BREAKING NEWS

Covid-19 : महाराष्ट्र में कोरोना से अबतक 19 की मौत, कुल पॉजिटिव मामले 416◾राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 170 से अधिक FIR दर्ज - DP◾सोनिया ने लॉकडाउन पर उठाए सवाल तो भड़की BJP, शाह- नड्डा ने किया पलटवार◾मजनू का टीला गुरुद्वारे में रूके थे 225 लोग, गुरुद्वारे के प्रबंधकों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज ◾कोरोना संकट : पीएम मोदी कल सुबह 9 बजे वीडियो जारी कर देशवासियों को देंगे संदेश◾24 घंटे में कोरोना के 328 नए मामले आए सामने, तबलीगी जमात से जुड़े 9000 लोगों को किया गया क्वारंटाइन : स्वास्थ्य मंत्रालय◾FIR दर्ज होते ही बदले मौलाना साद के तेवर, समर्थकों से की सरकार का सहयोग करने की अपील◾PM मोदी के साथ मीटिंग के बाद अरुणाचल प्रदेश CM बोले- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी बरतें सावधानी◾सभी मुख्यमंत्रियों को PM मोदी का आश्वासन - कोरोना संकट को लेकर हर राज्य के साथ खड़ी है केंद्र सरकार◾इंदौर में स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने के मामले में 4 लोग गिरफ्तार, कई अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज◾देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या हुई 50, संक्रमित लोगों की संख्या में हुआ इजाफा ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तीन और मामले सामने आए, कुल संख्या 338 पर पहुंची ◾कोरोना वायरस : दुनिया भर में 925,132 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, 46,291 लोगों की अब तक मौत◾पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस के कारण मौत ◾मध्य प्रदेश में कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस आए सामने, संक्रमितों की संख्या हुई 98 ◾कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए PM मोदी आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा ◾Coronavirus : अमेरिका में कोविड -19 से छह सप्ताह के शिशु की हुई मौत◾कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾

फर्रुखाबाद : बंधक से सभी बच्चों को सुरक्षित बचाया गया, आरोपी और उसकी पत्नी की मौत

फर्रुखाबाद जिले के मोहम्मदाबाद के कठरिया गांव में 23 बच्चों को बंधक बनाने वाले व्यक्ति की गंभीर रूप से घायल पत्नी की भी इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने हत्या के एक मामले में आरोपी सुभाष बाथम को देर रात मार गिराया था और सभी बच्चों को उसके घर से सुरक्षित निकाल लिया था। 

एसपी अनिल कुमार मिश्रा ने बताया कि आरोपी की पत्नी गोली लगने की वजह घायल हुई थी, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं महानिरीक्षक (कानपुर) मोहित अग्रवाल ने बताया कि आरोपी की पत्नी को स्थानीय लोगों ने उस समय पीटा था जब वह वहां से बचकर निकलने की कोशिश कर रही थी लेकिन गंभीर रूप से घायल होने के कारण उसकी गुरुवार रात मौत हो गई। 

उन्होंने बताया कि उसके सिर पर लगी चोट से खून निकल रहा था। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। अग्रवाल ने कहा, ‘‘ पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के सही कारण का पता चल पाएगा।’’ बाथम ने अपनी बेटी के जन्मदिन के समारोह में बच्चों को आमंत्रित करने के बाद बृहस्पतिवार शाम उन्हें बंधक बना लिया था। बंधक बनाए गए बच्चों की आयु छह महीने से 15 साल से बीच है। 

जम्मू-कश्मीर: नगरोटा में पुलिस की टीम पर आतंकियों ने की फायरिंग , 3 आतंकी ढेर

बच्चे करीब आठ घंटे तक बंधक बने रहे। अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बृहस्पतिवार देर रात एक बजकर 20 मिनट पर आनन-फानन में बुलाए गए एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ सभी 23 बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और बच्चों को बंधक बनाने वाले को मार गिराया गया है।’’ 

पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने कहा, ‘‘ आरोपी ने बच्चों को अपनी बेटी के जन्मदिन की पार्टी के लिए बुलाया था और उन्हें बंधक बना लिया। यह सब 30 जनवरी को शाम पांच बजकर 45 मिनट पर शुरू हुआ और करीब आठ घंटे तक बच्चे बंधक बने रहे।’’ उन्होंने बताया कि आरोपी ने शुरुआत में ही छह महीने की एक बच्ची को एक बालकनी से अपने पड़ोसी को सौंपकर मुक्त कर दिया था।

दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर प्रदर्शनकारी छात्रों को हिरासत में लिया गया

चश्मदीदों के मुताबिक बंधक बनाए गए बच्चों के माता-पिता और रिश्तेदारों की भीड़ आरोपी के घर के बाहर जमा हो गई और उनमें से कुछ महिलाएं अपने बच्चों की सुरक्षित रिहाई के लिए गिड़गिड़ाती हुई नजर आईं। बाद में भीड़ का सब्र जवाब दे गया और उसने बच्चों को चंगुल से छुड़ाने के लिए आरोपी के घर के दरवाजे और खिड़कियां तोड़ डाली। इस पर आरोपी ने गोलियां चलानी शुरू कर दी जिसके जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं, जिनकी चपेट में आकर आरोपी सुभाष बाथम की मौत हो गई। 

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस गोलीबारी में सुभाष की पत्नी भी घायल हो गई। हालांकि बंधक बनाए गए किसी भी बच्चे को कोई चोट नहीं लगी। इस घटना में दो पुलिसकर्मियों तथा एक अन्य व्यक्ति को भी गोली लगी है। सिरफिरेपन से भरी इस वारदात की वजह के बारे में तत्काल कुछ पता नहीं लग सका है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों को बंधक बनाए जाने की खबर मिलने पर आपदा प्रबंधन समूह के साथ बैठक की और व्यक्तिगत तौर पर हालात का जायजा भी लिया था। इसके पहले, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के कमांडो की एक टीम को विशेष विमान से फर्रुखाबाद भेजा गया था। 

पुलिस के मुताबिक वारदात का मुख्य आरोपी सुभाष हत्या का आरोपी था और वह विक्षिप्त भी था। कानपुर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि सुभाष बाथम ने अपने घर के अंदर से छह गोलियां चलाई थीं। उन्होने बताया कि शुरू में वह स्थानीय विधायक से बात करना चाहता था लेकिन बाद में जब विधायक पहुंचे तो उसने बात करने से इनकार कर दिया।