BREAKING NEWS

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद पवार बोले- किसी के साथ सरकार बनाने पर चर्चा नहीं◾INX मीडिया धनशोधन मामला : चिदंबरम ने जमानत याचिका खारिज करने के आदेश को न्यायालय में दी चुनौती ◾मनमोहन सिंह ने कहा- राज्य की सीमाओं के पुनर्निधार्रण में राज्यसभा की अधिक भूमिका होनी चाहिए◾'खराब पानी' को लेकर पासवान का केजरीवाल पर पटलवार, कहा- सरकार इस मुद्दे पर राजनीति नहीं करना चाहती◾संसद का शीतकालीन सत्र : राज्यसभा के 250वें सत्र पर PM मोदी का संबोधन, कहा-इसमें शामिल होना मेरा सौभाग्य◾बीजेपी बताए कि उसे चुनावी बॉन्ड के जरिए कितने हजार करोड़ रुपये का चंदा मिला : कांग्रेस ◾CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾

उत्तर प्रदेश

पुलिस को हाईटेक बनाने के लिए IIT कानपुर ने UP पुलिस से मिलाये हाथ

उत्तर प्रदेश पुलिस हाईटेक बनने के लिये अब आईआईटी कानपुर की मदद से ज्यादा तकनीकी दक्षता हासिल करेगी और इसके लिए आईआईटी कानपुर और उप्र पुलिस के बीच डीजीपी मुख्यालय में अनुबंध पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर हुए हैं। अनुबंध पत्र पर बुधवार शाम आईआईटी कानपुर के प्रो. अभय करंदीकर और पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने हस्ताक्षर किए। 

इससे उत्तर प्रदेश पुलिस अब सीसीटीएनएस, डीएनए फोरेंसिक्स, ड्रोन संचालन, 1090, उप्र-100 और सोशल मीडिया में ज्यादा हाईटेक होकर अपराधियों पर लगाम लगाने और आम आदमी तक न्याय पहुंचाने के लिये काम कर सकेगी। बाद में सिंह ने कहा कि पिछले कुछ समय में यूपी पुलिस ने तकनीक की दिशा में बहुत काम किया है। इसका असर भी देखने को मिला है। कई क्षेत्रों में अभी और भी दक्षता की जरूरत थी। इसीलिये आईआईटी कानपुर के साथ यह अनुबंध किया गया है। 

उन्होंने कहा कि आईआईटी, कानपुर के शिक्षक और छात्र पहले रिसर्च कर पुलिस महकमे के कामों में आने वाली समस्याओं और जरूरतों को देखेंगेफ। फिर, इसके हिसाब से ही वह तकनीक विकसित करेंगे। आईआईटी कानपुर के प्रो. अभय ने कहा कि वीडियो सर्विलांस, डेटा एनालिसिस, ड्रोन टेक्नालॉजी में कई और आधुनिक पद्धति लाने क अलावा रियल लाइफ की जरूरतों को ध्यान में रखकर कई रिसर्च होंगे। 

उन्होंने बताया कि दो-तीन साल के क्राइम का अध्ययन कर वह समझेंगे कि किस तरह के अपराध, घरेलू हिंसा, यौन शोषण जैसे अपराधों से किस तरह से निपटा जा सकता, इस दिशा में नई तकनीक लाने की कोशिश होगी।