BREAKING NEWS

दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾दिल्ली अग्निकांड : दमकलकर्मी ने इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया ◾दिल्ली अग्निकांड : इमारत का पिछले हफ्ते हुआ था सर्वेक्षण, ऊपरी मंजिलों पर ताला लगा हुआ था - अधिकारिक सूत्र◾नागरिकता संशोधन विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश करेंगे शाह◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾देश में आग की नौ बड़ी घटनाएं ◾भाजपा पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस पहले 70 साल का हिसाब दे : स्मृति इरानी◾PM मोदी ने पुणे के अस्पताल में अरुण शौरी से मुलाकात की◾दिल्ली अनाज मंडी हादसा में फैक्ट्री मालिक हिरासत में◾TOP 20 NEWS 8 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PM मोदी ने दक्षेस चार्टर दिवस पर सदस्य देशों के लोगों को दी बधाई ◾संसद में नागरिकता विधेयक का पारित होना गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की होगी जीत : शशि थरूर◾अनाज मंडी हादसे के लिए दिल्ली सरकार और MCD जिम्मेदार: सुभाष चोपड़ा◾दिल्ली आग: PM मोदी ने की मृतक के परिवारों के लिए 2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा◾दिल्ली आग: दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ दर्ज किया मामला◾

उत्तर प्रदेश

अब यूपी की सड़को पर नहीं पढ़ी जाएगी नमाज, न ही होगा कोई धार्मिक आयोजन

 namaz

मेरठ और अलीगढ़ में सड़क पर नमाज को रोकने पर सफलता मिली है। जिसके बाद अब योगी सरकार उत्तर प्रदेश की सड़कों पर भी नमाज पढ़ने पर बैन लगाने जा रही है। अगर ये मॉडल पूरे राज्य में लागू होता है तो सरकार एक बड़ा विवाद खत्म करने में सफल होगी। 

डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने बताया है कि अब कोई भी समुदाय किसी भी प्रकार का धार्मिक आयोजन सड़क पर नहीं करेगा, जिससे लोगों को परेशानी और यातायात प्रभावित हो। उन्होंने बताया कि अब किसी भी प्रकार के धार्मिक आयोजन की अनुमति प्रशासन की तरफ से नहीं होगी।

वही, हिंदू संगठन के लोगों का कहना हैं कि सड़कों पर नमाज पढ़ने की वजह से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं। इसके विरोध में संगठनों मंदिर के सामने की सड़क पर पूजा-अर्चना करना शुरू कर दिया। बता दें कि जब सड़कों पर नमाज पढ़ने से रोका गया तो कुछ लोगों ने इसका विरोध किया।

मुस्लिम समाज ने योगी सरकार के मॉडल का किया स्वागत 

मुस्लिम समाज ने योगी सरकार की इस योजना का स्वागत किया। बताया गया कि अब खास मौकों पर ऐसे आयोजन के लिए जिला प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। बता दें कि ईद के दौरान अलीगढ़ और मेरठ में जिला प्रशासन ने आदेश जारी किया था कि सड़क पर पढ़ी जानी वाली नमाज को घरों की छतों पर पढ़ा जाए। वहीँ, ऊंट जैसे बड़े जानवर की कुर्बानी पर भी रोक लगाई गई है। अब दोनों जिलों में सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ने और पूजा करने के लिए पूरी तरह प्रतिबंध लग चुका है।