BREAKING NEWS

विश्व में कोरोना मरीजों का बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के पार◾महाराष्ट्र में लॉकडाउन बढ़ाए जाने के बाद शरद पवार ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात ◾दिल्ली में कोविड-19 के 1163 नए मामले की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 18 हजार को पार◾देशभर में 30 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, 8 जून से रेस्टोरेंट, मॉल और धार्मिक स्थल खोलने की मिली अनुमति ◾लॉकडाउन, अनुच्छेद 370 खत्म करना, राम मंदिर ट्रस्ट बड़ी उपलब्धियों में शामिल : गृह मंत्रालय ◾हिन्दुस्तान में बहुत सारे लोग कष्ट में हैं और भाजपा सरकार जश्न मना रही है : प्रियंका गांधी वाड्रा ◾लद्दाख सीमा तनाव पर रक्षामंत्री बोले- चीन से डिप्लोमैटिक और मिलिट्री लेवल पर चल रही है बातचीत ◾लॉकडाउन 5.0 लागू करने पर पीएमओ में महामंथन, गृहमंत्री अमित शाह ने की पीएम मोदी से मुलाकात◾कोरोना के बढ़ते केसों से घबराएं नहीं, महामारी से चार कदम आगे है आपकी सरकार : CM केजरीवाल◾मोदी सरकार 2.0 की पहली वर्षगांठ पर कांग्रेस ने कसा तंज, ‘बेबस लोग, बेरहम सरकार’ का दिया नारा ◾मोदी जी की इच्छा शक्ति की वजह से सरकार ने साहसिक लड़ाई लड़ी एवं समय पर निर्णय लिये : नड्डा ◾कोविड-19 पर पीएम मोदी का आह्वान - 'लड़ाई लंबी है लेकिन हम विजय पथ पर चल पड़े हैं'◾दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर कांग्रेस, भाजपा के निशाने पर केजरीवाल सरकार◾राम मंदिर , सीएए, तीन तलाक, धारा 370 जैसे मुद्दों का हल दूसरे कार्यकाल की प्रमुख उपलब्धियां : PM मोदी ◾बीस लाख करोड़ रूपये का आर्थिक पैकेज ‘आत्मनिर्भर भारत’ की दिशा में बड़ा कदम : PM मोदी◾Coronavirus : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का खौफ जारी, संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब ◾कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए◾कोविड-19 : देश में अब तक 5000 के करीब लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 73 हजार के पार ◾मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरे होने पर अमित शाह, नड्डा सहित कई नेताओं ने दी बधाई◾PM मोदी का देश की जनता के नाम पत्र, कहा- कोई संकट भारत का भविष्य निर्धारित नहीं कर सकता ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

15 अप्रैल से लॉकडाउन खोलने का CM योगी ने दिया संकेत, कहा- आगे भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन रहेगा अनिवार्य

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगामी 15 अप्रैल से लॉकडाउन खोलने का संकेत देते हुए  सभी जनप्रतिनिधियों से सहयोग की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण को काबू करने के इस इम्तिहान में जनसहभागिता की बड़ी भूमिका होगी। अपने सरकारी आवास में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये प्रदेश के सभी सांसदों और विधायकों से सीएम योगी ने रविवार को संवाद किया।

इस दौरान उन्होंने कहा कि ‘‘ अगर हम 15 तारीख से लॉकडाउन खोलेंगे तो अचानक भीड़ निकलेगी। इसे रोकने के लिए आप लोगों का सहयोग चाहिए। अगर अचानक भीड़ सड़कों पर निकलेगी तो स्थिति अनियंत्रित हो सकती है। इसकी वजह से सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा। इसके लिए हमें एक व्यवस्था बनानी होगी। ऐसे में आप सभी लोग अपना-अपना सुझाव दें।’’

उन्होने कहा कि 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म की दशा में प्रदेश के सामने एक बड़ी चुनौती होगी। जनसहभागिता से ही इस चुनौती से निपटा जा सकेगा। लॉकडाउन खुलने के बाद भी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना होगा।तब्लीगी जमात के लोगों का जिक्र करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन दिनो के दौरान राज्य में कोरोना के मामलो में तेजी आयी है। लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए सरकार ने सभी ऐहतियाती कदम उठाए लेकिन बाहर से आए लोगों की वजह से हालात बिगड़े।

उन्होने कहा कि पुलिस ने अब तक तब्लीगी जमात से जुड़े 1499 लोगों को चिन्हित किया है जिसमें 385 से ज्यादा विदेशी है।अगर तबलीगी जमात का मामला सामने न आता तो सरकार कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में सफल हो गयी थी। प्रदेश में 132 संक्रमित मामले सिर्फ जमात से सामने आये हैं। कुछ स्थानो पर जमात के लोगों ने अव्यवस्था और अराजकता फैलाने का प्रयास किया। प्रदेश सरकार इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी कर रही है।

PM मोदी की दीये जलाने की अपील को कर्नाटक के पूर्व CM कुमारस्वामी ने बताया BJP का छुपा एजेंडा

मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को असुविधा न हो, इसके लिये सरकार ने 11 कमेटियां भी गठित की। प्रदेश के मूल निवासी 15 से 20 लाख लोग अन्य राज्यों में कार्यरत है। उनकी सुविधा के लिये और प्रदेश में बाहर से आए लोगों के लिए भी सरकार ने कमेटी गठित की है। सूत्रों ने बताया कि सरकार 15 अप्रैल से चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन को खोल सकती है हालांकि पहले उन जिलों में लॉकडाउन खुलेगा जहां कोरोना संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है। 

बाद में संक्रमित जिलों में पाबंदियों के साथ लॉकडाउन को खोला जा सकता है। इस दौरान बाजारों के खुलने का समय निश्चित किया सकता है जबकि भीड़ इकट्ठा न हो, इसके लिये दुकानो के बाहर गोलों में ही खड़ होकर खरीददारी करने की छूट दी जा सकती है। उन्होने बताया कि लॉकडाउन खुलने के पहले चरण में शिक्षण संस्थान को बंद रखा जा सकता है जबकि वर्क फ्रॉम होम परंपरा को प्रोत्साहित किया जायेगा और जरूरत के हिसाब से ही सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों को बुलाने की अनुमति दी जायेगी।