प्रयागराज : कुंभ मेले के दौरान अपने अभिभावकों से बिछुड़ने वाले बच्चों का पता लगाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचानपत्र (आरएफ आईडी) मुहैया कराएगी। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने सोमवार को बताया कि कुंभ मेला 50 दिन चलेगा और इसमें 12 करोड़ से अधिक लोग शामिल होंगे।

बच्चे लापता ना होने पायें, इसके लिए 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों को आरएफआईडी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि वोडाफोन से सहयोग लिया गया है और वह समन्वय को राजी है। चालीस हजार आरएफआईडी बनेंगी। आरएफआईडी एक किस्म का वायरलेस संचार माध्यम है। इसमें इलेक्ट्रो मैग्नेटिक या इलेक्ट्रोस्टैटिक कफलिंग का इस्तेमाल होता है।

यह किसी व्यक्ति या वस्तु की पहचान में सहायक होता है। सिंह ने बताया कि कुंभ मेले में 15 आधुनिक एकीकृत डिजिटल खोया—पाया केन्द्र बनाये गये हैं। सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के अलावा एलईडी के जरिए सूचना के डिस्प्ले की व्यवस्था की गयी है। सिंह ने बताया कि पहली बार ऑटोमैटिक नंबर प्लेट पहचान प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा। यह वाहनों की पहचान उनके रंग, लाइसेंस प्लेट, तारीख और वक्त से करेगा।