BREAKING NEWS

EC ने रैली-रोड शो पर लगी पाबंदी को 31 जनवरी तक बढ़ाया, दूसरे तरीकों से प्रचार करने पर दी गई ढील ◾गृहमंत्री शाह ने कैराना में मांगे घर-घर BJP के लिए वोट, पलायन कराने वालों पर साधा निशाना ◾ चन्नी और सिद्धू दोनों पंजाब के लिए निकम्मे हैं, कांग्रेस के अंदर की लड़ाई ही उनको चुनाव में सबक सिखाएगीः कैप्टन◾निर्वाचन आयोग : चुनाव वाले राज्यों के शीर्ष अधिकारियों से करेगा मुलाकात, कोविड की स्तिथि का लेंगे जायजा ◾ दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR , पूर्व सीएम बोले- हमने कोई अपराध नहीं किया◾पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾UP में CM कैंडिडेट वाले बयान पर बोलीं प्रियंका-मैं चिढ़ गई थी, क्योंकि.....◾Today's Corona Update : 24 घंटे में 3.37 लाख से ज्यादा नए केस, 488 मरीजों की मौत ◾ UP विधानसभा चुनाव : बिजनौर और अमरोहा का दौरा कर पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र देंगे नड्डा◾

विपक्ष किसानों को बरगला रहा, अन्नदाता के बहाने अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है : सिद्धार्थ सिंह

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि विपक्ष किसानों को बरगला रहा है। किसानों के बहाने वह अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रहा है। राज्य सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा और अपने जारी बयान में कहा कि विपक्षी दल किसानों को बरगलाकर अपने हितों को साधने में लगा है। कहा कि आज जो लोग किसानों के हमदर्द बन रहे हैं वही आजादी के बाद से वर्ष 2014 तक उसकी बबार्दी की वजह भी थे। 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार किसानों के अधिकतम हित को केंद्र मानकर योजनाएं बनीं। दशकों से लंबित परियोजनाओं को प्रधामंत्री सिंचाई योजना में शामिल कर उनको पूरा कराया गया। कई योजनाएं पूरा होने के कगार पर हैं। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस स्वामीनाथन आयोग की जिस रिपोर्ट पर वर्षो से कुंडली मारे बैठी थी, उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही लागू किया। अब किसानों को उनकी फसल के लागत का डेढ़ गुना मूल्य मिल रहा है। खाद-बीज जैसे बुनियादी कृषि निवेशों के लिए पहले किसानों पर लाठियां चलती थीं। अब ऐसी खबरों को लोग भूल चुके हैं। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस बाबत काम भी चल रहे हैं। किसान अब पहले से अधिक खुशहाल हैं। किसानों को बदहाल बनाकर उसे वोट बैंक के रूप में रखने वाले विपक्ष को किसानों की यह खुशहाली रास नहीं आ रही है। लिहाजा वह किसानों को बरगलाने में लगा है। पर उसकी दाल गलने से रही। 

मंत्री ने कहा कि हाल में आए आम बजट में भी गांव और किसानों का खास खयाल रखा गया है। ग्रामीण क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्च र फंड बढ़ाकर 40 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। 1000 नई और आधुनिक मंडियों की व्यवस्था की जा रही है। इसका फायदा किसानों को मिलेगा। वह आत्मनिर्भर बनेंगे। खेती फायदे का सौदा होगी। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से गांव में लोगों के पास अपनी जमीन-मकान के कागज होंगे। कोई उनपर कब्जा नहीं कर सकेगा। इसके आधार पर उनको आसानी से कर्ज भी मिल जाएगा। 

उन्होंने कहा कि चौरीचौरा शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री भी कह चुके हैं कि पहले की सरकारें किसानों को वोट बैंक का बही खाता समझती थीं। किसानों के हित में सिर्फ घोषणाएं होती थीं, अमल नहीं। अब जब योजनाओं पर अमल हो रहा है। हालात बदल रहे हैं। यह बदलाव दिख रहा है तो विपक्ष की पीड़ा स्वाभाविक है। उन्होंने किसान भाइयों से अपील की कि किसी के बहकावे में आने की बजाय यह देखें कि कौन उनका हितैषी है और कौन अपने लाभ के लिए उनका प्रयोग कर रहा है। 

गुजरात HC की डायमंड जुबिली, PM मोदी बोले-कोरोना काल में भी न्यायपालिका ने दिखाया समर्पण