BREAKING NEWS

बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर से पहले सभी पक्षकारों को विश्वास में लिया जाए : कांग्रेस ◾चीन में कोरोनावायरस संक्रमण से अभी तक कोई भारतीय प्रभावित नहीं : विदेश मंत्रालय ◾सभी शरणार्थियों को CAA के तहत दी जाएगी नागरिकता : पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख ◾खेलो इंडिया की तर्ज पर हर वर्ष खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स आयोजित होगा : प्रधानमंत्री मोदी ◾हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं, शांति हर सवाल का जवाब : PM मोदी ◾उल्फा (आई) ने गणतंत्र दिवस पर असम में हुए विस्फोटों की जिम्मेदारी ली ◾गणतंत्र दिवस पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी को संविधान की प्रति भेजी ◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो की मौजूदगी में भारत ने मनाया 71वां गणतंत्र दिवस ◾71वां गणतंत्र दिवस के मोके पर राष्ट्रपति कोविंद ने राजपथ पर फहराया तिरंगा◾गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾

कानपुर : नमामि गंगे की बैठक के बाद PM मोदी ने नाव पर बैठकर गंगा की सफाई का लिया जायजा

शहर के चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नमामि गंगे परियोजना पर मंथन किया। उन्होंने राष्ट्रीय गंगा नदी पुनर्जीवन, सुरक्षा एवं प्रबंधन परिषद (राष्ट्रीय गंगा परिषद) की बैठक की अध्यक्षता की। करीब दो घंटे चली बैठक में नमामि गंगे के अगले चरण और नई कार्य योजना को लेकर विमर्श के साथ ही कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गए। 

बैठक के बाद मोदी ने अटल घाट पहुंचकर ‘मां गंगा’ को नमन किया। इसके बाद उन्होंने स्टीमर के जरिए गंगा की सफाई का निरीक्षण किया। परिषद की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी हिस्सा लिया। इस दौरान केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी मौजूद रहे। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विशेष विमान से शनिवार सुबह कानपुर के चकेरी हवाईअड्डे पर उतरे। जहां पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों तथा केंद्रीय मंत्रियों ने उनका स्वागत किया। 

नमामि गंगे के अभियान में लगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कानपुर में गंगा नदी को अविरल और निर्मल करने के प्रयासों को अपनी कसौटी पर परखने का साथ ही कानपुर शहर में 'नमामी गंगे' की परियोजनाओं का हाल और गंगा नदी में गिर रहे नालों का भी जायजा लिया। 

परिषद की बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा, ''आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में गंगा स्वच्छता का सांस्कृतिक यज्ञ चल रहा है। आज 'राष्ट्रीय गंगा परिषद' आगे की नीति-रणनीति पर विचार कर रही है।'' 

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ''केंद्र सरकार, राज्य सरकार को जो भी दायित्व सौंपेगी राज्य सरकार पूर्ण सहयोग की भावना से इस कार्य को करेगी। वह दिन अब दूर नहीं कि जब गंगोत्री से बंगाल की खाड़ी तक, हर जगह माँ गंगा निर्मल, अविरल, निर्झर होंगी। काशी हो, प्रयाग हो या कानपुर हर कहीं गंगाजल आचमन योग्य होगा। 'नमामि गंगे' परियोजना के माध्यम से हर भारतीय का यह स्वप्न पूरा होगा।'' 

प्रधानमंत्री चकेरी एयरपोर्ट पर उतरने के बाद हेलीकॉप्टर से चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय (सीएसए) पहुंचे। इसके बाद उन्होंने नमामि गंगे मिशन के तहत लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रधानमंत्री की मौजूदगी में राष्ट्रीय गंगा परिषद की बैठक दोपहर बाद खत्म हो गयी। 

झारखंड : अमित शाह बोले- CAB कानून के खिलाफ कांग्रेस भड़का रही है हिंसा

बैठक में पांच राज्यों यूपी, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में गंगा की स्थिति को लेकर मंथन किया गया । इन प्रदेशों में गंगा को निर्मल और अविरल बनाने के लिए अभी तक जो भी कार्य हुए हैं, मोदी ने उनकी समीक्षा की। इसके बाद आने वाले समय में गंगा को स्वच्छ और उसके किनारों को सुंदर बनाने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है, इसकी कार्ययोजना भी तैयार की गयी । 

मोदी की यात्रा के मद्देनजर कड़े सुरक्षा इंतजामों के चलते सीएसएयू और गंगा बैराज के आसपास के गेस्ट हाउसों में एक दिन के लिए शादी समारोह आदि स्थगित कर दिए गए हैं। यातायात पाबंदियों के चलते इन इलाकों के कई स्कूलों में छुट्टी का भी ऐलान किया गया है। इस बीच समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री की इस यात्रा पर कटाक्ष किया है । 

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ''सुना है प्रधान जी गंगा की स्वच्छता व प्रदूषण मुक्ति के लिए कानपुर में बड़ी बैठक कर रहे हैं। वहां निरीक्षण के समय फिर से गंगा में गिरनेवाले नालों का मुख मोड़कर ‘नक़ली सफ़ाई’ को झूठ का चश्मा पहनाया जाएगा। सलाह है कि प्रधान जी पहले भ्रष्टाचार का गोमुख साफ़ करें तब कानपुर पहुंचें।''