BREAKING NEWS

माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾

लाउडस्पीकर इस्लाम का अभिन्न अंग नहीं...., इलाहाबाद HC ने याचिकाकर्ता को फटकारा! जानें पूरा मामला

देश के कई हिस्सों में लाउडस्पीकर को लेकर बवाल मचा हुआ है, इस विवाद के बीच इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए मस्जिदों में लाउडस्पीकर लगाने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया है। हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को फटकार लगते हुए कहा कि मस्जिद में लाउडस्पीकर लगाना मौलिक अधिकारों की सूचि में नहीं आता है, यह कानून पहले ही बन चुका है कि धार्मिक स्थलों फिर चाहे वह मंदिर हो या मस्जिद उन्हें लाउडस्पीकर लगाने का संवैधानिक अधिकार नहीं है। 

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने याचिका को किया खारिज 

बता दें कि यह याचिका इरफान नाम के एक शख्स ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में दाखिल की है, इस याचिका में बदायूं के बिसौली जिले के एसडीएम द्वारा दिए निर्देश को चुनौती दी गयी है। दरअसल एसडीएम ने मस्जिद में लाउडस्पीकर लगाने की मंजूरी देने से इंकार कर दिया था जिस फैसले के खिलाफ इरफान ने हाई कोर्ट का रुख किया। याचिकाकर्ता के मुताबिक एसडीएम का लाउडस्पीकर लगाने की अनुमति ना देना पूरी तरह से असंवैधानिक है और उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता है।  

लाउडस्पीकर में अजान करना इस्लाम का अभिन्न अंग नहीं 

याचिका पर टिप्पणी करते हुए कोर्ट ने कहा कि यकीनन अजान इस्लाम धर्म में अभिन्न अंग है जिस पर किसी तरह की कोई मनाई नहीं है, जहां तक बात रही लाउडस्पीकर की तो यह इस्लाम का हिस्सा नहीं है। बता दें कि यह लाउडस्पीकर विवाद महाराष्ट्र से शुरू होकर देश के कई हिस्सों तक फैल गया है, इस बीच यूपी में बड़ी संख्या में मंदिरों और मस्जिदों से लाउडस्पीकर को या तो हटा दिया गया है या उनका वॉल्यूम नियम के अनुसार कम कर दिया गया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है। 

राज ठाकरे ने कि लाउडस्पीकर विवाद की शुरुआत 

इसके साथ सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक ऑडिटोरियम, कॉन्फ्रेंस हॉल, कम्युनिटी और बैंक्वेट हॉल जैसे बंद स्थानों पर इसे बजा सकते हैं। साथ ही किसी भी आयोजन के वक्त अनुमति लेकर लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया जा सकता है। बता दें कि यह विवाद मनसे प्रमुख राज ठाकरे के कारण सुर्खियों में आया क्योंकि उन्होंने महाराष्ट्र सरकार को अल्टीमेटम दिया था कि अगर 4 मई तक सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटे तो वह दोगुनी आवाज में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।  

साइंस नहीं... PM मोदी बोल सकते हैं झूठ! कोरोना से हुई मौतों को लेकर राहुल ने साधा केंद्र पर निशाना