BREAKING NEWS

यूपी: गरीब रिक्शा चालक को आयकर विभाग ने थमाया 3 करोड़ रुपये का नोटिस, धोखाधड़ी ने उड़ाए होश◾PM मोदी ने किया नौ मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन, कहा- आज का दिन UP के लिए लाया आरोग्य की डबल डोज ◾पाकिस्तान से टी20 मैच हरने के बाद पंजाब में हुई 10 कश्मीरी छात्रों की पिटाई ◾यूपी के दौरे पर CM केजरीवाल, एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने किया भव्य स्वागत, सरयू आरती में होंगे शामिल◾UP को PM मोदी देंगे मेडिकल कॉलेज की सौगात, बनारस से शुरू करेंगे 'आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत' योजना◾देश में कोरोना महामारी से पिछले 24 घंटे में 443 मरीजों की मौत,14 हजार से अधिक केस की हुई पुष्टि ◾कश्मीरी पंडितो के संगठनों ने की शाह से मुलाकात, सुरक्षा और बीमा कवरेज की मांग की ◾UP दौरे पर पीएम के आगमन का CM योगी ने किया स्वागत, मोदी विभिन्न विकास परियोजनाओं की करेंगे शुरुआत ◾विश्वभर में कोरोना के मामले 24.36 करोड़ से ज्यादा, अब तक 6.80 अरब से ज्यादा लोगों का हुआ टीकाकरण ◾IND vs PAK ( T-20 World Cup) : भारत की ऐतिहासिक हार , पाकिस्तान ने रोका विजय अभियान◾देश के अधिकतर किसान यूनियन कृषि कानूनों के समर्थन में खड़े हैं, कुछ ही लोगों को मतभेद: तोमर◾ममता का BJP पर आरोप, बोलीं- त्रिपुरा में रैलियां निकालने की कोशिश करने वाले विरोधियों के साथ होती है मारपीट ◾AAP का कांग्रेस का हमला, कहा- पंजाब सरकार ने किसानों को वोट बैंक के तौर पर इस्तेमाल किया◾अखिलेश का भाजपा पर जोरदार हमला, बोले- सरकार ने किसानों को पूरी तरह हाशिये पर रख दिया है◾मप्र में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, बड़वाह से विधायक ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की ◾उपचुनाव से पहले RJD- कांग्रेस में टूट! जानें लालू ने क्यों कहा ताकि कांग्रेस वहां से अपनी जमानत भी गंवा सके?◾एमपी: दिग्विजय ने साधा निशाना, बोले- उपचुनाव में मतदाता मोदी और शिवराज को सबक सिखा सकते हैं◾आर्यन ड्रग्स केस को लेकर NCB पर हमलावर शिवसेना-NCP, राउत ने शेयर किया VIDEO, मलिक बोले- 'सत्यमेव जयते'◾जम्मू-कश्मीर में बोले अमित शाह- विकास में युवा शामिल होंगे, तो आतंकवादियों के नापाक मंसूबे विफल हो जायेंगे◾संजय राउत ने 100 करोड़ टीकाकरण के दावे को ‘झूठा’ करार दिया, पूछा- ‘‘किसने इसकी गिनती की है?’’◾

राम जन्मभूमि घोटाले पर बोले चंपत राय- सारे आरोप भ्रामक, पारदर्शिता के साथ खरीदी गई जमीन

राम मंदिर न्यास द्वारा यहां एक भूभाग के लिए ऊंची कीमत देने के आरोपों के बीच न्यास के महासचिव चंपत राय ने मंगलवार को कहा कि जितना क्षेत्रफल है उसकी तुलना में इस भूमि का मूल्य 1423 रुपये प्रति वर्ग फीट है जो बाजार मूल्य से बहुत कम है। मालिकाना हक का निर्णय करना बहुत जरूरी था जो कराया गया। हमने जमीन का एग्रीमेंट करा लिया। अभी बैनामा कराया जाना बाकी है।

राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव ने कहा कि सभी लेनदेन बैंक टू बैंक हुए हैं और टैक्स में कोई चोरी नहीं की गई है। दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोप लगाने वालों ने आरोप से पहले ट्रस्ट के पदाधिकारियों से तथ्यों की जानकारी नहीं ली। उन्होंने समाज को भ्रमित किया है। भ्रमित न हों और मंदिर समय सीमा में पूरा करने में सहयोग करें।

वहीं इससे पहले उन्होंने सोमवार को कहा कि संगठन पूरी पारदर्शिता बरतने पर प्रतिबद्ध है। वहीं कुछ स्थानीय प्रॉपर्टी डीलरों का कहना है कि न्यास को अच्छी कीमत पर जमीन मिल गई। उन्होंने दावा किया कि मार्च में श्रीराम जन्मभूमि क्षेत्र न्यास द्वारा जो 12,000 वर्ग मीटर जमीन खरीदी गई थी, बाजार में उसकी कीमत उससे तीन गुना ज्यादा है जो न्यास ने चुकाई।

रविवार को अलग-अलग प्रेस वार्ताओं में आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और समाजवादी पार्टी के नेता पवन पांडेय ने कहा था कि मंदिर न्यास ने जमीन 18 करोड़ रुपये में उन लोगों से खरीदी थी जिन्होंने इसे केवल दो मिनट पहले दो करोड़ रुपये में खरीदा था। अन्य विपक्षी दलों ने भी न्यास पर “भूमि घोटाला” करने का आरोप लगाया और सीबीआई तथा ईडी से जांच कराने की मांग की।

सूत्रों ने कहा कि न्यास ने शनिवार रात को केंद्र सरकार को स्पष्टीकरण भेजा और कहा कि उसने वर्तमान दर से अधिक में जमीन का सौदा नहीं किया। चंपत राय ने सोमवार को कहा कि राम मंदिर परिसर को विस्तार देने के लिए जिन लोगों की संपत्ति खरीदी गई थी उनके पुनर्वास के लिए उक्त जमीन खरीदी गई। उन्होंने कहा, “हम जमीन खरीदने में पूरी पारदर्शिता बरत रहे हैं।” राय ने कहा कि पैसा जमीन बेचने वालों के बैंक खाते में जा रहा है।

कुछ प्रॉपर्टी डीलरों के मुताबिक न्यास ने जो जमीन 18.5 करोड़ रुपये में खरीदी उसकी कीमत पांच हजार रुपये प्रति वर्ग फुट है। स्थानीय डीलर सौरभ विक्रम सिंह के अनुसार जमीन 60 करोड़ रुपये से अधिक की है। प्रशासन से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शुरुआती समझौता 2017 में हुआ था और उस समय उच्चतम न्यायालय का फैसला नहीं आया था और न ही अयोध्या में जमीन के दाम आसमान छू रहे थे।

राम जन्मभूमि घोटाले के आरोपों पर बोले दिनेश शर्मा- बदनाम करने के लिए कोई मौका नही छोड़ता विपक्ष