BREAKING NEWS

महागठबंधन में किचकिच, राजधानी में उपेंद्र कुशवाहा, मांझी, सहनी, शरद व प्रशांत किशोर की बैठक◾PM मोदी, सोनिया , आडवाणी और अमित शाह से मिले उद्धव ठाकरे, कहा- किसी को भी NPR और CAA से डरने की जरूरत नहीं◾केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंत्रिसमूह की बैठक की अध्यक्षता की ◾शाहीनबाग : तीसरे दिन भी नहीं निकला हल, लेकिन बातचीत में सुरक्षा को लेकर बनी सहमति◾Trump के भारत दौरे से पहले SJM ने 'नॉनवेज दूध' को लेकर दी चेतावनी◾व्यापार समझौते को अधर में लटकाने के बाद ट्रंप बोले - Modi के पास Facebook पर जनसंख्या लाभ◾दलितों पर अत्याचार के मामले में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर कार्रवाई की जानी चाहिए - पासवान◾अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ मुलाकात के लिए अब तक कोई निमंत्रण नहीं : कांग्रेस ◾PM मोदी के बाद सोनिया गांधी से मिले महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे◾महाशिवरात्रि के अवसर पर भगवान पशुपतिनाथ मंदिर में दर्शन के लिए काठमांडू पहुंचे 6,000 से ज्यादा संत◾देश में राजनीति के समक्ष 'विश्वसनीयता का संकट' पैदा होने के लिए राजनाथ ने नेताओं को ठहराया जिम्मेदार◾कमलनाथ ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर Modi सरकार पर साधा निशाना, कहा - सबूत अब तक देश के लोगों को नहीं दिए◾कार और डंपर की टक्कर में पांच लोगों की मौत ◾संजय राउत ने AIMIM पर लगाया आरोप, कहा- भारतीय मुसलमानों के दिमाग में जहर घोलने का काम कर रही है AIMIM◾TOP 20 NEWS 21 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾29 अप्रैल से कर पाएंगे केदारनाथ मंदिर में दर्शन ◾शाहीन बाग : नोएडा-फरीदाबाद रोड कुछ देर खोलने के बाद पुलिस ने फिर लगाई बैरिकेडिंग ◾CM बनने के बाद आज पहली बार दिल्ली आएंगे उद्धव ठाकरे,PM मोदी से करेंगे मुलाकात ◾देशभर में महाशिवरात्रि की धूम, मंदिरों में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब◾राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिए संकेत, भारत के साथ हो सकता है बेजोड़ व्यापार समझौता◾

अयोध्‍या मामले पर अदालत का फैसला समावेशी और पारदर्शी : कल्‍याण सिंह

उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्‍याण सिंह ने अयोध्‍या मामले पर गत शनिवार को आए उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले का स्‍वागत करते हुए कहा कि समावेशी और पारदर्शी होने की वजह से इसके खिलाफ कोई आवाज नहीं उठी। राम मंदिर आंदोलन का बड़ा चेहरा रहे सिंह ने सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘उच्‍चतम न्‍यायालय के फैसले का सभी ने स्‍वागत किया, क्‍योंकि इंसाफ की नजर में यह एक समावेशी निर्णय है। इससे 500 साल पुराने विवाद पर पर्दा गिर गया है।’’ 

अयोध्‍या में विवादित ढांचा ढहाए जाने के वक्‍त प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रहे सिंह ने कहा, ‘‘इस फैसले को हार या जीत के तौर पर नहीं लिया जाना चाहिए। यह सभी के लिए आस्‍था का विषय है और इस पर कोई राजनीति नहीं की जानी चाहिए। न्‍यायालय ने सबके हक में फैसला दिया है। उसने जहां मंदिर बनाने का आदेश दिया है, वहीं मस्जिद के लिए भी जमीन देने को कहा है। जहां तक मेरा अंदाजा है तो मंदिर का निर्माण 2022 या 2023 तक हो जाएगा।’’ 

उन्‍होंने कहा, ‘‘मैं एक रामभक्‍त हूं और अर्से से इस आंदोलन से जुड़ा हूं। सभी देशवासियों की तरह मैं भी चाहता हूं कि रामजन्‍मभूमि पर राम मंदिर बने।’’ राजस्‍थान के राज्‍यपाल भी रह चुके सिंह ने कहा कि वह चाहते हैं कि मंदिर का निर्माण होने के बाद अयोध्‍या को रोजगार से भी जोड़ा जाए। उन्‍होंने विश्‍वास जताया कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ इसे विशिष्‍ट तीर्थ केन्‍द्र के रूप में विकसित कर दुनिया के नक्‍शे पर लाएंगे। 

बाबरी मस्जिद ढहाने की साजिश रचने के मामले में खुद पर चल रहे मुकदमे के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने इस पर विस्‍तार से कुछ नहीं कहा। इस सवाल पर कि उच्‍चतम न्‍यायालय ने वर्ष 1992 में बाबरी मस्जिद ढहाए जाने को कानून-व्‍यवस्‍था का मुद्दा करार दिया है, सिंह ने कहा कि उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा देकर इसकी कीमत चुकायी थी।