BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

फरीदाबाद में छिपा था कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे, पुलिस की छापेमारी से पहले ही भाग गया

 पिछले सप्ताह दबिश देने पहुंची पुलिस पर अंधाधुंध गोलीबारी कर आठ पुलिस कर्मियों की जान लेने के मामले का मुख्य आरोपी विकास दुबे फरीदाबाद में छिपा था लेकिन पुलिस की छापेमारी से पहले ही वह, वहां से भाग निकला। इस बीच, विकास के मुख्य सहयोगी कार्तिकेय और अन्य आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा। कार्तिकेय उर्फ प्रभात के पास से 4 पिस्टल और 44 कारतूस बरामद किए गए हैं। 

पुलिस ने बताया कि विकास दुबे भी पांच जुलाई से फरीदाबाद में ही था लेकिन छापेमारी से पहले वह वहां से जा चुका था। मुठभेड़ के सिलसिले में फरीदाबाद में गिरफ्तार किए गए विकास दुबे के तीन सहयोगियों में से एक श्रवण के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। दरअसल सरकार के दिशा-निर्देश के अनुसार, किसी भी आरोपी को गिरफ्तारी के बाद अदालत में पेश करने से पहले उसकी कोविड-19 जांच करायी जाती है। 

गौरतलब है कि कानपुर में पिछले सप्ताह हुई मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक सहित आठ पुलिसकर्मी मारे गए थे। विकास दुबे इस कांड का मुख्य आरोपी है जिस पर पांच लाख रुपये का इनाम घोषित है। उत्तर प्रदेश पुलिस को दिल्ली के निकट फरीदाबाद में दुबे की मौजूदगी का सुराग मिला था। 

सूत्रों ने बताया कि मंगलवार की शाम, अपराध शाखा, फरीदाबाद को गुप्त सूचना मिली कि कुख्यात अपराधी विकास दुबे के कुछ सहयोगी हथियार सहित नहर पार एरिया के हरि नगर स्थित न्यू इंदिरा नगर कॉम्प्लेक्स में छिपे हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस कमिश्रर ओ.पी. सिंह ने डीसीपी (अपराध) मकसूद अहमद को आरोपियों की धरपकड़ के निर्देश दिए। अहमद की अगुवाई में एसीपी (अपराध) अनिल यादव ने तीन टीमों के साथ नहर पार एरिया में छापेमारी की। 

कानपुर : मुखबिरी के आरोप में चौबेपुर थाने के पूर्व SO विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार

सूत्रों के अनुसार, छापे के दौरान छिपे बदमाशों ने पुलिस पर गोलीबारी कर भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उन्हें धर दबोचा। गिरफ्तार आरोपी कार्तिकेय उर्फ प्रभात, अंकुर और श्रवण हैं। डीसीपी (अपराध) मकसूद अहमद ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ पुलिस पर गोलीबारी करने, अवैध हथियार रखने सहित आईपीसी की संबंधित धाराओं के अंतर्गत थाना खेड़ी पुल में मुकदमा दर्ज किया गया। 

पुलिस सूत्रों के अनुसार, उत्तर प्रदेश के अपराधी प्रभात उर्फ कार्तिकेय को आरोपी अंकुर और उसके पिता श्रवण ने अपने घर में पनाह दी थी। पूछताछ में कार्तिकेय ने बताया कि उसने और कुख्यात अपराधी विकास दुबे ने, विकास की रिश्तेदार शांति मिश्रा के घर में पनाह ली थी। 

सूत्रों के अनुसार, विकास दुबे पुलिस के आने से कुछ घंटे पहले फरार हो गया था। प्रभात उर्फ कार्तिकेय ने पूछताछ में यह भी बताया कि वह विकास दुबे के साथ बिखरू गांव में पुलिस पर गोलीबारी करने में शामिल था। आरोपी प्रभात उर्फ कार्तिकेय ने बताया कि विकास दुबे और उसने पुलिस पर हमला किया और घायल पुलिस वालों की दो पिस्टल तथा कारतूस छीन कर फरार हो गए थे। 

सूत्रों ने बताया कि प्रभात उर्फ कार्तिकेय के अनुसार, फरार होने के बाद दो दिन तक वे लोग दो दिन तक दोस्त के घर शिवली (उप्र) में रहे थे। उसने पुलिस पर हमला करने वाले एक अन्य मुख्य आरोपी अमर दुबे के, उप्र के हमीरपुर में होने की जानकारी भी दी।  श्रवण और अंकुर पिता-पुत्र हैं और उनके खिलाफ खेरी पुल थाने में मामला दर्ज किया गया है। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर , बदमाशों को आश्रय देने के आरोप में जेल भेज दिया गया है। विकास दुबे के मुख्य सहयोगी, आरोपी कार्तिकेय को अदालत ने उप्र पुलिस की मांग पर ट्रांजिट रिमांड पर उप्र एसटीएफ के सुपुर्द किया है। 

कानपुर एनकाउंटर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम राशि को बढ़ाकर किया गया 5 लाख रुपए

डीसीपी क्राइम ने बताया कि आरोपी के कब्जे से उप्र पुलिसकर्मियों से छीनी हुई 2 पिस्टल 9एमएम और 2 देसी पिस्टल 9एमएम सहित 44 कारतूस, एक खाली खोल, एक पिट्ठू बैग और 3000 रुपये बरामद हुए हैं। उल्लेखनीय है कि विकास दुबे गत दो-तीन जुलाई की मध्यरात्रि को कानपुर के बिकरू गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या किए जाने संबंधी मामले का मुख्य आरोपी है। उस पर पांच लाख रुपए का इनाम घोषित है। वह अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। 

सूत्रों के अनुसार, कई मामलों में वांछित विकास दुबे पांच जुलाई को ही फरीदाबाद पहुंच गया था। वह पहले न्यू इंदिरा नगर कॉम्प्लेक्स में अपने रिश्तेदार अंकुर के पास ठहरा। बाद में वह किसी होटल में रहने चला गया। पुलिस ने बताया कि उन्हें न्यू इंदिरा नगर कॉम्प्लेक्स से ही सुराग हाथ लगा था, जिसके बाद अंकुर को हिरासत में लिया गया। उसने दुबे के होटल में ठहरे होने की सूचना दी। फऱीदाबाद पुलिस ने छापेमारी की और वहां से प्रभात उर्फ़ कार्तिकेय को गिरफ्तार किया। इस बीच दुबे वहां से फरार हो चुका था। 

श्रवण के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद जेल प्रशासन को इसकी सूचना दे दी गई है और वहां इस संबंध में सरकार के निर्देशों का पूरा-पूरा पालन किया जा रहा है।