BREAKING NEWS

बिकनी गर्ल को टिकट देने से कांग्रेस की आलोचना, हिंदू महासभा ने मॉडल की उम्मीदवारी को बताया अपमान ◾तमिलनाडु में अब हर रविवार को रहेगा संपूर्ण लॉकडाउन, 31 जनवरी तक बढ़ाई गईं पाबंदियां◾बाहरी नेताओं के SP में शामिल होने से कोई मनमुटाव नहीं, नंदा का दावा- कुशल रणनीति से शांत हुआ असंतोष ◾मुस्लिम विरोधी बयानबाजी से भाजपा को कोई फायदा नहीं होने वाला, जयंत चौधरी ने सरकार पर लगाया आरोप ◾UP विधानसभा चुनाव: BJP प्रचार अभियान में इन शहरों को दे रही तवज्जों, हिंदुत्व के एजेंडे पर दिखाई दे रहा फोकस◾दिल्ली में लगाई गई पाबंदियों का कोरोना के प्रसार पर हुआ असर, अस्पतालों में भर्ती होने वालों की संख्या स्थिर : जैन ◾अनुराग ठाकुर का सपा पर तंज, बोले- समाजवाद का असली खेल या तो प्रत्याशी को जेल या फिर बेल◾क्या है BJP की सबसे बड़ी कमियां? जनता ने दिया जवाब, राहुल बोले- नफरत की राजनीति बहुत हानिकारक ◾खुद PM मोदी ने हमें दिया है ईमानदारी का सर्टिफिकेटः अरविंद केजरीवाल◾UP : कोरोना की स्थिति नियंत्रित,CM योगी ने लोगों से की अपील- भीड़ में जाने से बचें और सावधानी बरतें◾देशव्यापी टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा हुआ, पीएम मोदी समेत इन दिग्गज नेताओं ने ट्वीट कर दी बधाई ◾Lata Mangeshkar Health Update: जानें अब कैसी है भारत की कोयल की तबीयत, डॉक्टर ने दिया अपडेट ◾यूपी के चुनावी दंगल में AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की पहली सूची, सभी मुस्लिम चेहरे को तरजीह, देखें लिस्ट◾गोवा में AAP को बहुमत नहीं मिला तो पार्टी गैर-भाजपा के साथ गठबंधन बनाने के बारे में सोचेगी : CM केजरीवाल◾UP चुनाव की टक्कर में OBC का चक्कर, जानें किसके सिर पर सजेगा जीत का ताज और किसे मिलेगी मात ◾योगी सरकार के पूर्व मंत्री दारासिंह चौहान ने ज्वाइन की साइकिल, कुछ दिन पहले ही छोड़ा था बीजेपी का साथ ◾टीकाकरण अभियान का एक साल पूरा, नड्डा बोले- असंभव कार्य को संभव किया और दुनिया ने देश की सराहना की ◾पीएम मोदी की सुरक्षा चूक मामले में की जा रही राजनीति सही नहीं : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा◾राजस्थान: कोरोना की बढ़ती रफ्तार से सरकार चिंतित, मंत्री बोले- लोगों को कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन ◾टिकट न मिलने से नाखुश SP कार्यकर्ता ने की आत्मदाह की कोशिश, प्रदेश मुख्यालय के बाहर मची खलबली ◾

पीएम मोदी आज गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की देंगे सौगात, खाद कारखाना और AIIMS का करेंगे लोकार्पण

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की परियोजनाओं की सौगात देंगे। सात दिसंबर को गोरखपुर में खाद कारखाना और एम्स समेत 9600 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की विकास परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे।  उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में उर्वरक कारखाने और एम्स के अलावा आईसीएमआर के रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर का लोकार्पण भी करेंगे। यह सभी परियोजनाएं आत्मनिर्भर भारत को खाद्य सुरक्षा तथा स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में महत्वपूर्ण योगदान करेंगी।

संयंत्र के शुरु होने से उर्वरक उत्पादन में देश को आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगी

लगभग 598 एकड़ में स्थापित खाद कारखाने की लागत 8,603 करोड़ रुपए है। इस संयंत्र की क्षमता 2,200 मीट्रिक टन लिक्विड अमोनिया तथा 3,850 मीट्रिक टन नीम कोटेड यूरिया के प्रतिदिन उत्पादन है। यह खाद कारखाना 12.7 लाख मीट्रिक टन प्रिल्ड नीम कोटेड यूरिया का वार्षिक उत्पादन करेगा। मोदी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि 30 साल से बंद पड़े गोरखपुर उर्वरक कारखाने को फिर से शुरु किया जा रहा है। उन्होंने इस पर खुशी का इजहार करते हुये कहा कि इस संयंत्र के शुरु होने से उर्वरक उत्पादन में देश को आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगी।

PM तीन बजे गोरखपुर से दिल्ली के लिये रवाना होंगे 

प्रधानमंत्री के यात्रा कार्यक्रम के अनुसार मोदी दोपहर 12:30 बजे गोरखपुर पहुंचेंगे। हवाईअड्डे से वह दोपहर एक बजे आयोजन स्थल पर पहुंचेंगे। यहां वह 2:20 बजे तक एम्स और उर्वरक कारखाने का लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री तीन बजे गोरखपुर से दिल्ली के लिये रवाना हो जायेंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि नवनिर्मित एम्स की अनुमोदित लागत 1,011 करोड़ रुपए है। इसकी स्थापना 112 एकड़ क्षेत्र में की जा रही है। इस उच्चस्तरीय विशेषज्ञ चिकित्सा संस्थान के माध्यम से मरीजों को उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी। इसमें गोरखपुर एम्स 14 अत्याधुनिक मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर, उच्च श्रेणी के नवीनतम सीटी, एमआरआई, डायलिसिस मशीन, सी-आर्म मशीन सहित अनेक मेडिकल उपकरणों एवं सुविधाओं से युक्त है।

वायरस की पहचान करने तथा उसके उपचार के लिए अनुसंधान को आगे बढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा

इसके अलावा गोरखपुर में स्थापित किए जा रहे भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के रीजनल मेडिकल रिसर्च सेण्टर, इंसेफेलाइटिस, डेंगू, चिकुनगुनिया, कालाजार सहित कोविड-19 जैसी बीमारी के वायरस की पहचान करने तथा उसके उपचार के लिए अनुसंधान को आगे बढ़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।