BREAKING NEWS

नफरत और दुर्व्यवहार के कारण पाकिस्तान टीम को कभी कोचिंग देने के बारे में नहीं सोचा: वसीम अकरम◾राहुल गांधी बोले- ‘मित्रकाल बजट’ से साबित हुआ कि सरकार के पास भविष्य के निर्माण की कोई रूपरेखा नहीं◾Peshawar Mosque Attack: आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई तेज, 17 संदिग्ध गिरफ्तार◾दिल्ली: LG सक्सेना ने 6 फरवरी को मेयर चुनने के लिए MCD सदन का सत्र बुलाने को मंजूरी दी ◾एयर मार्शल एपी सिंह ने भारतीय वायुसेना के उप प्रमुख का पद संभाला◾UP News: मुजफ्फरनगर में तीन वर्ष की बच्‍ची से दुष्कर्म और हत्या के दोषी को फांसी की सजा◾Britain: वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर शिक्षकों व सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों की हड़ताल◾चाहे कितनी भी हो आमदनी इन देशों में नहीं देना पड़ता टैक्स◾खाने को मौैहताज पाकिस्तान में गाड़ी की बड़ी कीमतें 26 लाख की हुई वैगनर , तीन लाख की स्पलेंडर ◾PM नरेंद्र मोदी ने कहा- बजट विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा◾मल्लिकार्जुन खड़गे बोले- भाजपा पर जनता के लगातार गिरते विश्वास का सबूत है यह बजट◾Noida suicide : डीपीएस स्कूल की टीचर ने सातवीं मंजिल से कूदकर दी जान, जांच में जुटी पुलिस ◾पश्चिम बंगाल : मुख्यमंत्री ममता ने केंद्रीय बजट को बताया जनविरोधी, कहा- गरीबों को अनदेखा किया◾बसपा सुप्रीमो ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोलीं- बजट पार्टी से ज्यादा देश के लिए हो तो बेहतर है◾बजट पर केजरीवाल बोले- 1.75 लाख करोड़ आयकर देने के बावजूद दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये मिले ◾आम बजट अमृतकाल की मजबूत आधारशिला रखने वाला: अमित शाह◾पूर्व फुटबॉलर परिमल डे का निधन, लंबे समय से थे बीमार ◾मुख्तार अब्बास नकवी बोले- यह बजट देश के सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण का गजट है◾सरकारी जमीन पर कब्जा जमाए बैठे लोगों पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया एक्शन ◾बजट पर कांग्रेस ने कसा तंज, कहा: मोदी सरकार की रणनीति ‘वादे ज्यादा, काम कम’ की है◾

विपक्ष किसानों को बरगला रहा, अन्नदाता के बहाने अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है : सिद्धार्थ सिंह

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि विपक्ष किसानों को बरगला रहा है। किसानों के बहाने वह अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है। राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा और अपने जारी बयान में कहा कि विपक्षी दल किसानों को बरगलाकर अपने हितों को साधने में लगा है। कहा कि आज जो लोग किसानों के हमदर्द बन रहे हैं वही आजादी के बाद से वर्ष 2014 तक उसकी बबार्दी की वजह भी थे। 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार किसानों के अधिकतम हित को केंद्र मानकर योजनाएं बनीं। दशकों से लंबित परियोजनाओं को प्रधामंत्री सिंचाई योजना में शामिल कर उनको पूरा कराया गया। कई योजनाएं पूरा होने के कगार पर हैं। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस स्वामीनाथन आयोग की जिस रिपोर्ट पर वर्षो से कुंडली मारे बैठी थी, उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही लागू किया। अब किसानों को उनकी फसल के लागत का डेढ़ गुना मूल्य मिल रहा है। खाद-बीज जैसे बुनियादी कृषि निवेशों के लिए पहले किसानों पर लाठियां चलती थीं। अब ऐसी खबरों को लोग भूल चुके हैं। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस बाबत काम भी चल रहे हैं। किसान अब पहले से अधिक खुशहाल हैं। किसानों को बदहाल बनाकर उसे वोट बैंक के रूप में रखने वाले विपक्ष को किसानों की यह खुशहाली रास नहीं आ रही है। लिहाजा वह किसानों को बरगलाने में लगा है। पर उसकी दाल गलने से रही। 

मंत्री ने कहा कि हाल में आए आम बजट में भी गांव और किसानों का खास खयाल रखा गया है। ग्रामीण क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्च र फंड बढ़ाकर 40 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। 1000 नई और आधुनिक मंडियों की व्यवस्था की जा रही है। इसका फायदा किसानों को मिलेगा। वह आत्मनिर्भर बनेंगे। खेती फायदे का सौदा होगी। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से गांव में लोगों के पास अपनी जमीन-मकान के कागज होंगे। कोई उनपर कब्जा नहीं कर सकेगा। इसके आधार पर उनको आसानी से कर्ज भी मिल जाएगा। 

उन्होंने कहा कि चौरीचौरा शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री भी कह चुके हैं कि पहले की सरकारें किसानों को वोट बैंक का बही खाता समझती थीं। किसानों के हित में सिर्फ घोषणाएं होती थीं, अमल नहीं। अब जब योजनाओं पर अमल हो रहा है। हालात बदल रहे हैं। यह बदलाव दिख रहा है तो विपक्ष की पीड़ा स्वाभाविक है। उन्होंने किसान भाइयों से अपील की कि किसी के बहकावे में आने की बजाय यह देखें कि कौन उनका हितैषी है और कौन अपने लाभ के लिए उनका प्रयोग कर रहा है। 

गुजरात HC की डायमंड जुबिली, PM मोदी बोले-कोरोना काल में भी न्यायपालिका ने दिखाया समर्पण