उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने बुधवार को यहां कहा कि भारतीय जनता पार्टी(भजपा) का राष्ट्रवाद एक चुनावी दांव है, और इसी तरह सपा-बसपा का गठबंधन भी चुनावी दांव है और कांग्रेस भी प्रियंका गांधी वाड्रा को राजनीति में लाकर चुनावी दांव लगा रही है। उन्होंने कहा कि अब किसका दांव सटीक बैठता है, इसका पता 23 मई को चलेगा। राजभर ने कहा, ‘गरीबों को राष्ट्रवाद समझ नहीं आता है। जिस गरीब के पास दो वक्त की रोटी नहीं है, वह राष्ट्रवाद क्या जाने।

जब पेट भरा होता है, तभी राष्ट्रवाद दिखाई देता है। हम राजग के साथ हैं और उम्मीद है कि हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी।’ उन्होंने कहा, ‘सपा-बसपा और कांग्रेस सहित दूसरी पार्टियां उन्हें अपने साथ बुला रही हैं, लेकिन मंगलवार को उत्तर प्रदेश के भाजपा प्रभारी से उनकी मुलाकात हो चुकी है। दो-तीन दिनों के भीतर लोकसभा टिकटों का बंटवारा हो जाएगा।’  उन्होंने कहा, ‘ऐसे नेता जो जनता के बीच नहीं रहते, वही टिकट न मिलने पर घड़ियाली आंसू बहाते हैं। जो जनता के बीच रहते हैं, उन्हें जनता जिता ही देती है।’ कांग्रेस की प्रदेश में संभावना पर राजभर ने कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा के आने से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह है, लेकिन उन्हें लड़ाई में आने के लिए अभी और मेहनत करनी होगी।