BREAKING NEWS

NYT की रिपोर्ट में दावा, भारत ने इजरायल से डिफेंस डील में खरीदा था Pegasus◾बजट सत्र : संसद के दोनों सदनों में 31 जनवरी और 1 फरवरी को नहीं होगा शून्य काल◾अखिलेश को न कोरोना का टीका पसंद, न माथे का टीका : केशव प्रसाद मौर्य◾यूपी चुनाव : गृहमंत्री शाह और BJP अध्यक्ष समेत यह बड़े नेता करेंगे प्रचार, जानिए कौन किस जगह मांगेगा वोट ◾UP विधानसभा चुनाव : शाह-नड्डा के बाद अब PM भरेंगे हुंकार, 31 जनवरी को पहली वर्चुअल रैली◾देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमित 871 लोगों ने तोड़ा दम, नए मामलों में गिरावट◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामलों में जारी है वृद्धि, 36.94 करोड़ हुआ संक्रमितों का आंकड़ा ◾अखिलेश ने बीजेपी पर साधा निशाना - BJP से सावधान रहें, वोट की खातिर उसने कृषि कानून वापस लिए◾कांग्रेस का दावा - हम फिर से बनाएंगे सरकार◾बंगाल चुनाव बाद हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता की मौत मामले में CBI ने सात लोगों को किया गिरफ्तार ◾दिल्ली कोविड : बीते 24 घंटों में आए 4,044 नए मामले, कल के मुकाबले कम हुई मौतें ◾वी.अनंत नागेश्वरन ने संभाला देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद, आम बजट से पहले केंद्र सरकार ने किया ऐलान◾मिसाइल आपूर्ति करने वाले देशों के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हुआ भारत, इस देश को देगा शक्तिशाली ब्रह्मोस ◾मुजफ्फरनगर: साझा प्रेस वार्ता में अखिलेश और जयंत चौधरी ने दिखाई अपनी ताकत, जानिए क्या बोले दोनों नेता◾केस दर्ज होने के बाद श्वेता तिवारी ने मांगी माफी, तोड़-मरोड़कर दिखाया जा रहा बयान, जानें पूरा मामला◾यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व CM प्रतापसिंह राणे ने इलेक्शन नहीं लड़ने का लिया फैसला◾

डीएनए वाले बयान का अखाड़ा परिषद ने किया समर्थन,कहा- एक मुसलमान को देश छोड़ने के लिए कहना गलत है

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत द्वारा हिंदुत्व और लिंचिंग को लेकर दिए गए बयान का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने समर्थन किया है।  एबीएपी के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने संवाददाताओं से कहा, "यह सच है कि देश में रहने वाले हिंदुओं के साथ-साथ मुसलमानों और ईसाइयों का डीएनए समान है। कुछ लोगों ने हिंदू धर्म छोड़ दिया और लालच या दबाव में इस्लाम और ईसाई धर्म अपना लिया। सभी के पूर्वज भारत में रहने वाले मुसलमान और ईसाई पहले हिंदू थे।"

गिरी ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर भागवत की टिप्पणी का भी समर्थन किया। उन्होंने कहा, "मॉब लिंचिंग की घटनाओं को किसी भी तरह से जायज नहीं ठहराया जा सकता। गाय हमारी मां है और हमेशा रहेगी। लेकिन इसके बावजूद गोहत्या के नाम पर मॉब लिंचिंग को जायज नहीं ठहराया जा सकता।" महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि एबीएपी देश में रह रहे ईसाइयों और मुसलमानों को हिंदुत्व की विचारधारा से जोड़ने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने कहा, "भागवत ने सही कहा है कि एक मुसलमान को देश छोड़ने के लिए कहना गलत है। इसलिए अखाड़ा परिषद भी 'सभी' से 'घर लौटने' का अनुरोध करने की कोशिश कर रहा है। मैं मुसलमानों और ईसाइयों से अपने पुराने धर्म में लौटने की अपील करता हूं। सभी को शामिल किया जाना चाहिए और यह देश की एकता और अखंडता के लिए अच्छा होगा।"

रविवार को गाजियाबाद में एक कार्यक्रम में भागवत ने कहा था कि सभी भारतीयों का डीएनए एक जैसा है और जो लोग मुसलमानों को देश छोड़ने के लिए कह रहे हैं, वे खुद को हिंदू नहीं कह सकते। भागवत ने यह भी कहा था कि गाय एक पवित्र जानवर है लेकिन जो लोग लिंचिंग कर रहे हैं वे हिंदुत्व के खिलाफ जा रहे हैं। कानून को बिना किसी पक्षपात के उनके खिलाफ अपना काम करना चाहिए।

राफेल सौदे और पेट्रोल-डीजल को लेकर राहुल ने केंद्र पर साधा क्रिएटिव निशाना, कहा- मोदी सरकार..... है!