BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश सरकार के 4 मंत्रियों से यूं ही नहीं लिए गए इस्तीफे ◾LIVE : सीबीआई ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार, CBI मुख्यालय में हो रही पूछताछ !◾ED ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ाया ◾वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने मिग 21 उड़ाना किया शुरू◾मैं कानून से छिप नहीं रहा था, आशा है कि एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी : चिदंबरम◾राजनीतिक प्रतिशोध के तहत हो रही है कार्रवाई : कार्ती चिदंबरम ◾चिदंबरम पर उसी मामले में लटक रही है तलवार जिसमें उनके बेटे को जाना पड़ा था जेल◾चिदंबरम ईमानदार हैं तो भाग क्यों रहे हैं : श्रीकांत◾पी चिदंबरम मामले पर बोले अखिलेश : सरकार से लड़ना है तो कागज की लड़ाई जीतनी पड़ेगी ◾Modi सरकार की कंपनियों को बड़ी राहत, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी इसकी जानकारी !◾अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं : अखिलेश◾प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना , कहा - सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं औद्योगिक संस्थाओं के विज्ञापन◾TOP 20 NEWS 21 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾INX मीडिया मामले में चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾SC में अयोध्या मामले की सुनवाई, हिंदू पक्ष के वकील ने रामलला को बताया नाबालिग◾सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका पर तत्काल सुनवाई से किया इनकार ◾PM मोदी ने जाम्बिया के राष्ट्रपति से की बातचीत, खनन और कारोबारी सहयोग पर दिया जोर ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾

उत्तर प्रदेश

यूपी में गृहमंत्री की जरूरत : शिवपाल

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने उत्तर प्रदेश की आबादी का हवाला देते हुये राज्य में गृहमंत्री की नियुक्ति की मांग की है। 

श्री यादव ने शनिवार को कहा कि उत्तर प्रदेश की आबादी यूरोप और अफ्रीका के बड़ देशों से भी अधिक है जहां कानून-व्यवस्था अति संवेदनशील विषय है। राज्य सरकार एवं प्रशासन की पहली प्राथमिकता जान-माल की सुरक्षा होनी चाहिए, ऐसे में गृहमंत्री का स्वतंत्र पद होना आवश्यक है। 

सोनभद, प्रकरण पर राज्य सरकार पर लचर रवैया अपनाये जाने का आरोप लगाते हुये उन्होने मृतकों के परिजन को 25 लाख और घायलों को पांच लाख रूपये देने की मांग की। उन्होने कहा कि सोनभद, की घटना सम्पूर्ण मानवता को शर्मसार करने वाली दु:खद व दुर्भाज्ञपूर्ण घटना है जिसकी जितनी निंदा की जाय कम है। राज्य सरकार और प्रशासन इस त्रासद घटना से सबक लें और जल्द बड़ कदम उठाये ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। 

श्री यादव ने कहा कि सरकार उदासीन रवैया अपनाने वाले उच्च-अधिकारियों पर कड़ कार्यवाही करें जिससे जनमानस का विश्वास लोकतांत्रिक संस्थाओं पर बना रहे। उन्होने सभी राजनीतिक दलों से अपील की है कि ऐसे मानवीय प्रश्नों पर मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए समस्याओं के स्थायी समाधान के लिये हेतु प्रयास करना चाहिए।