BREAKING NEWS

मुश्किलों में फंस सकते है कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, सीबीआई कसेगी शिकंजा ◾आज का राशिफल (17 अगस्त 2022)◾बिहार में मिशन 35 प्लस के लक्ष्य के साथ नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ मैदान में उतरेगी भाजपा◾PM मोदी और मैक्रों ने भू-राजनीतिक चुनौतियों, असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग पर चर्चा की◾अपने अंतिम दिनों में, ठाकरे सरकार ने जल्दबाजी में लिए फैसले : CM शिंदे◾ चीनी पोत पहुंचा श्रीलंका हम्बनटोटा बंदरगाह , भारत ने जताई जासूसी की आशंका◾चीनी ‘जासूसी पोत’ पहुंचा श्रीलंकाई बंदरगाह , बीजिंग बोला-जहाज किसी के सुरक्षा हितों के लिए खतरा नहीं◾दिल्ली में फिर से आया कोरोना, 917 नए मामले आये सामने , तीन की मौत◾कांग्रेस संगठन में बड़ा बदलाव, रसूल वानी बने जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष◾AAP सरकार के पांच महीने पूरे होने पर 5 मंत्रियों ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड◾मुंबई पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, गुजरात की फैक्ट्री में मारा छापा, 1026 करोड़ का नशीला पदार्थ जब्त◾गुजरात दंगों में बिल्कीस बानो दुष्कर्म के दोषी जेल से रिहा, राजनीति का शिकार होने का किया बड़ा दावा◾दिल्ली सरकार ने कोविड संबंधी आंकड़ों के प्रबंधन के लिए बनाई दो टीम, एक सरकारी आदेश में दी जानकारी ◾टारगेट किलिंग पर ओवैसी का फूटा गुस्सा, केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा- पंडितों को सुरक्षा प्रदान करने में विफल रहा◾ Haryana: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बोले- विदेशी निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है हरियाणा◾Mother Dairy hikes Today: मदर डेयर दूध के भी बढ़े दाम, दो रूपये लीटर की हुई बढ़ोतरी, कल से होगा लागू◾खनन से प्रभावित लोगों की भलाई के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है मोदी सरकार, जानिए पूरी जानकारी ◾ट्रंप की संपत्ति से जुड़ी जानकारी छिपा रहा न्याय विभाग, जांच में नुकसान होने का दिया हवाला ◾Rajasthan: गहलोत का सचिन पायलट पर कटाक्ष, कहा- जुमला बन गया है कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान◾जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों की मौत पर राष्ट्रपति मुर्मू ने जताया दुख, घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की ◾

उन्नाव रेप पीड़िता के विरोध के बाद BJP ने सेंगर के करीबी अरुण सिंह का टिकट काटा

उन्नाव जिले के चर्चित मांखी बलात्कार कांड की पीड़िता द्वारा राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को पत्र लिखे जाने के बाद भाजपा ने बृहस्पतिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बदल दिया।

 भाजपा ने अरुण सिंह को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए अपना प्रत्याशी घोषित किया था। लेकिन मांखी बलात्कार कांड की पीड़िता ने अरुण को अपने बलात्कार के जुर्म में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का करीबी साथी करार देते हुए कहा था कि अरुण को उम्मीदवार बनाए जाने से उसकी जान को खतरा और बढ़ जाएगा। 

उसने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर किसी अन्य को भाजपा उम्मीदवार बनाने की मांग की थी, जिसके बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए भाजपा ने अपना प्रत्याशी बदल दिया। भाजपा जिलाध्यक्ष राज किशोर रावत ने यहां जारी एक बयान में कहा ''पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर अरुण सिंह की उम्मीदवारी समाप्त कर दी गयी है। अब दिवंगत पूर्व विधायक अजीत सिंह की पत्नी शकुन सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष पद की प्रत्याशी होंगी।'' 

उन्नाव जिले के मांखी इलाके की रहने वाली इस युवती ने वर्ष 2017 में उन्नाव की बांगरमऊ सीट से भाजपा विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था। दिल्ली की एक अदालत ने दिसंबर 2019 में इस मामले में सेंगर को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। 

पीड़िता ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बृहस्पतिवार को भेजे गए पत्र में उन्नाव जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए भाजपा द्वारा घोषित प्रत्याशी अरुण सिंह को कुलदीप सिंह सेंगर का खास बताते हुए अपने पिता की हत्या और जुलाई 2019 में खुद के साथ रायबरेली में हुए सड़क हादसे की घटना का आरोपी बताया। पीड़िता ने पार्टी नेतृत्व से अरुण के बजाय किसी और को प्रत्याशी बनाने की मांग की थी। 

अरुण सिंह नवाबगंज ब्लॉक के निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख और औरास द्वितीय से जिला पंचायत सदस्य हैं। पीड़िता ने टेलीफोन पर 'भाषा' से कहा था, "भाजपा और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार वैसे तो आरोपियों पर कठोर कार्रवाई की बात करती है, लेकिन मेरे मामले में सरकार मेरे पिता की हत्या और मेरे साथ रायबरेली में घटित घटना में नामजद अभियुक्त को अपना जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्याशी घोषित करती है।"

उसने आरोप लगाते हुए कहा था कि भाजपा सरकार कुलदीप सिंह सेंगर का अब भी साथ दे रही है तथा अगर अरुण सिंह चुनाव जीत गया तो उसकी जान को खतरा और बढ़ जाएगा। पार्टी और सरकार से उसकी मांग है कि अरुण सिंह का टिकट वापस लेकर किसी अन्य को प्रत्याशी घोषित किया जाए। 

पीड़िता ने यह भी कहा था कि उसके चाचा पुलिस हिरासत में हैं और पैरोल की मांग कर रहे हैं, मगर कुलदीप सिंह के प्रभाव की वजह से पैरोल नहीं मिल पा रही है। घर में किसी पुरुष सदस्य के न होने से बहनों की शादी रुकी हुई है। उम्मीदवार बदलने के फैसले से पहले प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पीड़िता के पत्र को लेकर मिर्जापुर में संवाददाताओं से कहा कि उन्हें अभी सूचना मिली है, बाकी जो भी होगा उसपर विचार करके निर्णय लिया जाएगा।