BREAKING NEWS

NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾ऑड-ईवन योजना का अंतिम दिन आज, स्कीम को आगे बढ़ाने पर संशय बरकरार◾तीस हजारी कांड : पथराव करने वाले वकील ही थे, क्या गारंटी?◾INX मीडिया मामला: चिदंबरम की जमानत याचिका पर आज आ सकता है कोर्ट का फैसला◾महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन के खिलाफ SC में याचिका दायर◾चीन के साथ 1962 के युद्ध ने विश्व मंच पर भारत की स्थिति को काफी नुकसान पहुंचाया : जयशंकर ◾झारखंड में रघुबर दास नहीं, मोदी-शाह करेंगे चुनाव प्रचार का नेतृत्व ◾भारत ने अयोध्या, कश्मीर पर पाकिस्तानी दुष्प्रचार का दिया करारा जवाब◾शी चिनफिंग और मोदी के बीच वार्ता ◾महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना में विलगाव ने कांग्रेस-राकांपा को किया है एकजुट ◾गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को जायेंगे सीआरपीएफ के मुख्यालय ◾झारखंड : भाजपा ने 15 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की ◾JNU में विवेकानंद की प्रतिमा के चबूतरे पर आपत्तिजनक संदेश◾राफेल की कीमत, ऑफसेट के भागीदारों के मुद्दों पर सरकार के निर्णय को न्यायालय ने सही करार दिया : सीतारमण ◾झारखंड चुनाव के पहले चरण के लिए कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी ◾आतंकवाद के कारण विश्व अर्थव्यवस्था को 1,000 अरब डॉलर का नुकसान : PM मोदी◾महाराष्ट्र गतिरोध : कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना में बातचीत, सोनिया से मिल सकते हैं पवार ◾

उत्तर प्रदेश

मायावती ने किया ट्वीट - दलित बच्चों के साथ हो रहे भेदभाव अति-निन्दनीय, कार्रवाई करे सरकार

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने बलिया क्षेत्र में दलित बच्चों के साथ हो रहे भेदभाव को लेकर कार्रवाई की मांग की है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि "यूपी के बलिया जिले के सरकारी स्कूल में दलित छात्रों को अलग बैठाकर भोजन कराने की खबर अति-दुःखद व अति-निन्दनीय। 

बीएसपी की माँग है कि ऐसे घिनौने जातिवादी भेदभाव के दोषियों के खिलाफ राज्य सरकार तुरन्त सख्त कानूनी कार्रवाई करे ताकि दूसरों को इससे सबक मिले व इसकी पुनरावृति न हो।"

बता दें कि बलिया के रामपुर क्षेत्र में प्राथमिक विद्यालय कुछ बच्चे अपने घर से खाने के लिए प्लेट लाते हैं और एसटी, एससी बच्चों के साथ मिड डे मील नहीं खाते हैं। एक बच्चे ने कहा कि स्कूल कि प्लेटों में सब लोग खाना खाते हैं। इसलिए हम अपनी प्लेट घर से लाते है।

वहीँ, स्कूल के प्रिंसीपल पुरुषोत्तम गुप्ता ने कहा, "हम बच्चों से साथ बैठ कर खाने को कहते हैं लेकिन टीचर जैसे ही जाते हैं, वे लोग फिर से अलग हो जाते हैं. स्कूल प्रशासन ने बच्चों को काफी समझाया कि सभी बच्चे एक समान हैं लेकिन अगड़ी जाति के बच्चे निचली जाति के बच्चों से दूर बैठ कर ही खाना खाने की कोशिश करते हैं।" 


लेह में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पाकिस्तान का कश्मीर पर कोई हक नहीं है