BREAKING NEWS

कांग्रेस का दावा - हम फिर से बनाएंगे सरकार◾बंगाल चुनाव बाद हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता की मौत मामले में CBI ने सात लोगों को किया गिरफ्तार ◾दिल्ली कोविड : बीते 24 घंटों में आए 4,044 नए मामले, कल के मुकाबले कम हुई मौतें ◾वी.अनंत नागेश्वरन ने संभाला देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद, आम बजट से पहले केंद्र सरकार ने किया ऐलान◾मिसाइल आपूर्ति करने वाले देशों के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हुआ भारत, इस देश को देगा शक्तिशाली ब्रह्मोस ◾मुजफ्फरनगर: साझा प्रेस वार्ता में अखिलेश और जयंत चौधरी ने दिखाई अपनी ताकत, जानिए क्या बोले दोनों नेता◾केस दर्ज होने के बाद श्वेता तिवारी ने मांगी माफी, तोड़-मरोड़कर दिखाया जा रहा बयान, जानें पूरा मामला◾यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व CM प्रतापसिंह राणे ने इलेक्शन नहीं लड़ने का लिया फैसला◾यूपी : चुनाव प्रचार के लिए 31 जनवरी को अमित शाह देंगे आजम के गढ़ में दस्तक, घर-घर मांगेगे वोट ◾भय्यू महाराज खुदकुशी मामला: एक महिला समेत तीन सहयोगियों को 6 साल की सश्रम कारावास की सजा◾कोविड टीकाकरण : देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी एहतियाती खुराक, सरकार ने दी जानकारी ◾BJP ने SP की लिस्ट को बताया माफियाओं की सूची, कानून-व्यवस्था और विकास पर अखिलेश को दी चुनौती ◾दिल्ली : विवेक विहार गैंगरेप मामले में 9 महिलाओं समेत अब तक 11 गिरफ्तार◾खुलकर आई धनखड़ Vs TMC की लड़ाई, पार्टी लाएगी राज्यपाल के खिलाफ प्रस्ताव, अन्य दलों से मांगेगी सहयोग ◾यूपी: 'लाल टोपी वाले गुंडे' वाले बयान का सपा उठा रही चुनावी फायदा, कार्यकर्ताओं के लिए बना स्टेटस सिम्बल ◾चौथे चरण के लिए BSP ने की 53 उम्मीदवारों की घोषणा, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों में बनाया संतुलन ◾

वीरांगना को श्रद्धांजलि : योगी सरकार की सौगात, जल्द रानी लक्ष्मीबाई के नाम से जाना जायेगा झांसी रेलवे स्टेशन

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद कई शहरों के नाम बदले गए और उन्हें वापस वो पहचान दिलाने की कोशिश की गयी जो विदेशी आक्रमणकारियों द्वारा धूमिल कर दी गयी थी। अब झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की खबरें आ रही है। 

अब झांसी रेलवे स्टेशन का नाम 1857 की प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की अग्रदूत रानी लक्ष्मीबाई के नाम पर रखा जाएगा। झांसी के जिलाधिकारी आंद्रे वामसी ने इसकी पुष्टि की है कि इस संबंध में एक प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा गया है। सरकार के सूत्रों के मुताबिक, प्रस्ताव को जल्द ही आगे की कार्रवाई के लिए केंद्र को भेजे जाने की संभावना है। 

वामसी ने संवाददाताओं से कहा, "झांसी के सांसद अनुराग शर्मा ने रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की सिफारिश की थी। हमने नाम बदलने पर सहमति दे दी है और इसे राज्य सरकार को भेज दिया है।"झांसी के सांसद ने कहा कि रेलवे स्टेशन का नाम बदलने का प्रस्ताव करीब दो साल पहले रेलवे की जोनल मीटिंग के दौरान रखा गया था। 

उन्होंने कहा, "यह प्रस्ताव बुंदेलखंड क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में किया गया था। बैठक के कार्यवृत्त में निर्णय का उल्लेख किया गया था और अब आगे की कार्रवाई के लिए राज्य सरकार के पास भेजा गया है।"सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार इस प्रस्ताव को आगे की कार्रवाई के लिए केंद्र को भेजने की तैयारी कर रही है। 

योगी आदित्यनाथ सरकार पहले ही तीन प्रमुख स्थानों, इलाहाबाद से प्रयागराज, मुगलसराय को दीन दयाल उपाध्याय नगर और फैजाबाद से अयोध्या कर चुकी है। हालांकि, इलाहाबाद और फैजाबाद के विपरीत, इस मामले में शहर, झांसी का नाम बदलने का कोई प्रस्ताव नहीं है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संकेत देते रहे हैं कि राज्य सरकार जहां भी आवश्यक होगी, नाम परिवर्तन के साथ आगे बढ़ेगी। 

मुख्यमंत्री ने एक महीने पहले समारोह में कहा, "हमने वही किया जो हमें अच्छा लगा। हमने मुगलसराय का नाम पंडित दीन दयाल उपाध्याय, इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और फैजाबाद का नाम अयोध्या रखा। जहां जरूरत होगी, सरकार आवश्यक कदम उठाएगी।"