BREAKING NEWS

केजरीवाल सरकार ने दिए निर्देश, कहा- बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को 24 घंटे के अंदर अस्पताल से दें छुट्टी◾एकता कपूर की मुश्किलें बढ़ी, अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान के आरोप में FIR दर्ज◾बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अमित शाह कल करेंगे ऑनलाइन वर्चुअल रैली, सभी तैयारियां पूरी हुई ◾केजरीवाल ने दी निजी अस्पतालों को चेतावनी, कहा- राजनितिक पार्टियों के दम पर मरीजों के इलाज से न करें आनाकानी◾ED ऑफिस तक पहुंचा कोरोना, 5 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद 48 घंटो के लिए मुख्यालय सील ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी◾राहुल गांधी का केंद्र पर वार- लोगों को नकद सहयोग नहीं देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है सरकार◾वंदे भारत मिशन -3 के तहत अब तक 22000 टिकटों की हो चुकी है बुकिंग◾अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से होगी शुरू,15 दिनों तक जारी रहेगी यात्रा, भक्तों के लिए होगा आरती का लाइव टेलिकास्ट◾World Corona : वैश्विक महामारी से दुनियाभर में हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 67 लाख के पार◾CM अमरिंदर सिंह ने केंद्र पर साधा निशाना,कहा- कोरोना संकट के बीच राज्यों को मदद देने में विफल रही है सरकार◾UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा दस हजार के करीब ◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 36 हजार के पार, अब तक 6642 लोगों की मौत ◾प्रियंका गांधी ने लॉकडाउन के दौरान यूपी में 44,000 से अधिक प्रवासियों को घर पहुंचने में मदद की ◾वैश्विक महामारी से निपटने में महत्त्वपूर्ण हो सकती है ‘आयुष्मान भारत’ योजना: डब्ल्यूएचओ ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1330 नए मामले आए सामने , मौत का आंकड़ा 708 पहुंचा ◾हथिनी की मौत पर विवादित बयान देने पर केरल पुलिस ने मेनका गांधी के खिलाफ दर्ज की FIR◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चिन्मयानंद से छीना जाएगा उनका साधु पद, जानें पूरा मामला

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता चिन्मयानंद, जिन्हें शुक्रवार को लॉ की छात्रा का यौन उत्पीड़न और धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया, उन्हें अब अपने समकक्षों द्वारा खड़ी की गई परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (एबीएपी), संतों के सर्वोच्च निर्णय लेने वाले संगठन ने चिन्मयानंद को समुदाय से बाहर करने का निर्णय लिया है। 

एबीएपी के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने परिषद की बैठक के बाद कहा कि चिन्मयानंद को संत समुदाय से बाहर करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा, "अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की औपचारिक बैठक 10 अक्टूबर को हरिद्वार में होगी और इस फैसले से महागठबंधन की मंजूरी मिल जाएगी।" 

महंत नरेंद्र गिरि ने आगे कहा, "चिन्मयानंद ने अपने कुकर्मों को स्वीकार कर लिया है और संत समुदाय के लिए इससे ज्यादा शर्मनाक कुछ नहीं हो सकता। वह तब तक निर्वासित रहेंगे, जब तक कि वह अदालत से छूट नहीं जाते।" चिन्मयानंद वर्तमान में महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर हैं। 

73 वर्षीय धार्मिक-सह-राजनेता, अब अपने इस पद को भी खो देंगे, अगर वह संत समुदाय से बाहर हो जाते हैं तो वह अपने नाम के आगे 'संत' या 'स्वामी' नहीं लगा पाएंगे। चिन्मयानंद अयोध्या आंदोलन में भी प्रमुख खिलाड़ी रहे हैं। चिन्मयानंद ने महंत अवैद्यनाथ (उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गुरु) के साथ मिलकर 'राम मंदिर मुक्ति यज्ञ समिति' का गठन किया। बाद में आंदोलन में रामविलास वेदांती और रामचंद्र परमहंस जैसे अन्य संत भी शामिल हो गए। 

वह 19 जनवरी, 1986 को राम जन्मभूमि आंदोलन संघर्ष समिति के संयोजक भी बने। कथित यौन उत्पीड़न के बारे में सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो के साथ शुरू हुए नाटक के एक महीने बाद चिन्मयानंद को शुक्रवार को शाहजहांपुर में उनके मुमुक्षु आश्रम से गिरफ्तार किया गया था और 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। 

साल 2011 में चिन्मयानंद पर उनके आश्रम में रह रही एक महिला ने भी उनपर दुष्कर्म का आरोप लगाया था, जिसका दावा था कि उन्होंने कई अवसरों पर उसका यौन शोषण किया था। तब इस सिलसिले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी, लेकिन चिन्मयानंद के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी।