उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि विरोधी पार्टियों की हताशा उनकी कारगुजारियों और भ्रष्ट आचरण का नतीजा है। सीएम योगी ने कहा, ”प्रतिद्वंद्वी पार्टियों की हताशा और अस्तित्व का संकट, जिसका सामना बीजेपी विरोधी गठबंधन कर रहा है, उनकी खुद की कारगुजारियों और भ्रष्ट आचरण का नतीजा है।” उन्होंने कहा, ”इसलिए स्वाभाविक है कि वे परेशान महसूस करेंगे।”

योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास की राह में आने वाली सबसे बड़ी बाधा यानी जातिवाद और वंशवाद की राजनीति को हमने ध्वस्त कर दिया है। अब विकास का केन्द्र बिन्दु गांव, गरीब, किसान, युवा, महिलाएं, व्यापारी और समाज का हर वर्ग है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख एवं कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर के संतुष्ट हैं, विशेषकर उनकी पार्टी के पदाधिकारियों को विभिन्न आयोगों का अध्यक्ष एवं सदस्य बनाये जाने के पर योगी बोले, ”ये चीजें होती हैं और होती रहती हैं।”

लोकसभा चुनाव में बीजेपी के प्रचार की प्रकृति को लेकर सीएम योगी ने कहा कि बीजेपी जनता तक पहुंचने, उससे सीधा संवाद करने में यकीन करती है हालांकि विजुअल मीडिया, सोशल मीडिया और प्रिंट मीडिया पर भी बराबर ध्यान रहेगा। प्रचार के यही तौर तरीके होंगे। प्रचार के पारंपरिक तौर तरीकों के अलावा आधुनिक तौर तरीके भी अपनाये जाएंगे।

उन्होंने कहा कि देश भर में पार्टी का प्रचार बहुत अच्छा चल रहा है। बीजेपी अन्य दलों से कहीं आगे है। स्टार प्रचारक के रूप में पार्टी के भीतर उनकी मांग पर योगी ने कहा कि ऐसा नहीं है। ‘‘प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हमारे नेता हैं और उनके नेतृत्व में हम चुनाव लड़ रहे हैं। पार्टी के लिए जहां कहीं भी हमारी सेवा की आवश्यकता होगी, हम करेंगे।

पार्टी जहां जाने को कहेगी, हम जाएंगे लेकिन मुख्य रूप से ध्यान उत्तर प्रदेश पर ही रहेगा।’’ कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर योगी ने कहा कि अब उत्तर प्रदेश में भीड़ द्वारा किसी को पीट पीट कर मार डालने की घटना नहीं होती। पिछले 20 साल की बात करें तो इस समय कानून व्यवस्था की स्थिति उत्कृष्ट है। निकट भविष्य में कैबिनेट विस्तार के बारे में योगी ने कहा कि चुनाव खत्म होने दीजिए।