BREAKING NEWS

विपक्ष ने सरकार को कोरोना के मुद्दे पर घेरा, बूस्टर खुराक पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की◾शीतकालीन सत्रः राज्यसभा से निलंबित सदस्यों के मुद्दे पर सरकार-विपक्ष में हो रही वार्ता◾भारत के पहले Omicron संक्रमित मरीज की ये बात आई सामने, 27 नवंबर को जा चुका है दुबई◾सुरजेवाला का ममता पर पलटवार, पूछा- आपकी प्राथमिकता प्रधानमंत्री के खिलाफ लड़ना है या कांग्रेस के खिलाफ ?◾पंजाबः चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा-हमारी ‘चंगी सरकार’ वादों पर खरी उतरी◾कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने भारत में भी दी दस्तक, कर्नाटक में मिले हैं दो मामले◾काले अंग्रेज वाले बयान पर केजरीवाल का चन्नी पर पलटवार, सांवले रंग का व्यक्ति झूठे वादे नहीं करता... ◾केजरीवाल को प्यार करते हैं पंजाब के लोग, चड्ढा बोले- सही समय पर होगी पार्टी के CM पद के चेहरे की घोषणा ◾'किस चश्मे से यूपी में दिखता है बढ़ता अपराध' अखिलेश के वार पर अमित शाह का पलटवार◾ममता के बाद प्रशांत किशोर का कांग्रेस पर हमला, कहा- विपक्ष का नेतृत्व कांग्रेस का दैवीय अधिकार नहीं...◾कांग्रेस के बिना बीजेपी के खिलाफ गठबंधन संभव नहीं : दिग्विजय सिंह◾SC की फटकार के बाद हरकत में आई दिल्ली सरकार, कल से अगले आदेश तक बंद रहेंगे स्कूल ◾सांसदों के निलंबन को लेकर राहुल गांधी का ट्वीट, 'जो सरकार डरे, वो अन्याय ही करे'◾हार के डर से BJP खेल रही 'धार्मिक कार्ड', मायावती बोली- पार्टी के आखिरी हथकंडे से जनता रहे सावधान ◾विपक्ष के रवैये पर भड़के सभापति नायडू, कहा-1962 से हो रहा निलंबन, पहली बार नहीं हुआ ऐसा ◾प्रदूषण को लेकर SC की AAP सरकार को फटकार, जब बड़े घर पर हैं तो बच्चों के लिए क्यों खोले स्कूल? ◾शीतकालीन सत्र के चौथे दिन भी जारी रहा विपक्ष का प्रदर्शन, सांसद बोले- निलंबन वापसी तक देते रहेंगे धरना ◾Petrol-Diesel Price : दिल्ली में आज से नई कीमत लागू, जानिए आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम◾विश्व में ओमीक्रॉन के बढ़ते प्रकोप के बीच SII ने कोविशील्ड की बूस्टर डोज के लिए DCGI से मांगी मंजूरी ◾UPTET पेपर लीक: वरुण गांधी ने किया योगी सरकार पर कटाक्ष, पूछा- कब तक सब्र करे भारत का युवा... ◾

दो समुदायों के बीच पथराव में युवक की मौत, सीएम योगी ने दिये रासुका के तहत कार्रवाई के निर्देश

कानपुर जिले के चकेरी क्षेत्र स्थित वाजिदपुर में दो समुदायों के बीच हुये संघर्ष के दौरान पथराव में एक युवक की मौत हो गयी और कई अन्य घायल हो गये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार शाम हुई इस घटना में शामिल व्यक्तियों को तत्काल गिरफ्तार कर उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में एक पुलिस चौकी प्रभारी और एक सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया गया है। 

पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) राज कुमार अग्रवाल ने सोमवार को बताया कि वाजिदपुर इलाके में रविवार शाम पिंटू निषाद (25) और संदीप अपने घर से कहीं जा रहे थे, उनका पैर सड़क पर पड़े पानी के एक पाउच पर पड़ गया जिससे पाउच फट गया और उससे निकले पानी की छींटे सड़क के किनारे खड़े कुछ लोगों पर पड़ गयीं। इसी बात को लेकर विवाद हो गया। देखते ही देखते इसने दो समुदायों के बीच संघर्ष का रूप ले लिया। इस दौरान दोनों तरफ से पथराव किया गया। 

दो समुदायों के बीच संघर्ष की खबर मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। पथराव में पिंटू निषाद और कई अन्य घायल हो गये। सभी घायलों को लाला लाजपत राय अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डाक्टरों ने पिंटू को मृत घोषित कर दिया। 

अग्रवाल ने बताया कि इस मामले में कुल 11 नामजद तथा कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। नामजद अभियुक्तों में से मोहसिन, सरफराज आलम, मेराज तथा अंजुम नामक एक महिला को गिरफ्तार किया गया है। 

कानपुर की बच्ची के परिवार के लिए सीएम योगी ने की मुआवजे की घोषणा, शव के अंग थे गायब

अग्रवाल ने बताया कि इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में जाजमऊ पुलिस चौकी प्रभारी तथा एक कॉन्स्टेबल को लाइन हाजिर कर दिया गया है। आरोप है कि वारदात के दौरान पुलिस रिस्पांस वाहन पर तैनात इन पुलिसकर्मियों ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई और महज तमाशबीन बने रहे। इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की गई है। 

उन्होंने बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक (कैंट) सत्यजीत गुप्ता को पूरे मामले की जांच करके रिपोर्ट देने को कहा गया है। 

अग्रवाल ने बताया कि इस वारदात से नाराज परिजन तथा स्थानीय लोगों ने वाजिदपुर में शव रखकर प्रदर्शन किया और मंडल आयुक्त राजशेखर से अवैध रूप से कब्जा की गई कालोनियों को खाली कराने की मांग की। परिजन का आरोप है कि इन कॉलोनियों में अक्सर अपराधी तत्व शरण लेते हैं। मंडलायुक्त ने इस मांग को स्वीकार करते हुए अपर नगर मजिस्ट्रेट की अगुवाई में तीन सदस्यीय समिति गठित की है। 

अग्रवाल ने बताया कि वारदात के सिलसिले में अभी तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इलाके में पीएसी और पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी इलाके में गश्त कर रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार शाम हुई इस घटना में शामिल व्यक्तियों को तत्काल गिरफ्तार कर उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई के आदेश दिए हैं। 

मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किये गये एक ट्वीट में कहा गया है, ''मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री राहत कोष से पांच लाख रूपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है तथा घटना में शामिल व्यक्तियों को तत्काल गिरफतार कर उनके विरूध्द राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया है।'' 

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को किये गये एक ट्वीट में कहा कि सरकार इस प्रकरण की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर अपराधियों को अति शीघ्र सजा दिलाएगी।