BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 27 मई 2022)◾त्यागराज स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी संजीव खिरवार का लद्दाख ट्रांसफर, पत्नी का अरुणाचल तबादला◾PM मोदी के नेतृत्व और सशस्त्र बलों के योगदान ने भारत के प्रति दुनिया के नजरिये को बदला : राजनाथ◾PM मोदी ने तमिल भाषा का किया जिक्र , स्टालिन ने ‘सच्चे संघवाद’ को लेकर साधा निशाना◾भारत, यूएई ने जलवायु कार्रवाई के लिए समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर ◾J&K : कश्मीर में टीवी कलाकार की हत्या में शमिल दो आतंकवादी सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में घिरे◾J&K : कुपवाड़ा में सेना ने घुसपैठ का प्रयास किया विफल , तीन आतंकवादी मारे गए, पोर्टर की भी मौत◾PM मोदी ने ‘परिवारवाद’ के कटाक्ष से राव को घेरा, तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने ‘भाषणबाजी’ का लगाया आरोप◾टीएमसी का दावा, दिलीप घोष को बंगाल से बाहर किया जा रहा है, भाजपा का पलटवार◾ मूडीज ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाया, आसमान छू रही महंगाई पर जताई चिंता◾ Tamil Nadu: चेन्नई पहुंचे PM मोदी ,हुआ जोरदार स्वागत, रोड शो में उमड़ी हजारों की भीड़◾तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने एच डी देवेगौड़ा से की मुलाकात, जानें- किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾J&K News: सुंजवां हमले में शामिल एक आतंकवादी को NIA ने किया गिरफ्तार, जैश ए मोहम्मद से जुड़े थे तार◾Monkeypox Virus: कनाडा में मंकीपॉक्स ने दी दस्तक! यहां देखें- कितने मामले सामने आए◾यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाने के बाद फेंके थे पत्थर, लेकिन अब पुलिस के सामने पकड़े कान◾सुप्रीम कोर्ट ने वेश्यावृत्ति को माना प्रोफेशन, पुलिस को दी हिदायत... जारी हुए सख्त निर्देश, जानें क्या कहा ◾ गवर्नर की जगह अब CM होंगी स्टेट यूनिवर्सिटी की चांसलर, ममता बनर्जी कैबिनेट की बैठक में हुआ फैसला◾नवजोत सिंह सिद्धू का पटियाला जेल में बज गया बैंड, मिला क्लर्क का काम, जानें कितना होगा वेतन ◾ Gyanvapi Masjid: यहां जानें 2 घंटे चली वाराणसी जिला कोर्ट की बहस में क्या हुआ, अब सोमवार तक टली सुनवाई◾पाकिस्तान को 'मॉडर्न देश' बनाना चाहते हैं जरदारी! भारत और अन्य देशों से जारी संघर्षों पर कही यह बात ◾

BJP की बड़ी सेंधमारी, मुलायम के साढू प्रमोद गुप्ता ने थामा कमल, बोले- अखिलेश ने नेताजी को बना रखा बंधक

समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साढ़ू और औरैया जिले की बिधूना क्षेत्र से विधायक रहे प्रमोद कुमार गुप्ता एलएस ने कहा कि सपा अपनी मूल विचार धारा से भटक गयी है। पार्टी में अब नेता जी (मुलायम सिंह यादव) और शिवपाल सिंह यादव का कोई सम्मान नहीं बचा है, ऐसी स्थिति में वह अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं। मुलायम की दूसरी पत्नी साधना यादव के बहनोई पूर्व विधायक प्रमोद कुमार गुप्ता एलएस प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के पदाधिकारी थे, लेकिन अब उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिया है।

अपर्णा यादव ने कल थामा था भाजपा का दामन 

बुधवार को मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। प्रमोद गुप्ता एलएस ने पत्रकारों से कल कहा था कि वह लखनऊ में भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा में मुलायम और अखिलेश का कोई सम्मान नहीं है जिससे आहत होकर उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी अब अपनी मूल विचारधारा से भटक गयी है और उसमें जुआं सट्टा खेलने वालों व जमीनों पर कब्जा करने वालों को शामिल किया जा रहा है।

पूर्व विधायक ने सपा पर लगाए मुलायम सिंह यादव को बंधक बनाने का आरोप 

पूर्व विधायक ने आरोप लगाया था कि सपा में मुलायम सिंह यादव व शिवपाल सिंह यादव को प्रताड़ित किया जा रहा है। मुलायम सिंह यादव को विक्रमादित्य मार्ग वाले आवास पर बंधक बना लिया गया है और उन्हें किसी से मिलने भी नहीं दिया जा रहा है। नेता जी के जन्मदिन वाले दिन उन्हें कुछ भी बोलने नहीं दिया गया और माइक छीन लिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि आज पार्टी में गैर समाजवादियों को तरजीह दी जा रही है और पुराने समाजवादियों की घोर उपेक्षा की जा रही है। ऐसे लोगों को सपा में शामिल किया जा रहा है जो अभी तक सपा और नेता जी को गालियां देते थे। 

जिस दल में नेता जी का अपमान होने लगा हो वहां रहने का कोई मतलब नहीं :प्रमोद गुप्ता 

उन्होंने कल कहा था कि जिस दल में नेता जी का ही अपमान होने लगा हो उस दल में रहने का अब कोई मतलब नहीं रह गया है, इसलिए अब वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं। क्षेत्र में प्रमोद गुप्ता की पहचान कट्टर सपाई और मुलायम सिंह के अत्यंत करीबी भी मानी जाती रही है मगर 2007 में हुए नगर पंचायत बिधूना के चुनाव में पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया जिससे नाराज होकर उन्होंने निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर पार्टी को अपने जमीनी जनाधार का आइना भी दिखा दिया। बाद में सपा ने 2012 में हुए विधानसभा के चुनाव में बिधूना क्षेत्र से उन्हें टिकट देकर मैदान में उतारा। 

अखिलेश यादव से नहीं रहे अच्छे संबंध

पार्टी के एक नेता ने बताया था कि बिधूना क्षेत्र से सपा विधायक होने के बाद भी रिश्ते में भतीजे और प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कभी भी उनके संबंध अच्छे नहीं रहे। अखिलेश से जुड़े क्षेत्र के कार्यकर्ता कभी उन्हें सम्मान देना तो दूर विधायक तक मानने को तैयार नहीं रहे। उल्टे पार्टी मीटिंगों में कई बार उन्हें अपमानित करने का भी प्रयास किया यही कारण था कि एलएस का जुड़ाव शिवपाल सिंह यादव से ज्यादा रहा।

SP की उपेक्षा से त्रस्त होकर प्रसपा में हुए थे शामिल 

उन्होंने बताया कि पार्टी की उपेक्षा से त्रस्त होकर वह शिवपाल की नयी पार्टी प्रसपा में चले गए थे और अभी तक उन्हीं के साथ थे। पिछले दिनों अखिलेश और शिवपाल के मेल पर एलएस ने भी बिधूना से टिकट की उम्मीद पाल रखी थी जिस पर तुषारापात होते देख उन्होंने भाजपा में जाने का फैसला लिया है। 

सूत्रों के अनुसार प्रमोद गुप्ता एलएस जिनकी पहचान औरैया, इटावा, कन्नौज, कानपुर देहात आदि आसपास के जनपदों में एक बड़े वैश्य नेता के रूप में है। उनके भाजपा में शामिल होने से जहां सपा को नुकसान होगा वहीं भाजपा को स्पष्ट तौर लाभ मिलेगा। उनके साथ गैर वैश्य समाज के कार्यकर्ताओं की भी एक बड़ टीम है, जिनका लाभ भी भाजपा को मिलेगा।