BREAKING NEWS

राजस्थान : विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने कहा- सभी विधायकों ने भाजपा का षड्यंत्र विफल करने का लिया संकल्प ◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 5.60 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 11,813 नए केस◾आंध्र प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी, 24 घंटों में 82 लोगों की मौत, 9996 नए मामले◾राजस्थान: विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत बोले- कांग्रेस खुद लाएगी विश्वास प्रस्ताव ◾कोविड-19 : राहुल का PM मोदी पर वार, कहा- कोरोना की यह ‘संभली हुई स्थिति’ है तो ‘बिगड़ी स्थिति’ किसे कहेंगे ◾कोविड-19 : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में मृत्यु दर घटकर 1.96 % हुई, कुल 27 प्रतिशत लोग ही संक्रमित◾राजस्थान : CM आवास पर शुरू हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक, गहलोत से मिले पायलट◾राजस्थान की गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत◾रक्षा उत्पादन में घरेलू उद्योगों को पांच वर्षों में चार लाख करोड़ रूपये के दिए जायेंगे आर्डर: राजनाथ◾फेसलेस जांच और अपील से करदाताओं की शिकायतों का बोझ कम होगा, निष्पक्षता बढ़ेगी : सीतारमण ◾PM मोदी ने लांच किया 'ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन ऑनरिंग द ऑनेस्ट', देशवासियों से की आगे बढ़कर कर भुगतान की अपील ◾श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास कोरोना वायरस से संक्रमित◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 66,999 नए केस, मृतकों का आंकड़ा 47 हजार पार◾प्राइवेट ट्रेन चलाने के लिए इन 23 कंपनियों ने दिखाई दिलचस्पी, जानें क्या है रेलवे की डिमांड ◾कोविड 19 - दुनियाभर में वायरस संक्रमण से मौतें 7.47 लाख और मामले 2 करोड़ से अधिक◾प्रवर्तन निदेशालय ने सुशांत सिंह राजपूत के बॉडीगॉर्ड को भेजा समन, पूछताछ के लिए बुलाया ◾दिल्ली - एनसीआर में रातभर हुई मूसलाधार बारिश से जगह - जगह जलभराव, आज दिन भर का अलर्ट◾कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी के निधन पर प्रियंका ने जताया दुख, राहुल बोले : पार्टी ने ‘बब्बर शेर’ खो दिया◾कोरोना वायरस के कारण फीका-फीका रहा ब्रज में कृष्ण जन्मोत्सव, भक्तों ने ऑनलाइन किये दर्शन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इलाहाबाद HC ने उत्तर प्रदेश सूचना आयोग को लगाई फटकार

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने उत्तरप्रदेश सूचना आयोग को सरकारी अधिकारियों को ‘‘अनावश्यक रूप से’’ समन करने के लिए फटकार लगाते हुए कहा है कि इससे सार्वजनिक कामकाज प्रभावित होता है। न्यायमूर्ति मुनिश्वर नाथ भंडारी और न्यायमूर्ति आलोक माथुर की पीठ ने कहा कि आयोग का काम है कि शुरुआती चरण में उपयुक्त नोटिस जारी करे कि क्या अधिकारी की व्यक्तिगत तौर पर उपस्थिति जरूरी है अथवा नहीं। 

उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ पुलिस अधीक्षक संजय सिंह की याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिन्होंने सूचना मुहैया कराए जाने के बावजूद आयोग द्वारा 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाने के आदेश को चुनौती दी थी। वकील शुभम गुप्ता और विनीत जायसवाल की तरफ से दायर याचिका के मुताबिक जुर्माना महज इस आधार पर लगाया गया कि जन सूचना अधिकारी (एसपी) सूचना आयुक्त के समक्ष पेश नहीं हुए। 

मोदी सरकार ने ई-सिगरेट के उत्पादन को किया बैन, रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन का मिलेगा बोनस

वकील अमूल मणि त्रिपाठी ने कहा कि उत्तरप्रदेश सूचना आयोग ने इस बात को संज्ञान में नहीं लिया कि एक अन्य अधिकारी ने उसके समक्ष पेश होकर जानकारी दी कि आवश्यक सूचना दी जा चुकी है और दस्तावेज रिकॉर्ड में है। उच्च न्यायालय ने कहा, ‘‘आयोग द्वारा अधिकारियों को अनावश्यक बुलाने की प्रथा का हम विरोध करते हैं क्योंकि इससे सार्वजनिक कार्यों पर असर पड़ता है। 

उनका काम शुरुआती चरण में एक उपयुक्त नोटिस जारी करना है कि क्या अधिकारी को व्यक्तिगत तौर पर उपस्थित होने की जरूरत है अथवा नहीं। देखा गया है कि नोटिस जारी करते समय कॉलम में न तो चिह्न लगाया जाता है न ही उसे हटाया जाता है।’’ इसने कहा कि आयोग को जुर्माना लगाने से पहले आरटीआई कानून 2005 की धारा 20 का ध्यान रखना चाहिए। 

उच्च न्यायालय ने कहा कि उसने प्रतिवादियों पर जुर्माना लगाया होता लेकिन अधिकारी सेवानिवृत्त हो गए हैं इसलिए ‘‘हम जुर्माना नहीं लगा रहे हैं बल्कि सूचना आयोग को निर्देश दे रहे हैं कि इस आदेश में दिए गए निर्देश और टिप्पणी का पालन करें ताकि भविष्य में इस तरह के आदेश पारित नहीं किए जा सकें। अन्यथा इससे मुकदमों में बढ़ोतरी होगी जिन्हें टाला जा सकता है।’’