यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली-सहारनपुर हाईवे के शिलान्यास के दौरान किसानों को सलाह दी है कि वे गन्ना कम उगाएं, क्योंकि ज्यादा चीनी खाने से लोगों को डायबिटीज होती है। किसानों को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने गन्ना किसानों को गन्ने के अन्य विकल्पों पर भी फोकस करने की बात कही। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बात किसानों ही शुरू की। 36 हजार करोड़ रुपये के भुगतान करने और 10 हजार करोड़ जल्द करने का दावा किया।

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और योगी का पूरा भाषण किसानों के ईर्द-गिर्द ही घूमता रहा। बायो ईंधन से किसानों की आय बढ़ाने की उम्मीद जगाई। हालांकि जिस वक्त सीएम किसानों को बकाया भुगतान दिलाने की बात कर रहे थे, भीड़ में खड़े होकर किसानों ने हाथ हिलाकर नाराजगी जाहिर की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने लोन का जिक्र करते हुए कहा कि 15 अक्तूबर तक भुगतान हर हाल में देना होगा, किसानों के साथ नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी। दरअसल योगी आदित्यनाथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के साथ बागपत में बड़ौत के जाट कॉलेज में फोर लेन सड़क का शिलान्यास करने पहुंचे थे।