BREAKING NEWS

गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾जम्मू-कश्मीर : स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले श्रीनगर में आतंकवादी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद◾सुशांत मामले में बदले संजय राउत के सुर, कहा-अभिनेता के परिवार को मिले न्याय◾कोरोना वैक्सीन बनाने वाले देशों में से एक होगा भारत, सरकार को वितरण रणनीति बनाने की जरूरत : राहुल गांधी◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 64 हजार 533 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 25 लाख के करीब◾दुनियाभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 करोड़ 7 लाख के पार, 7 लाख 52 हजार लोगों की मौत ◾LAC विवाद पर US ने दिया भारत का साथ, चीनी आक्रामकता की आलोचना करने वाला प्रस्ताव अमेरिकी सीनेट में पेश◾राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से, BJP के अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ कांग्रेस लाएगी विश्वास प्रस्ताव◾स्वतंत्रता दिवस : कोरोना महामारी के बीच हर साल से अलग होगा समारोह, दिल्ली में की गई बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था ◾राजस्थान : विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने कहा- सभी विधायकों ने भाजपा का षड्यंत्र विफल करने का लिया संकल्प ◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 5.60 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 11,813 नए केस◾आंध्र प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी, 24 घंटों में 82 लोगों की मौत, 9996 नए मामले◾राजस्थान: विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत बोले- कांग्रेस खुद लाएगी विश्वास प्रस्ताव ◾कोविड-19 : राहुल का PM मोदी पर वार, कहा- कोरोना की यह ‘संभली हुई स्थिति’ है तो ‘बिगड़ी स्थिति’ किसे कहेंगे ◾कोविड-19 : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में मृत्यु दर घटकर 1.96 % हुई, कुल 27 प्रतिशत लोग ही संक्रमित◾राजस्थान : CM आवास पर शुरू हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक, गहलोत से मिले पायलट◾राजस्थान की गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बीएचयू के मुस्लिम प्रोफेसर को मिला एएमयू का समर्थन

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के प्रोफेसर फिरोज खान की संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान विभाग में नियुक्ति के विरोध में छात्रों के प्रदर्शन के बाद प्रोफेसर को एएमयू से समर्थन मिला है। जहां बीएचयू के छात्र फिरोज के मुस्लिम होने के कारण उनकी नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं, वहीं अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के छात्र उनके समर्थन में आगे आए हैं। 

बीएचयू को लिखे एक पत्र में एएमयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष सलमान इम्तियाज ने कहा, "खान के सार्वजनिक बयान से हमें बहुत दुख हुआ। मुस्लिम होने के कारण विरोध होने पर बीएचयू में उन्हें अपमान महसूस होता है।" उन्होंने कहा, "हम उनके और उनकी योग्यता के साथ हैं। अगर उनके साथ कुछ गलत हुआ तो हम शांत नहीं रहेंगे। उनका जीवन, उनकी आजादी और सुरक्षा के बारे में सबसे पहले सोचा जाना चाहिए। उन्हें सौहार्द्रपूर्ण वातावरण में पढ़ाने का मौका दिया जाना चाहिए।" 

पत्र में आगे लिखा गया है, "हम उन छात्रों के असंवेदनशील व्यवहार की निंदा करते हैं, जो मानते हैं कि एक मुस्लिम बीएचयू में संस्कृत पढ़ या पढ़ा नहीं सकता। यह शर्मनाक है। हम आपसे इन छात्रों को भारत की विविधिता, बहुलता, संवैधानिक प्रकृति की शिक्षा देने का आग्रह करते हैं।" छात्रसंघ के उपाध्यक्ष हमजा सूफयान ने कहा, "प्रोफेसर को यूजीसी के नियमों के अनुसार नियुक्त किया गया था और धर्म के आधार पर उनके साथ भेदभाव उस वातावरण की मानसिकता दिखती है, जो इन छात्रों ने दिखाया है।"