BREAKING NEWS

लेह से चीन को PM मोदी का सख्त सन्देश, बोले- इतिहास गवाह है कि विस्तारवादी ताकतों को हमेशा मिली हार◾PM मोदी के लेह दौरे से तिलमिलाया ड्रैगन, कहा-कोई पक्ष हालात न बिगाड़े ◾चीन और पाकिस्तान से बिजली उपकरणों का आयात नहीं करेगा भारत ◾PM मोदी के लेह दौरे पर सियासत शुरू, मनीष तिवारी बोले- जब इंदिरा गई थीं तो पाक के दो टुकड़े किए थे◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 8 लाख के पार, सवा पांच लाख के करीब लोगों की मौत◾कानपुर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को CM योगी ने दी श्रद्धांजलि, कहा-व्यर्थ नहीं जाएगा यह बलिदान ◾चीन के साथ तनाव के बीच PM मोदी का औचक लेह दौरा, अग्रिम पोस्ट पर जवानों से की मुलाकात◾देश में एक दिन में 20 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा सवा छह लाख के पार◾15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन COVAXIN, 7 जुलाई से शुरू होगा ह्यूमन ट्रायल◾जम्मू-कश्मीर : श्रीनगर में मुठभेड़ में CRPF का एक जवान शहीद, एक आतंकवादी भी ढेर◾कानपुर में अपराधियों को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, मुठभेड़ में आठ पुलिसकर्मी शहीद◾मुंबई : बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन◾Covid 19 : अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 27 लाख के पार, सवा एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾महाराष्ट्र में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, एक दिन में 6,330 नए मामलों के साथ राज्य में मौत का आंकड़ा 8,178◾गूगल प्ले स्टोर, एपल ऐप स्टोर से हटी भारत सरकार द्वारा बैन चीन की 59 ऐप, कंपनियों ने रोया दुखड़ा ◾दिल्ली में कोरोना के 2,373 नए मरीज आये सामने , कुल मामले बढ़कर 92,000 के पार ◾अप्रैल 2023 से शुरू होगा निजी ट्रेनों का परिचालन, जानिये सफर में क्या होंगे खास और आधुनिक बदलाव◾कांग्रेस को चुनौती देते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया का पलटवार, कहा - टाइगर अभी जिंदा है ◾म्यांमार में बड़ा हादसा, हरे पत्थर की खदान में भूस्खलन से करीब 123 लोगों की मौत ◾चीन के साथ तनाव के बीच, लद्दाख में भारत ने स्पेशल फोर्स के जवानों को तैनात किया◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को नोटिस भेजा जा चुका है, जवाब का है इंतजार : लल्लू कुमार सिंह

उप्र कांग्रेस अध्यक्ष ने शुक्रवार को कहा कि अनुशासनहीनता के चलते वरिष्ठ नेताओं को नोटिस भेजा जा चुका है और उनके जवाब का इंतजार किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने गुरुवार को पार्टी के 11 वरिष्ठ नेताओं को अनुशासनहीनता के चलते नोटिस जारी कर 24 घंटे में स्पष्टीकरण मांगा। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू कुमार सिंह द्वारा डेंगू बीमारी पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन के बाद पत्रकारों ने वरिष्ठ नेताओं को भेजे गये नोटिस पर सवाल पूछे। इस पर उन्होंने कहा कि अभी उन्हें नोटिस भेजा गया है, जवाब का इंतजार किया जा रहा है। 

मुंबई में शिवसेना ने मारी बाजी, किशोरी पेडनेकर बीएमसी की नई मेयर चुनीं गईं  

जवाब के क्रम में अभी कोई सूचना प्राप्त नही हुई है क्योंकि अभी समय है, समय बीतने के बाद नोटिस का जवाब नही आता है तब देखा जायेगा। उनसे पूछा गया कि इससे पहले कांग्रेस की रायबरेली सदर की विधायक अदिति सिंह को भी अनुशासनहीनता का एक नोटिस भेजा गया था, उसका क्या हुआ। इस पर उन्होंने कहा ''विधायक अदिति सिंह को नोटिस भेजा गया था। अब इसका क्या जवाब आया है वह उन्हें मालूम नही है। इस बारे में वह कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता अराधना मिश्रा से पता करेंगे तब कोई जानकारी दे पायेंगे।’’ 

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष लल्लू से पूछा गया कि क्या उनके अध्यक्ष पद संभालते ही पार्टी के वरिष्ठ नेता बगावती तेवर अपना रहे है, इस पर उन्होंने इस मामले को टालते हुये कहा कि ''यह प्रेस कांफ्रेस डेंगू को लेकर आयोजित की गयी है ।'' पार्टी की ओर से गुरूवार को जारी विज्ञप्ति में कहा गया, अनुशासन समिति के सदस्य अजय राय, पूर्व विधायक द्वारा उत्तर प्रदेश की प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी व प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के निर्देश पर विगत दिनों में अनुशासनहीनता करने पर नोटिस जारी कर चौबीस घण्टे में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने हेतु जवाब मांगा गया है। 

विज्ञप्ति में कहा गया था कि संतोष सिंह पूर्व सांसद, सिराज मेंहदी पूर्व विधान पार्षद, रामकृष्ण द्विवेदी पूर्व गृहमंत्री, सत्य देव त्रिपाठी पूर्व मंत्री, राजेन्द्र सिंह सोलंकी सदस्य एआईसीसी, भूधर नारायण मिश्र पूर्व विधायक, हाफिज मोहम्मद उमर पूर्व विधायक, विनोद चैधरी पूर्व विधायक, नेक चन्द्र पाण्डेय पूर्व विधायक, स्वयं प्रकाश गोस्वामी पूर्व अध्यक्ष युवा कांग्रेस, संजीव सिंह पूर्व जिलाध्यक्ष गोरखपुर को नोटिस जारी किया गया है। 

नेताओं को भेजे नोटिस में कहा गया था कि अनुशासन समिति के संज्ञान में अखबारों के जरिए आया है कि आप अनावश्यक रूप से लगातार यूपीसीसी से जुड़े अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के फैसलों का सार्वजनिक बैठकें कर विरोध करते आए हैं। इसमें कहा गया कि इन बैठकों और मीडिया बयानों से कांग्रेस की छवि धूमिल हुई है। आप जैसे वरिष्ठ नेताओं से यह उम्मीद नहीं थी। आपका बर्ताव पार्टी की नीतियों और विचारों के खिलाफ है। नोटिस में कहा गया था कि ये बर्ताव अनुशासनहीनता के दायरे में आता है। आप 24 घंटे में स्पष्ट करें कि आपके खिलाफ क्यों न अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए ।