BREAKING NEWS

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तिहाड़ जेल में डीके शिवकुमार से की मुलाकात◾दिल्ली के कनॉट प्लेस में मुठभेड़, दो बदमाश गिरफ्तार◾झारखंड चुनाव में कसौटी पर होगी JDU-भाजपा दोस्ती!◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: मां बोलीं- हत्या के आरोपियों को मिले फांसी की सजा ◾कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने की मोदी सरकार की तारीफ, 'आयुष्मान भारत योजना' को लेकर कही यह बात◾आनंदन ने विश्व मिलिट्री खेलों में भारत को दिलाया दूसरा स्वर्ण ◾सोनिया गांधी बुधवार को शिवकुमार से तिहाड़ में मिलेंगी◾‘‘ग्रेट पैट्रियॉटिक वॉर’’ जीत की 75 वीं वर्षगांठ पर मोदी का स्वागत करने के लिए उत्सुक है रूस ◾आप ने विमर्श की दिशा बदल दी, दिल्ली में हिंदू-मुस्लिम राजनीति करने की भाजपा की हिम्मत नहीं : केजरीवाल ◾J&K : सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादी ढेर◾अयोध्या में दीपोत्सव का खर्चा UP सरकार के जिम्मे◾बंगाल में लागू नहीं होगा NRC : ममता◾प्रियंका ने प्रदेश में महिलाओं के साथ बढते अपराध पर UP सरकार को घेरा◾कमलेश तिवारी हत्याकांड : गुजरात ATS को मिली बड़ी कामयाबी, दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार◾गुलाबी बस टिकटों पर केजरीवाल के चित्र मामले में दिल्ली भाजपा ने लोकायुक्त से शिकायत की◾हरियाणा में भाजपा, कांग्रेस में कांटे की टक्कर, महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना गठबंधन की शानदार वापसी : एग्जिट पोल ◾हरियाणा : कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा बोली- एग्जिट पोल को भूल जाइये, कांग्रेस बनाएगी सरकार◾राज्य में कोई भी डिटेंशन सेंटर स्थापित नहीं होगा : CM ममता ◾TOP 20 NEWS 22 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या मामला : सुप्रीम कोर्ट ने ‘निर्वाणी अखाड़ा’ को लिखित नोट दाखिल करने की दी इजाजत ◾

उत्तर प्रदेश

अगर तीन दिन से ज्यादा किसी अधिकारी ने रोकी फाइल, तो होगी सख्त कार्रवाई : योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के निर्देश देते हुए कहा कि अधिकारी मुख्यालय में बैठने की बजाय क्षेत्र में जाकर औचक निरीक्षण करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर विभाग में कोई भी फाइल तीन दिन से ज्यादा रुकी तो उस अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। बच्चों को पाठ्य पुस्तक, बैग और यूनिफॉर्म मुहैया कराने में देरी को लेकर अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि इन्हें तत्काल उक्त सामग्री जारी की जाए।

योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग और माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री ने विद्यालयों में सोलर पैनल लगाने पर भी जोर देते हुए कायाकल्प योजना के तहत प्रिंसिपल, जनसेवकों को आगे आने को कहा। उन्होंने मध्याह्न भोजन योजना के तहत लखनऊ और मथुरा में अक्षयपात्र को आधार से लिंक कराने के भी निर्देश जारी किए। 

योगी ने हिदायत दी कि शिक्षा विभाग के प्रत्येक कर्मचारी को महीने के पहले सप्ताह में ही उसकी सैलरी मिल जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय का माध्यमिक स्तर तक उच्चीकरण किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य अध्यापक पुरस्कार की एक प्रक्रिया हो, एक मानक तैयार किया जाए, जिसके आधार पर शिक्षकों को सम्मानित किया जा सके, कागजी खानापूर्ति बंद की जाए। बरसों से एक स्थान पर जमे बीएसए के बाबुओं के भी ट्रांसफर करने के मुख्यमंत्री ने निर्देश जारी किए। शिक्षकों की उपलब्धता को लेकर भी उन्होंने कड़ा रुख अपनाया। 

उन्होंने कहा कि प्रधानाचार्य के पद का चयन लोक सेवा आयोग के तहत किया जाए। वहीं, एक अलग से शिक्षा सेवा आयोग का गठन किया जाए जिससे शिक्षकों की भर्ती पारदर्शी तरीके से हो सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारी फील्ड में जाकर प्रधानाचार्यों, अध्यापकों और कर्मचारियों के साथ संवाद करें। उन्होंने प्रधानाचार्यों को साल में दो बार अभिभावकों के साथ मीटिंग करने के निर्देश दिए। खासतौर पर सभी बीएसए को उनके क्षेत्र में रोजाना स्कूलों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।