BREAKING NEWS

दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾ट्रम्प की भारत यात्रा पहले से मोदी ने किया ट्वीट, लिखा- अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत◾सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद ◾Coronavirus के प्रकोप से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2400 पार ◾शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर वार्ताकार ने SC में दायर किया हलफनामा, धरने को बताया शांतिपूर्ण◾मन की बात में बोले PM मोदी- देश की बेटियां नकारात्मक बंधनों को तोड़ बढ़ रही हैं आगे◾बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-हाइटैक बस तैयार, अतिपिछड़ा शिकार◾भारत दौरे से पहले दिखा राष्ट्रपति ट्रंप का बाहुबली अवतार, शेयर किया Video◾CAA के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शन जारी, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात ◾जाफराबाद में CAA के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट, लिखा-मोदी जी ने सही कहा था◾US में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे Trump◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात◾J&K के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करता हूं : राजनाथ सिंह◾1 मार्च से नहीं मिलेंगे 2000 रुपये के नोट, इस सरकारी बैंक ने लिया बड़ा फैसला !◾इलाहाबाद रेलवे डिवीजन हुआ प्रयागराज रेलवे डिवीजन ◾GSI ने सोनभद्र को लेकर किया खुलासा , कहा - 3 हजार टन नहीं, 160 किलो सोना निकलने की संभावना◾कांग्रेस के शीर्ष नेता, पार्टी का बड़ा वर्ग चाहता है कि राहुल फिर बनें अध्यक्ष : सलमान खुर्शीद◾मायावती ने Modi सरकार पर बोला हमला, कहा - आरक्षण को ‘धीमी मौत’ दे रही है BJP◾देश के 20 राज्यों में AAP पार्टी शुरू करेगी राष्ट्र निर्माण अभियान◾

दलितों, वंचितों के सबसे बडे़ विरोधी रहे हैं 'सबका' : CM योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'सपा-बसपा-कांग्रेस' को संक्षिप्त नाम 'सबका' देते हुए मंगलवार को आरोप लगाया कि तीनों ही दल दलितों और वंचितों के सबसे बडे़ विरोधी रहे हैं। योगी ने विधानसभा के विशेष सत्र में लोकसभा और राज्य विधानसभाओं में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों के आरक्षण की अवधि को 10 साल के लिए और बढ़ाने के संविधान संशोधन विधेयक 2019 पर चर्चा का जवाब देते हुए कहा, ''सबका :सपा-बसपा-कांग्रेस: दलितों और वंचितों के सबसे बडे़ विरोधी रहे हैं ।'' 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने दलितों और वंचितों को वोटबैंक नहीं बनाया बल्कि शासन की योजनाएं सब तक पहुंचाईं। योगी ने कहा ‘‘हमने नारों को हकीकत में बदलने का कार्य किया है । केन्द्र में 26 मई 2014 को जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनी तो उसने किसी व्यक्ति, जाति, मत, मजहब या क्षेत्र के लिए नहीं बल्कि भारत के लिए कार्य किया। तब मोदी ने कहा था कि हमारी सरकार दलितों, वंचितों, आदिवासियों, पिछडों, वनवासियों और महिलाओं सहित हर तबके के लिए कार्य करेगी।’’ 

उन्होंने कहा ‘‘तीन करोड़ परिवारों के पास अपना घर नहीं था, सरकार ने दो करोड़ परिवारों को आवास दिये। दस करोड़ परिवारों के पास शौचालय नहीं था, स्वच्छ भारत मिशन के तहत सबको शौचालय दिये गये। तीन करोड़ परिवारों के पास बिजली कनेक्शन नहीं था, उन्हें सौभाग्य योजना के तहत बिजली कनेक्शन दिया गया। आठ करोड़ परिवारों के पास ईंधन का साधन नहीं था, उन्हें उज्जवला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन दिया गया। 

आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किया गया। यह दुनिया की सबसे बड़ी योजना है।’’ सपा-बसपा पर निशाना साधते हुए योगी ने सवाल किया कि आंबेडकर और कांशीराम के नाम पर बने स्मारकों और स्थलों का नाम किसने बदला ? उन्होंने कहा ‘‘अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए दी जाने वाली छात्रवृत्ति 2016 -17 में सपा सरकार ने नहीं दी। हमारी सरकार आयी तो हमने छात्रवृत्ति दी। 

भाजपा जो कहती है, वह करती है। हमने जाति, मत, मजहब और भाषा के आधार पर भेदभाव नहीं किया।’’ इससे पहले बैठक शुरू होने पर सदन ने प्रख्यात समाजवादी नेता राज नारायण को श्रद्धांजलि दी और कुछ मिनट का मौन रखा। इसके बाद सपा, बसपा और कांग्रेस के सदस्य नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में नारेबाजी करते हुए आसन के सामने आ गये। विपक्षी सदस्यों की नारेबाजी के बीच ही संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित संविधान :126वां संशोधन: विधेयक 2019 का सदन ने ध्वनिमत से समर्थन कर दिया। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सदन की बैठक अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी।