BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अयोध्या दौरे पर जाएंगे CM योगी, भगवान राम की नगरी में करेंगे विकास कार्यों की समीक्षा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शहर में आने वाले लोगों को विश्व स्तरीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए किए जा रहे विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा करने के लिए जल्द ही अयोध्या जाएंगे। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी उन परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करेंगे जिनमें भजन संध्या स्थल, क्वीन मेमोरियल पार्क, राम कथा पार्क का विस्तार, राम कथा गैलरी, राम की पैड़ी का सौंदर्यीकरण, सड़कों और फुटपाथों और हनुमान गढ़ी - कनक भवन रोड का नवीनीकरण शामिल है।

शहर की कई सड़कों के चौड़ीकरण का काम किया जा रहा है, बहु-स्तरीय पार्किंग का निर्माण किया जा रहा है और बस और रेलवे स्टेशनों का भी पुर्ननिर्माण किया जा रहा है। मौजूदा सुविधाओं को बढ़ाने के अलावा, अयोध्या को सौर शहर बनाने की भी योजना है। इसके अलावा, मखौड़ा जैसी अन्य महत्वपूर्ण स्थलों के विकास के लिए एक अलग कार्य योजना तैयार की गई है। बस्ती जिले के र्हैया तहसील में स्थित, मखौड़ा धाम में राजा दशरथ ने अपने गुरु वशिष्ठ और ऋषि श्रृंगी के मार्गदर्शन में पुत्रकामेष्ठी यज्ञ किया था।

विभिन्न 'परिक्रमा' मार्गों पर भगवान राम से संबंधित कई पौराणिक स्थान भी हैं और ऐसे सभी स्थानों का विकास भी योगी सरकार के एजेंडे में है क्योंकि इससे न केवल पर्यटन को बढ़ाने में मदद मिलेगी बल्कि स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे। मुख्यमंत्री ने सरयू नदी और रेलवे स्टेशनों के साथ-साथ घाटों के पूरे सौंदर्यीकरण के लिए पहले ही आदेश दे दिया है। हवाई अड्डे से जुड़ने के लिए एक अलग 4 लेन की सड़क होगी। नया रूप 'नव्य अयोध्या' वैदिक और आधुनिक शहर का एक एकीकृत मॉडल होगा।

सरकार अयोध्या के विकास का एक नया मॉडल तैयार कर रही है और इसके लिए एक विश्वस्तरीय कंसल्टेंट नियुक्त करने का निर्णय लिया गया है। आवासीय एवं सहरी नियोजन विकास (एचयूपीडी) विभाग ने एक 'रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल' (आरएफपी ) जारी किया है। एचयूपीडी विभाग सलाहकार द्वारा तैयार किए गए विकास मॉडल को प्राप्त करेगा और इसका क्रियान्वयन अयोध्या विकास प्राधिकरण (एडीए) के माध्यम से किया जाएगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) सोहावल से विक्रमजोत के लिए एक बाईपास का प्रस्ताव भी तैयार हो रहा है।

इसके अलावा, रायबरेली से अयोध्या तक फोर-लेन सड़क के चौड़ीकरण पर भी विचार हो रहा है। इसका निर्माण 1,500 करोड़ रुपये की लागत से किया जाना है। अयोध्या आने वाली रेल पटरियों का दोहरीकरण भी होगा, शहर के रेलवे स्टेशन का भविष्य की जरूरतों के अनुसार सौंदर्यीकरण और विस्तार किया जाएगा।