अयोध्या: श्रीरामजन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द दास ने बताया कि 6 दिसम्बर 1992 को विवादित ढांचा गिरने के बाद उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी कल विवादित श्रीरामजन्मभूमि रामलला के दर्शन करेगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर आंदोलन से जुड़े हुए व्यक्ति हैं।

उन्होंने बताया कि योगी मंदिर आंदोलन से जुडे हुए व्यक्ति हैं। और कहा की योगी के समय में ही मंदिर निर्माण का हल निकल सकता है क्योंकि मुस्लिम समाज में भी परिवर्तन दिखायी दे रहा है। 1991में भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह थे जो पूरी कैबिनेट के साथ विवादित रामजन्मभूमि रामलला के दर्शन करने आये थे। श्री दास ने कहा कि केन्द और प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने से जनता में काफी उम्मीद है कि मंदिर का निर्माण शीघ्र हो जायेगा।

(वार्ता)