभावित करने और अन्य अनर्गल काम करवाते है तो उस सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है। कानपुर में संजित हत्याकांड में भी पुलिस की भूमिका उजागर हो चुकी है। झांसी में भी एक बेगुनाह को पुलिस ने मार दिया था। बुलडोजर चलाने और एनकांउटर पर विश्वास करने वाली सरकार बताये कि क्या वह प्रापर्टी डीलर की हत्या में शामिल लोगों का एनकाउंटर करेगी।

उत्तर प्रदेश में पुलिस का ऐसा व्यवहार किसी की सरकार में देखने को नहीं मिला

सपा अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में पुलिस सुरक्षा देने के बजाय बेगुनाहो की जान ले रही है। उत्तर प्रदेश में पुलिस का ऐसा व्यवहार किसी की सरकार में देखने को नहीं मिला। सरकार की पहले दिन से कानून व्यवस्था पर नियत साफ नहीं रही है। बाबा मुख्यमंत्री होने के बावजूद ऐसी घटनाएं लगातार हो रही है।

भाजपा की सरकार में पुलिस लगातार लूट और हत्या की वारदातों में शामिल 

उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा कस्टोडियल डेथ भाजपा सरकार में हो रही है और सबसे ज्यादा नोटिस एनएचआरसी ने भाजपा की मौजूदा सरकार को दिए हैं। भाजपा की सरकार में पुलिस लगातार लूट और हत्या की वारदातों में शामिल है। यह तभी संभव है जब सरकार की नियत साफ ना हो।

पीड़ित परिवार के पहुंचने से पहले पूरे के पूरे सबूत मिटा दिए गए

उन्होने कहा कि झांसी में ही ऐसी घटना हुई थी जिसमें पुष्पेंद्र यादव नामक युवक की पुलिस ने जान ले ली थी। सरकार में अगर उस मामले मे त्वरित कार्रवाई हुई होती तो कानपुर के प्रापर्टी डीलर को आज अपनी जान नहीं गंवाना पड़ता। उन्होने कहा कि जिस होटल में व्यापारी के साथ जघन्य वारदात को अंजाम दिया गया, वहां पीड़ित परिवार के पहुंचने से पहले पूरे के पूरे सबूत मिटा दिए गए।

मामले की जांच हाई कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में हो

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले की जांच हाई कोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में हो और जो दोषी पुलिसकर्मी या संबंधित लोग हैं उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले। उन्होंने पीड़ित परिवार की सुरक्षा की मांग करते हुए कहा कि जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है, वह मामूली आदमी नहीं हैं। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी पूरी तरह से परिवार के साथ हैं और उम्मीद है कि जिस दिन यह केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में जाएगा, उस दिन पीड़ित परिवार को न्याय मिलेगा और उदाहरण बनेगा कि इस तरीके की घटना की पुनरावृत्ति ना हो।

गोरखपुर कांड : पोस्टमॉर्टम ने खोली पुलिस की बर्बरता की पोल, रिपोर्ट में शरीर पर मिले गंभीर चोट के निशान