BREAKING NEWS

पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 707 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.46 लाख के पार◾संजय राउत के बयान को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे सुशांत सिंह राजपूत के परिजन ◾लीग चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी जानकारी - यूएई में आईपीएल के लिये सरकार से मंजूरी मिली◾शाह फैसल ने जेकेपीएम के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, प्रशासनिक सेवा में लौटने की अटकलें जारी◾सुशांत सिंह राजपूत केस में SC पहुंची रिया चक्रवर्ती, कहा - मीडिया साबित करना चाहता है 'मैं दोषी हूं'◾विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾राजनाथ सिंह आज से ‘आत्मनिर्भर भारत सप्ताह’ की करेंगे शुरुआत, रक्षा मंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर दी जानकारी ◾विधायकों की एकता के कारण भाजपा को बाड़बंदी करनी पड़ी, अब एकता की झलक विधानसभा में दिखानी है : गहलोत ◾आंध्र प्रदेश में 24 घंटे में कोरोना के 10820 नए केस, 97 लोगों की मौत ◾राहुल गांधी ने नए ईआईए 2020 मसौदे के खिलाफ लोगों से प्रदर्शन करने की अपील की◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

काशीवासियों से बोले PM मोदी- जो शहर दुनिया को गति देता हो, उसके आगे कोरोना क्या चीज है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बातचीत की। प्रधानमंत्री ने इस दौरान लॉकडाउन के समय सेवा कार्यों के लिए काशीवासियों की तारीफ की है। उन्होंने  कि मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर काशी के लोग हर जरूरतमंद तक पहुंचे। ये भगवान शंकर का ही आशीर्वाद है कि कोरोना के इस संकट काल में भी हमारी काशी उम्मीद से भरी हुई है, उत्साह से भरी हुई है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोजपुरी से संबोधन की शुरूआत करते हुए कहा, "हर-हर महादेव। काशी के पुण्य धरती के आप सब पुण्यात्मा लोगन के प्रणाम हौ।" उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग से एनजीओ प्रतिनिधियों से कहा, "ये सही है कि लोग बाबा विश्वनाथ धाम नहीं जा पा रहे, ये सही है कि मानस मंदिर, दुर्गाकुंड, संकटमोचन में सावन का मेला नहीं लग पा रहा है। लेकिन ये भी सही है कि इस अभूतपूर्व संकट के समय में और मेरी काशी, हमारी काशी ने, इस अभूतपूर्व संकट का डटकर मुकाबला किया है। आज का ये कार्यक्रम भी तो इसी की एक कड़ी ही है।" 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कितनी भी बड़ी आपदा क्यों न हो, कोई काशी के लोगों की जीवटता का कोई मुकाबला नहीं कर सकता। जो शहर दुनिया को गति देता हो, उसके सामने कोरोना क्या चीज है। मुझे बताया गया है किए कोरोना के कारण काशी में डिजिटल अड़ी शुरू हो गई है। अलग-अलग क्षेत्र की विभूतियों ने परंपरा को जिंदा किया है। पीएम मोदी ने कहा, "आप सभी के लिए तमाम संगठनों के लिए, हम सभी के लिए ये बहुत सौभाग्य की बात है कि इस बार गरीबों की सेवा का माध्यम भगवान ने हमें बनाया। एक तरह से आप सभी मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ के दूत बनकर हर जरूरतमंद तक पहुंचे।" 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पुरानी मान्यता है कि एक समय महादेव ने खुद मां अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी। तभी से काशी पर ये विशेष आशीर्वाद रहा है कि यहां कोई भूखा नहीं सोएगा, मां अन्नपूर्णा और बाबा विश्वनाथ, सबके खाने का इंतजाम कर देंगे। 

उन्होंने कहा कि कम समय में फूड हेल्पलाइन और कम्यूनिटी किचन का व्यापक नेटवर्क तैयार करना, हेल्पलाइन विकसित करनाए डेटा साइंस की मदद लेना, वाराणसी स्मार्ट सिटी के कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का भरपूर इस्तेमाल करना यानि हर स्तर पर सभी ने गरीबों की मदद के लिए पूरी क्षमता से काम किया। इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी ने एनजीओ प्रतिनिधियों से उनके विचार जाने। समाज के विभिन्न वर्गों से जुड़े प्रतिनिधियों ने बताया कि किस तरह से उन्होंने वाराणसी में जरूरतमंदों की मदद की।