BREAKING NEWS

आज का राशिफल (06 दिसंबर 2022)◾संसदीय पैनल ने RBI गवर्नर के लिए की 6 वर्ष के कार्यकाल की सिफारिश, जाने क्या कहती है रिपोर्ट ◾UP : हिन्दू महासभा ने की शाही ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा ◾दुनिया में एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरा है भारत : प्रधानमंत्री मोदी ◾PFI पोस्टर मामला : CM बोम्मई बोले- दोषियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई, भ्रम पैदा करना सही नहीं ◾गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में हुआ 58 प्रतिशत से अधिक मतदान, अधिकारियों ने दी जानकारी ◾J&K : उमर अब्दुल्ला बोले - लोगों को अंधेरे में नहीं रख रही नेकां, मेरा दिल कहता है बहाल होगा अनुच्छेद 370 ◾सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- पंजाब में शराब, ड्रग्स पर रोक न लगने से खत्म हो जाएंगे युवा◾Himachal Pradesh: किसका होगा हिमाचल! Exit Polls के मुताबिक- पहाड़ों में फिर खिलेगा 'कमल' ◾सुप्रीम कोर्ट की सलाह: दुनिया बदल गई, CBI को भी बदलना चाहिए, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली हाई कोर्ट ने राघव बहल के खिलाफ धनशोधन की जांच पर रोक लगाने से किया इनकार ◾बिहार की सियासत में कांग्रेस की बढ़ी दिलचस्पी, अखिलेश प्रसाद सिंह राज्य इकाई के अध्यक्ष नियुक्त◾European Union: एयरलाइन यात्रियों के लिए खुशखबरी, जल्द अपने फोन में 5जी सर्विस का उठा पाएंगे लाभ ◾Lakhimpur Kheri case: केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे समेत 13 आरोपियों को आरोपमुक्त करने की अर्जी खारिज◾Maharashtra: नाना पटोले ने कहा- BJP कर रही है शिवाजी महाराज का अपमान करने का प्रयास◾Maharashtra: महाराष्ट्र में दरिंदगी, 5 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, पुलिस ने आरोपी को दबोचा◾अखिलेश यादव का आरोप, कहा- उपचुनावों में लोगों को वोट देने से रोक रहा है प्रशासन◾देश के पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम G-20 शिखर सम्मेलन पर सर्वदलीय बैठक में होंगे शामिल ◾आतंक फैलाने में जुटा PAK, भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर बीएसएफ ने ड्रोन और हेरोइन बरामद की◾पिटबुल कुत्ते ने 9 साल के मासूम बच्चे पर किया हमला बच्चा गंभीर रूप से घायल, मालिक पर केस दर्ज◾

ज्ञानवापी : शिवलिंग की कार्बन डेटिंग पर टला फैसला, 11 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में स्थित ज्ञानवापी मस्जिद में मिले कथित शिवलिंग की कार्बन डेटिंग पर जिला अदालत ने अपना आदेश टाल दिया है। मामले में अगली सुनवाई कोर्ट 11 अक्टूबर करेगा। दरअसल, ज्ञानवापी में हुए सर्वे के दौरान वजूखाने में शिवलिंग जैसी आकृति मिली थी, जिसपर हिंदू पक्ष ने विश्वेश्वर शिवलिंग होने का दावा किया था। लेकिन आज जिला जज डॉ अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत ने अपना आदेश टाल दिया। 

अदालत में हिन्दू पक्ष का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील विष्णु जैन ने कहा कि कोर्ट ने हमें दो बिंदुओं पर स्पष्ट करने के लिए कहा कि क्या ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर मिली संरचना इस सूट की संपत्ति का हिस्सा है या नहीं? दूसरा, क्या कोर्ट वैज्ञानिक जांच (कार्बन डेटिंग) के लिए आयोग जारी कर सकता है? इसपर हमने अपना जवाब प्रस्तुत कर दिया है।

उन्होंने कहा कि हमने अदालत से कहा कि यह हमारी वाद संपत्ति का हिस्सा है और सीपीसी के आदेश 26 धरा 10ए के आधार पर कोर्ट को वैज्ञानिक जांच का निर्देश देने का अधिकार है। विष्णु जैन ने कहा कि मुस्लिम पक्ष ने जवाब के लिए कुछ समय मांगा है। अब मामले में अगली सुनवाई11 अक्टूबर को होगी।

वाराणसी जिला अदालत में कार्बन डेटिंग की मांग वाली याचिका उन्हीं महिलाओं की ओर से दाखिल की, जिन्होंने कोर्ट से श्रृंगार गौरी की पूजा की इजाजत मांगने संबंधी याचिका दाखिल की थी। महिलाओं की ओर से वकील विष्णु शंकर जैन ने जिला जज की कोर्ट में ये याचिका दाखिल की। 

क्या होती है कार्बन डेटिंग? 

ज्ञानवापी केस में कार्बन डेटिंग की मांग के बाद आम लोगों में इस प्रक्रिया को जानने की उत्सुकता है। दरअसल, कार्बन डेटिंग एक वैज्ञानिक प्रक्रिया है, जो किसी पुराने वस्तु या सामान के उम्र की जानकारी देती है। पुरात्तव विभाग के अनुसार, लकड़ी, पत्थर, या किसी अन्य वस्तु कितना पुराना है इसकी जानकारी कार्बव डेटिंग के जरिए मिलती है। विभाग के अनुसार, गुफा के दीवारों पर बने चित्रकार या विभाग द्वारा खोजे गए ‍अवशेष का कार्बन के जरिए पता लगाया जाता है।

हमारे वायुमंडल में तीन तरह के कार्बन मौजदू हैं, C-12, C-13 और C-14। कार्बन डेटिंग के लिए C-14 यानी कार्बन 14 की जरूरत होती है। C-12 और C-13 स्थाई कार्बन है। वहीं, C 14 अस्थाई होता है. कार्बन 14 को खास इसलिए माना जाता है क्योंकि किसी पत्थर या अन्य वस्तु से लिए गए सैंपल पर यह Disintegrated यानी विघटित हो जाता है।