BREAKING NEWS

उत्तर - मध्य भारत में भयंकर गर्मी का प्रकोप , लगातार दूसरे दिन दिल्ली में पारा 47 डिग्री के पार◾नक्शा विवाद में नेपाल ने अपने कदम पीछे खींचे, भारत के हिस्सों को नक्शे में दिखाने का प्रस्ताव वापस◾भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने की मध्यस्थता की पेशकश◾चीन के साथ तनातनी पर रविशंकर प्रसाद बोले - नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता◾LAC पर भारत के साथ तनातनी के बीच चीन का बड़ा बयान , कहा - हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य’’ ◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 792 नए मामले आए सामने, अब तक कुल 303 लोगों की मौत ◾प्रियंका ने CM योगी से किया सवाल, क्या मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है सरकार?◾राहुल के 'लॉकडाउन' को विफल बताने वाले आरोपों को केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने बताया झूठ◾वायुसेना में शामिल हुई लड़ाकू विमान तेजस की दूसरी स्क्वाड्रन, इजरायल की मिसाइल से है लैस◾केन्द्र और महाराष्ट्र सरकार के विवाद में पिस रहे लाखों प्रवासी श्रमिक : मायावती ◾कोरोना संकट के बीच CM उद्धव ठाकरे ने बुलाई सहयोगी दलों की बैठक◾राहुल गांधी से बोले एक्सपर्ट- 2021 तक रहेगा कोरोना, आर्थिक गतिविधियों पर लोगों में विश्वास पैदा करने की जरूरत◾देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा डेढ़ लाख के पार, अब तक 4 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾राजस्थान में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 7600 के पार, अब तक 172 लोगों की मौत हुई ◾Covid-19 : राहुल गांधी आज सुबह प्रसिद्ध स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ करेंगे चर्चा ◾कोरोना संकट के बीच असम-मेघालय में बाढ़ का कहर जारी, करीब 2 लाख लोग हुए प्रभावित◾दिल्ली में कोरोना के 412 नये मामले आए सामने, मृतक संख्या 288 हुई ◾LAC पर चीन से बिगड़ते हालात को लेकर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, NSA, CDS और तीनों सेना प्रमुख हुए शामिल◾महाराष्ट्र : उद्धव सरकार पर भड़के रेल मंत्री पीयूष गोयल, कहा- राज्य में सरकार नाम की कोई चीज नहीं◾महाराष्ट्र : फडणवीस की CM ठाकरे को नसीहत, कहा- कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का करें प्रदर्शन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

झांसी के जाने माने अस्पताल में मिले डेंगू के लार्वा, नोटिस जारी

लगातार हो रही बारिश और जलभराव से मच्छरों के पनपने के लिए बनी माकूल स्थितियों के बीच उत्तर प्रदेश के झांसी में दो जाने माने अस्पतालों में शनिवार को किये गये औचक निरीक्षण में एक अस्पताल के 13 में से 11 कूलरों में डेंगू के लार्वा पाये गये। इसके बाद अस्पताल को नोटिस जारी किया गया। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ़ सुशील प्रकाश ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ शहर के दो जाने माने निगम और जर्मनी अस्पताल में औचक निरीक्षण किया। निगम हॉस्पिटल मे 5 कूलर देखे और किसी में भी डेंगू का लार्वा नहीं मिला, वहीं जर्मनी हॉस्पिटल में 13 कूलर में डेंगू का लार्वा चेक किया गया जिनमें से 11 कूलर में बहुत अधिक मात्रा में डेंगू का लार्वा पाया गया है। इसके तहत जर्मनी हॉस्पिटल के प्रबंधक को नोटिस दिया गया है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि अस्पताल एक ऐसी जगह है, जहां मरीज बीमार से स्वस्थ्य होने के लिए आता है, ऐसे में बीमारी की हालत में यदि उसे डेंगू का मच्छर काटता है तो उसे डेंगू होने की ज्यादा संभावना होती है। उन्होने अपील की, कि सभी नर्सिंग होम और होटल, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के संचालक हर रविवार अभियान चलाकर अपने यहाँ के सभी कूलर को खाली कर, उसे सुखाकर दुबारा पानी भरें। डेंगू का लार्वा रुके हुए पानी में ही पनपता है। उन्होने कहा कि हमे अपने आस पास भी सफाई रखनी चाहिए और जहां भी पानी एकत्रित है, उन जगहों को खाली करना चाहिए। 

जिला मलेरिया अधिकारी (डीएमओ) आर के गुप्ता ने कहा कि जर्मनी अस्पताल में निरीक्षण में डेंगू के लार्वा मिलने के बाद अब आगे भी इस अस्पताल में जांच की जायेगी। आगे निगम स्वास्थ्य अधिकारी के साथ मैं फिर वहां निरीक्षण करूंगा। अभी जारी किये गये नोटिस के बाद डेंगू लार्वा के पनपने के लिए जिम्मेदार परिस्थितियों को खत्म करना अस्पताल के लिए जरूरी है, अगर दूसरे निरीक्षण में भी ऐसा कोई लार्वा पाया जाता है तो नगर स्वास्थ्य अधिकारी को न्यूनतम एक हजार और अधिकतम स्वविवेक के आधार पर जुर्माना करने का अधिकार है। ऐसे में अस्पताल के खिलाफ कड़ कार्रवाई की जायेगी। 

उन्होंने कहा कि ऐसे मौसम में डेंगू से बचने का सबसे बेहतर उपाय है सावधानी। यह सावधानी न केवल बड़ प्रतिष्ठानों बल्कि घरों, छोटी दुकानों आदि में भी हर एक व्यक्ति के लिए रखना जरूरी है ताकि इस मच्छर के लार्वा को ही पैदा नहीं होने दिया जाए। नगर निगम के वाहनों की मदद से मच्छरों के नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग दवा के छिड़काव का काम भी कर रहा है। 

संचारी रोग के नोडल अधिकारी डॉ राज किशोर ने बताया कि पिछले वर्ष जनपद में 288 डेंगू के मरीज मिले थे और इस वर्ष अभी तक नौ मरीज मिल चुके हैं। उन्होने बताया यह समय डेंगू के लिए सबसे उच्चतम समय है, इस मौसम में डेंगू ज्यादा फैलता है, इसीलिए सावधानी रखना बहुत जरूरी है। 

ऐसे ही मौसम में घर या कार्यालयों के आस - पास पानी भरने और सफाई न रखने से मच्छरो के पनपने की संभावना बढ़ जाती है। निरीक्षण करने वाली टीम में एसीएमओ डॉ० एन.के जैन, जिला मलेरिया अधिकारी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डॉ। विजयश्री शुक्ला, कार्तिक आर्या, विजय बहादुर आदि उपस्थित रहे।