BREAKING NEWS

Mother Dairy hikes Today: मदर डेयर दूध के भी बढ़े दाम, दो रूपये लीटर की हुई बढ़ोतरी, कल से होगा लागू◾खनन से प्रभावित लोगों की भलाई के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है मोदी सरकार, जानिए पूरी जानकारी ◾ट्रंप की संपत्ति से जुड़ी जानकारी छिपा रहा न्याय विभाग, जांच में नुकसान होने का दिया हवाला ◾Rajasthan: गहलोत का सचिन पायलट पर कटाक्ष, कहा- जुमला बन गया है कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान◾जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों की मौत पर राष्ट्रपति मुर्मू ने जताया दुख, घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की ◾Ratan Tata Invests : वरिष्ठ नागरिकों के सहयोग के लिए स्टार्टअप गुडफेलोज में किया निवेश◾कश्मीरी पंडित की हत्या पर उमर अब्दुल्ला सहित कई राजनेताओं ने जताया दुख, जानिए क्या कहा? ◾Amul Milk Price Hiked: देश में महंगाई का कहर! अमूल मिल्क के बढ़े दाम, इतने लीटर महंगा हुआ दूध◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने की मुलाकात ◾नीतीश को घेरने के लिए बीजेपी आलाकमान ने बुलाई बैठक, बिहार इकाई के प्रमुख नेता होंगे शामिल ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾मुम्बई में बारिश को लेकर मौसम विभाग का बड़ा अलर्ट, 24 घंटे के अंदर होगी झमाझम बारिश ◾Bihar Politics : नीतीश मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार , तेज प्रताप समेत RJD से 16 मंत्री बने ◾गहलोत के अर्धसैनिक बलों के ट्रकों में 'अवैध धन' ले जानें वाले बयान पर बीजेपी का पलटवार, जानिए मामला◾NSE Phone Tapping Case : मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त की जमानत अर्जी पर ED को नोटिस जारी◾J-K News: जम्मू कश्मीर के पहलगाम में दर्दनाक हादसा, 39 जवानों की बस खाई में गिरी, 6 की मौत, जानें स्थिति ◾जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत, एक घायल◾बिहार : नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल के 31 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली, कांग्रेस नेता भी शामिल ◾कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने उठाई 3 दशकों से जेल में बंद सिख कैदियों की रिहाई की मांग ◾

भाजपा शासित 11 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने रामलला का दर्शन-पूजन किया

बाबा विश्वनाथ धाम का दर्शन लाभ करने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित 11 राज्यों के मुख्यमंत्री बुधवार को आदिदेव शिव के प्रिय मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम के दरबार में माथा टेकने अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के साथ अयोध्या पहुंचे और श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन-पूजन किया। श्री नड्डा और मुख्यमंत्रियों ने परिवार के साथ सरयू सलिला की महाआरती उतारी और प्रसिद्ध हनुमानगढ़ मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना करने के बाद श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का दर्शन-पूजन किया। 

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आदि मौजूद थे

पूजा अर्चना के इस पुनीत कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देव, गोवा के मुख्यमंत्री डा. प्रमोद सावंत, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, हिमांचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, कर्नाटक के मुख्यमंत्री वासव राज बोम्बई, असम के मुख्यमंत्री हेमानंद विश्वा शर्मा, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द, भाई पटेल, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन विशेन सिंह के अलावा उपमुख्यमंत्री गोवा चन्द्रकांत कावेलकर, उपमुख्यमंत्री बिहार रेनू देवी एवं तारकिशोर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री नागालैंड यथंगो पट्टन, उपमुख्यमंत्री त्रिपुरा जिष्णु देव शर्मा, उपमुख्यमंत्री अरुणाचल प्रदेश चोनामीन, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशवप्रसाद मौर्य एवं डा। दिनेश शर्मा सपत्नी मौजूद थे।

मुख्यमंत्रियों ने श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का भव्य मंदिर निर्माण को बारीकी से समझा और जाना। सभी मुख्यमंत्रियों को राम मंदिर निर्माण भी दिखाया गया। मंदिर निर्माण में लगे एलएंडटी के इंजीनियर ने उन्हें प्रगति से अवगत भी कराया। इस अवसर पर श्रीरामजन्मभूमि क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चम्पत राय ने कहा कि आज जितने मुख्यमंत्री यहां आये हुए हैं यह सब श्रीरामजन्मभूमि मंदिर आंदोलन के जुड़ हुए लोग हैं। भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में आ करके सभी लोगों ने एक स्वर से कहा कि आज मैं धन्य हो गया हूं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिव्य मंदिर का निर्माण हो, इसीलिए हम लोग इस कार्य को देखने आये हैं। उन्होंने कहा कि एक समय था जब हम लोगों ने मंदिर निर्माण के लिये मांग कर रहे थे, आज वह समय आ गया है।

जगह-जगह पर बैरीकेडिंग, पुलिस बल की तैनाती की 

 इन मुख्यमंत्रियों के आगमन के पूर्व जिला प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के कड़ प्रबंध किये थे। काशी से भाजपा शासित ज्ञारह राज्यों के मुख्यमंत्री आज करीब ज्ञारह बजे श्रीराम एयरपोर्ट पर पहुंचे। एयरपोर्ट से श्रीरामजन्मभूमि तक को सजाया गया था। मुख्य सचिव आर.के। तिवारी ने अयोध्या में डेरा डाले हुए थे। इनके आगमन को ले करके पूरे अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया था और हल्के वाहन को भी अयोध्या में प्रवेश आज नहीं दिया जा रहा था। जगह-जगह पर बैरीकेडिंग और पुलिस बल की तैनाती की गयी थी। मुख्य सचिव आर.के। तिवारी ने मंडलायुक्त एम.पी। अग्रवाल, आई.जी। कवीन्द, सिंह, जिलाधिकारी नितीश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश पांडेय के साथ एयरपोर्ट, रामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला, प्रसिद्ध हनुमानगढ़ मंदिर, सरयू घाट पर विशेषकर सुरक्षा व्यवस्था बहुत कड़ थी।

मुख्यमंत्रियों व उनके परिवार के लिये पंचशील होटल में रोकाया गया था। मुख्यमंत्रियों के आगमन को ले करके दो घंटे पूर्व अयोध्या में बाहरी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया। गौरतलब है कि नौ नवम्बर 2019 को सुप्रीम कोर्ट से राम मंदिर के हक में फैसला आते ही अयोध्या के गौरव की पुर्नस्थापना का कार्य भी प्रारंभ हो गया। पांच अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द, मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया तो भव्य अयोध्या के निर्माण की भी नींव रख दी गयी। मंदिर निर्माण शुरू होते ही देश-दुनिया के लोग आस्था अर्पित करने अयोध्या पहुंचने लगे। डेढ़ साल के भीतर रामलला के दरबार में न्यायिक, राजनयिक, प्रशासनिक सहित धर्मक्षेत्र की विशिष्ट हस्तियां माथा टेकने पहुंच चुकी हैं।

योगी ने अपने हाथों से अस्थायी मंदिर में विराजित किया

पिछली 29 अगस्त को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी सपरिवार रामलला के दरबार में हाजिरी लगाई थी। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत राज्यपाल आनंदी बेन पटेल परमसत्ता के दरबार में आस्था अर्पित कर चुके हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करीब पच्चीस बार से ज्यादा रामलला का दर्शन कर चुके हैं। टेंट में विराजमान रामलला को स्वयं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने हाथों से अस्थायी मंदिर में विराजित किया था।