BREAKING NEWS

‘आप' ने की महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु मामले की सीबीआई जांच की मांग◾महाराष्ट्र में फड़णवीस सरकार के शासनकाल में हुए भ्रष्टाचार को सामने लाने का वक्त आ गया: कांग्रेस◾PM मोदी ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि के निधन पर जताया शोक, कहा- संत समाज की धाराओं को जोड़ने में निभाई बड़ी भूमिका◾अब इस राज्य में भी विधानसभा का चुनाव लड़ेगी 'AAP', केजरीवाल ने सियासी पिच पर लगाया छक्का!◾UP: अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का संदिग्ध परिस्थितियों में निधन, पुलिस को मिला सुसाइड नोट◾पंजाब कांग्रेस के घमासान के बाद छत्तीसगढ़ में भी सत्ता को लेकर हलचल, दिल्ली पहुंचे टी एस सिंहदेव ◾पोर्नोग्राफी केस में राज कुंद्रा को मिली जमानत, कहा- बिना सबूत मुझे बनाया गया बलि का बकरा ◾पंजाब के नए नवेले CM चन्नी पर 'मी टू' के आरोप, NCW अध्यक्ष ने की कांग्रेस से यह मांग◾भाजपा का तंज - अगर कांग्रेस पंजाब चुनाव सिद्धू के नेतृत्व में लड़ेगी तो क्या चन्नी सिर्फ 'नाइट वॉचमैन' हैं◾रावत के बयान पर कांग्रेस की सफाई- CM के तौर पर चन्नी और PCC अध्यक्ष के रूप में सिद्धू होंगे चेहरा ◾ममता दीदी के साथ मुलाकात बहुत संगीतमय रही, उनका हर शब्द मेरे लिए संगीत जैसा रहा - बाबुल सुप्रियो ◾'चन्नी' को CM बनाने पर BJP का तंज- दलित वोटों की डकैती करना कांग्रेस की पुरानी आदत ◾बंगाल राज्यसभा उपचुनाव : BJP नहीं उतारेगी उम्मीदवार, सुष्मिता के निर्विरोध चुने जाने की संभावना◾पीएम मोदी दलितों के नाम पर वोट मांगते हैं, लेकिन देश में किसी दलित को सीएम नहीं बनाया : रणदीप सुरजेवाला ◾रूसी यूनिवर्सिटी में बंदूकधारी छात्रों ने की गोलीबारी, अंधाधुंध फायरिंग में आठ लोगों की मौत◾CM बनते ही एक्शन में आए चरणजीत सिंह चन्नी, कहा- तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करे केंद्र सरकार ◾जावेद अख्तर मानहानि केस में बड़ा ट्विस्ट, मुंबई कोर्ट में पेश हुईं कंगना, कहा-अदालत से उठ गया विश्वास ◾मायावती का वार- पंजाब में दलित CM बनाना चुनावी हथकंडा, हार को लेकर घबरायी हुई है कांग्रेस ◾कोलकाता में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित, जलजमाव से जगह-जगह लगा ट्रैफिक जाम ◾UP में घमासान, ओवैसी और अखिलेश पर तंज कसने के लिए BJP ने बनाया 'अब्बा जान' कार्टून◾

PM मोदी ने 351 KM लंबी फ्रेट कॉरिडोर का किया उद्घाटन, कहा- इससे कारोबार और किसान को मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर(EDFC) के ‘न्यू भाऊपुर- न्यू खुर्जा सेक्शन’ और प्रयागराज में EDFC के परिचालन नियंत्रण केन्द्र(OCC) का उद्घाटन किया। साथ ही न्यू भाऊपुर-न्यू खुर्जा सेक्शन से मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज का दिन भारतीय रेल के गौरवशाली अतीत को 21वीं सदी की नई पहचान देने वाला है। भारत और भारतीय रेल का सामर्थ्य बढ़ाने वाला है। आज हम आजादी के बाद का सबसे बड़ा और आधुनिक रेल इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट धरातल पर उतरता देख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जो हम प्रदर्शनों और आंदोलनों में देखते हैं। ये मानसिकता देश की संपत्ति और इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंचाने की है। हमें याद रखना चाहिए ये संपत्ति किसी नेता या दल की नहीं, देश की है। समाज के हर वर्ग का इसमें पसीना लगा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रयागराज में ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर भी नए भारत के नए सामर्थ्य का प्रतीक है। ये दुनिया के बेहतरीन और आधुनिक कंट्रोल सेंटर में से एक है। इसमें मैजेनमेंट और डेटा से जुड़ी जो तकनीक है वो भारत में ही तैयार हुई है।

उन्होंने कहा कि आज जब भारत दुनिया की बड़ी आर्थिक ताकत बनने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है, तब बेहतरीन कनेक्टिविटी देश की प्राथमिकता है। इसी सोच के साथ बीते 6 साल से देश में आधुनिक कनेक्टिविटी के हर पहलू पर फोकस के साथ काम किया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां यात्री ट्रेन और मालगाड़ियां दोनों एक ही पटरी पर चलती हैं। मालगाड़ी की गति धीमीं होती है। ऐसे में मालगाड़ियों को रास्ता देने के लिए यात्री ट्रेनों को स्टेशनों पर रोका जाता है। इससे यात्री ट्रेन भी लेट होती है और मालगाड़ी भी। उन्होंने कहा कि ये फ्रेट कॉरिडोर आत्मनिर्भर भारत के बहुत बड़े माध्यम होंगे। उद्योग हों, व्यापार-कारोबार हों, किसान हों या फिर कंज्यूमर, हर किसी को इसका लाभ मिलने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा, '' हमारे यहां यात्री ट्रेन और मालगाड़ियां दोनों एक ही पटरी पर चलती हैं। मालगाड़ी की गति धीमी होती है, ऐसे में इन गाड़ियों को रास्‍ता देने के लिए यात्री ट्रेनों को रोका जाता है तथा इससे दोनों ट्रेनें विलंब से चलती हैं।'' उन्‍होंने कहा कि आज जब दुनिया की बड़ी आर्थिक शक्ति बनने की दिशा में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है तब बेहतरीन कनेक्टिविटी देश की प्राथमिकता है।

मोदी ने कहा कि यह फ्रेट कॉरिडोर औद्योगिक रूप से पीछे रह गये पूर्वी भारत को नई ऊर्जा देने वाला है। इसका करीब 60 प्रतिशत हिस्‍सा उत्‍तर प्रदेश में हैं और प्रदेश को इसका लाभ मिलेगा। उन्‍होंने कहा कि यह फ्रेट कॉरिडोर आत्‍मनिर्भर भारत के लिए बहुत बड़ा माध्‍यम होगा।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार यह खंड कानपुर देहात के पुखरायां क्षेत्र में एल्युमीनियम उद्योग, औरैया के डेयरी क्षेत्र, इटावा के डेयरी उत्पादन और ब्लॉक प्रिंटिंग, फिरोजाबाद के कांच उद्योग, खुर्जा के बर्तनों के उत्पाद जैसे स्थानीय उद्योगों के लिए नए अवसर प्रदान करेगा। इस परियोजना का उद्देश्य गलियारे के मार्ग में आने वाले राज्यों में बुनियादी ढांचे और उद्योग को रफ्तार देना है। कई राज्यों से होकर गुजरने वाले इस कॉरिडोर का करीब 60 प्रतिशत हिस्सा उत्‍तर प्रदेश से होकर गुजरेगा।

राहुल की विदेश यात्रा पर नकवी का तंज, पार्ट टाइम पॉलिटिक्स करने वाले को याद आएगी नानी