BREAKING NEWS

निर्मला सीतारमण पूर्व PM एच डी देवेगौड़ा का हालचाल जानने पहुंचीं◾America Cyclone : अमेरिका के फ्लोरिडा में चक्रवात से भारी तबाही, बिजली गुल होने से 25 लाख लोग प्रभावित◾दशहरे पर हैदराबाद में मंच सजाएंगे केसीआर, राष्ट्रीय दल की करेंगे घोषणा ◾गहलोत को झटका, सचिन को ताज ? सोनिया गांधी से दोनों के मुलाकात अलग -अलग मायने◾Congress: सोनिया गांधी अगले दो दिन के अंदर सीएम पद के लिए करेगी फैसला, जानें पूरी मिस्ट्री ◾दिग्विजय सिंह का कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय ? परिस्थिति के अनुसार बदलते गए समीकरण ◾2023 में ही तेजस्वी को सीएम बनाएंगे नीतीश ? आरजेड़ी नेता के बयान को लगी सियासी हवा ◾पंजाब : चर्च में तोड़फोड़, धार्मिक तनाव, छावनी में तब्दील हुआ घटनास्थल◾Maharashtra: ठाकरे का एकनाथ शिंदे पर तीखा वार- भगवा ध्वज दिल में होना चाहिए, केवल हाथ में नहीं ◾14 साल पहले गोद ली गई लड़की ने आशिक के साथ मिलकर घोटा पिता का गला, दोनों गिरफ्तार ◾इशारों-इशारों में अखिलेश ने दिए मायावती से फिर दोस्ती के संकेत, सपा और बसपा का हो सकता है गठबंधन?◾कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे अशोक गहलोत, सोनिया से मांगी माफी◾असम में दर्दनाक हादसा, ब्रह्मपुत्र नदी में नाव डूबने से 10 लोग लापता, SDRF- NDRF ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया ◾पीएफआई को केरल हाईकोर्ट ने दी बड़ी चोट, हिंसा में तोड़फोड़ का वसूला जाएगा हर्जाना ◾बिहार : बालू माफियाओं के बीच वर्चस्व की खूनी जंग, पांच लोगों की हत्या ◾राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले फटे पोस्टर, कांग्रेस ने भाजपा पर उठाए सवाल ◾बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन ? गठबंधन टूटने के बाद सियासी समीकरणों को साधने की कोशिश◾UP News: अलीगढ़ की मीट फैक्ट्री में हादसा, अमोनिया गैस का हुआ रिसाव, 50 मजदूर बेहोश, DM-SP मौके पर मौजूद ◾दिग्विजय भी लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, कल दाखिल करेंगे नामांकन पत्र ◾उत्तर प्रदेश : छोटी सी बात को लेकर हुआ पति-पत्नी में विवाद, लेनी पड़ी एक अपनी जान ◾

BSP से जुड़े लोग नहीं होंगे गुमराह, हम सत्ता में आए तो ब्राह्मण समाज की करेंगे रक्षा : मायावती

उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रतिशोध के साथ ब्राह्मण कार्ड खेल रही है और बसपा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा का परिवार अभियान में अहम भूमिका निभा रहा है। इस बीच बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने लखनऊ के पार्टी कार्यालय में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में हिस्सा लिया। कार्यक्रम में सतीश चंद्र मिश्रा भी मौजूद रहे।

इस दौरान मायावती ने कहा कि दलित वर्ग के लोगों पर शुरू से गर्व रहा है कि उन्होंने बिना गुमराह और बहकावे में आए कठिन से कठिन दौर में भी पार्टी का साथ नहीं छोड़ा। ये लोग मज़बूत चट्टान की तरह पार्टी के साथ खड़े रहे हैं। उम्मीद है कि बसपा से जुड़े अन्य सभी वर्गों के लोग इनकी तरह आगे कभी गुमराह नहीं होंगे।

उन्होंने कहा कि ब्राम्हण समाज के लोग भी कहने लगे हैं कि, हमने BJP के प्रलोभन भरे वादों के बहकावे में आकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाकर बहुत बड़ी गलती की है। BSP की रही सरकार ने ब्राम्हण समाज के लोगों के सुरक्षा, सम्मान, तरक्की के मामले में हर स्तर पर अनेको ऐतिहासिक कार्य किए हैं। उन्होंने कहा कि मायावती ने कहा RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि हिंदू और मुसलमानों के पूर्वज एक हैं तो मैं RSS प्रमुख से पूछना चाहती हूं कि संघ और बीजेपी मुसलमानों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों करती है। -हर स्तर पर ब्राह्मण समाज का शोषण होता है।

उन्होंने कहा कि "मुख्यमंत्री के रूप में, मैंने सुनिश्चित किया है कि सभी को उचित सम्मान मिले। बसपा में ब्राह्मणों और अन्य समुदायों के हित सुरक्षित हैं। उन्होंने आगे कहा कि उन्होंने भाजपा जैसे लोगों से कभी झूठे वादे नहीं किए, बल्कि सभी के विकास और कल्याण के लिए काम किया है। महामारी में अपनी पहली सार्वजनिक उपस्थिति में, मायावती ने स्पष्ट किया कि उन्होंने महामारी के दौरान बैठकें नहीं कीं, क्योंकि इससे राज्य सरकार को अपनी पार्टी के सदस्यों को निशाना बनाने का मौका मिलता।

उन्होंने कहा, "प्रबुद्ध सम्मेलनों के लिए भी, राज्य सरकार ने प्रतिभागियों के लिए एक सीमा निर्धारित की थी। अगर संख्या सीमा से अधिक होती तो वे मेरी पार्टी के कार्यकर्ताओं को जेल में डाल देते और इससे चुनाव के लिए पार्टी का प्रचार प्रभावित होता है।" उन्होंने कहा कि बसपा द्वारा प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन शुरू करने के बाद अन्य दलों ने भी इसका अनुसरण किया।

उन्होंने आगे कहा, "लेकिन 'प्रबुद्ध वर्ग' इतना बुद्धिमान है कि यह जान सकते हैं कि उनके हित कहां सुरक्षित हैं।" मायावती ने अपनी पार्टी के नेताओं से राज्य के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम 1,000 ब्राह्मणों को नामांकित करने के लिए भी कहा है।

बरादर को नहीं मिलेगी अफगानिस्तान की कमान, नए प्रमुख हो सकते हैं मुल्ला हसन अखुंद