BREAKING NEWS

आरक्षण विरोधी मानसिकता त्यागे संघ : मायावती◾कश्मीर पर भारत की नीति से घबराया पाकिस्तान, अगले तीन साल पाकिस्तानी सेना प्रमुख बने रहेंगे बाजवा◾चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- सब सामान्य तो महबूबा मुफ्ती की बेटी नजरबंद क्यों◾कांग्रेस ने बीजेपी और RSS को बताया दलित-पिछड़ा विरोधी◾गृहमंत्री अमित शाह से मिले अजीत डोभाल, जम्मू कश्मीर के हालात पर हुई चर्चा◾RSS अपनी आरक्षण-विरोधी मानसिकता त्याग दे तो बेहतर है : मायावती ◾गहलोत बोले- कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र को मजबूत रखा जिसकी वजह से ही मोदी आज PM है ◾बैंकों के लिए कर्ज एवं जमा की ब्याज दरों को रेपो दर से जोड़ने का सही समय: शक्तिकांत दास◾राजीव गांधी की 75वीं जयंती: देश भर में कार्यक्रम आयोजित करेगी कांग्रेस◾दलितों-पिछड़ों को मिला आरक्षण खत्म करना BJP का असली एजेंडा : कांग्रेस ◾उन्नाव कांड: SC ने CBI को जांच पूरी करने के लिए 2 हफ्ते का समय और दिया, वकील को 5 लाख देने का आदेश◾अयोध्या भूमि विवाद मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में नहीं हुई सुनवाई ◾जम्मू-कश्मीर में पटरी पर लौटती जिंदगी, 14 दिन बाद खुले स्कूल-दफ्तर◾बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का 82 साल की उम्र में निधन◾सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पत्रकार तरुण तेजपाल की रेप आरोप रद्द करने की अपील◾उत्तरकाशी में बादल फटने से 17 की मौत, हिमाचल प्रदेश में बचाए गए 150 पर्यटक◾योगी सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार टला, ये है वजह◾प्रियंका बोली- मंदी पर सरकार की चुप्पी खतरनाक, इसका जिम्मेदार कौन है?◾राजस्थान से निर्विरोध चुने गए मनमोहन सिंह, कांग्रेस की राज्यसभा सीट में हुआ इजाफा◾महाराष्ट्र के धुले में ट्रक और बस में भीषण टक्कर, 15 लोगों की मौत◾

उत्तर प्रदेश

पेड़ के ऊपर बैठे 'बंदरिया बाबा' को देखने यूपी में उमड़ा जनसैलाब

 उत्तर प्रदेश में पेड़ के ऊपर रहने वाले 'बंदरिया बाबा' को देखने के लिए हजारों की तादाद में लोग उमड़ रहे हैं। 60 की उम्र पार कर चुके इस बाबा के पास सिमियन (नरवानर) जैसी क्षमताएं हैं। बहराइच के सुजौली में यह शख्स पेड़ पर ही खाता और सोता है। भगवा वस्त्र पहने एक साधु की वेशभूषा को धारण करने वाले इस शख्स को 'बंदरिया बाबा' के नाम से जाना जाता है। इनका कहना है कि वह भगवान हनुमान का परम भक्त है और उन्हें कई खास गुण प्रदान किए गए हैं।

'बंदरिया बाबा' ने कहा, "मेरे ऊपर भगवान हनुमान का विशेष आशीर्वाद है। उन्होंने मुझे पेड़ पर चढ़ने की क्षमता प्रदान की है। मैं पेड़ पर रहता हूं और पूजा व हवन करता हूं। मैं यही सोता भी हूं। मैं पेड़ के किसी एक शाख पर बैठकर ध्यान भी करता हूं।"

इस व्यक्ति को पीलीभीत जिले का मूल निवासी बताया जाता है और उसने हरिद्वार में कई साल बिताए हैं, लेकिन कोई उसका वास्तविक नाम नहीं जानता है। वह लगभग चार महीने पहले बहराइच पहुंचा, लेकिन पुलिस ने उसे यह कहकर भगा दिया कि वह कानून व्यवस्था के लिए बड़ी मुसीबत पैदा कर रहा है, लेकिन वह दोबारा वापस आ गया और अब उसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो रहे हैं। 

बहराइच पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी जितेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस ने इलाके में भारी तैनाती की है। जितेंद्र कुमार सिंह ने कहा, "उसे देखने के लिए हजारों की तादात में लोग आ रहे हैं। आपको नहीं पता कि कब, क्या हो जाए। हम चांस नहीे ले सकते।" यह आदमी पेड़ की सबसे ऊंची चोटी पर रहता है, लेकिन मोबाइल पर बात करने से नहीं हिचकिचाता है। पुलिस ने कई बार उसे नीचे लाने की कोशिश की, लेकिन उसने पेड़ पर से कूंदने की धमकी दी।