लखनऊ :  उत्तर प्रदेश सरकार ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की सजा कम किये जाने के सम्बन्ध में जालौन के जिलाधिकारी (डीएम) की कथित सिफारिश के मामले में जांच के आदेश दिये हैं। जालौन के जिलाधिकारी मन्नान अख्तर पर श्री यादव की सजा कम करने की सिफारिश करने का आरोप लगा है। जांच झांसी के मण्डलायुक्त अमित गुप्ता के सौंपी गयी है। श्री गुप्ता ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि उन्हें पता चला है कि कल देर शाम राज्य सरकार ने जांच का आदेश उन्हें सौंपा है, लेकिन अभी तक उनके पास लिखित आदेश नहीं पहुंचा है। आदेश पहुंचते ही वह जांच शुरु कर देंगे।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार श्री यादव को सजा सुनाने वाले न्यायाधीश जालौन के रहने वाले हैं इसीलिये श्री यादव के लोगों ने जालौन के  जिलाधिकारी से सम्पर्क किया था। जालौन के जिलाधिकारी से इस सिलसिले में कई बार सम्पर्क साधने की कोशिश की गयी लेकिन फोन पर वह नहीं आये। गौरतलब है कि राजद अध्यक्ष को रांची में सीबीआई की विशेष अदालत ने चारा घोटाले के एक मामले में साढ़ तीन साल की सजा और 10 लाख रुपये जुर्माना सुनाया था। वह झारखण्ड की एक जेल में सजा काट रहे हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।