BREAKING NEWS

PMC बैंक घोटाला : 24 अक्टूबर तक बढ़ी आरोपी राकेश वधावन और सारंग वधावन की हिरासत◾सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने के सभी मामले सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर◾मोदी से मिले नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी, PM ने मुलाकात के बाद किया ये ट्वीट ◾J&K और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को केंद्र का दिवाली तोहफा, 31 अक्टूबर से मिलेगा 7th पेय कमीशन का लाभ ◾राजनाथ सिंह बोले- नौसेना ने यह सुनिश्चित करने के लिए सतर्कता बरती कि 26/11 दोबारा न होने पाए◾राज्यपाल जगदीप धनखड़ का बयान, बोले-ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में किसी प्रकार की सेंसरशिप है◾भारतीय सेना ने पुंछ में LoC के पास मोर्टार के तीन गोलों को किया निष्क्रिय◾INX मीडिया भ्रष्टाचार मामले में पी.चिदंबरम को मिली जमानत◾गृहमंत्री अमित शाह का आज जन्मदिन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने दी बधाई◾अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट करेगा तय, समझौता या फैसला !◾पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती◾Exit Poll : महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा की प्रचंड जीत के आसार◾अनुच्छेद 370 हटाने के भारत के उद्देश्य का करते हैं समर्थन, पर कश्मीर में हालात पर हैं चिंतित : अमेरिका◾चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे, भाजपा ने राहुल को मारा ताना ◾पकिस्तान द्वारा डाक मेल सेवा पर रोक लगाने के लिए रवि शंकर प्रसाद ने की आलोचना ◾सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होने जापान पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ◾गृह मंत्री अमित शाह से मिले CM कमलनाथ, केंद्र से 6,600 करोड़ रुपये की सहायता मांगी ◾पाकिस्तान ने भारत के साथ डाक सेवा बंद की, भारत ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन बताया ◾सरकार ने सियाचिन को पर्यटकों के लिए खोलने का फैसला किया : राजनाथ सिंह ◾TOP 20 NEWS 21 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

उत्तर प्रदेश

महिला अपराध के मामलों की पैरवी में पुलिस फिसड्डी

उत्तर प्रदेश में महिला अपराध के मामले में पुलिस का शिथिल रवैया योगी सरकार की जीरो टोलरेंस नीति को पलीता लगा रहा है। हमीरपुर जिले में महिलाओं से सम्बन्धित अपराधों में प्रभावी पैरवी न हो पाने के कारण सजा में आ रही गिरावट पर जिलाधिकारी ने चिन्ता व्यक्त की है। इस मामले में जिलाधिकरी ने अभियोजन विभाग के संयुक्त निदेशक को पत्र लिखा है।

अभियोजन विभाग के संयुक्त निदेशक बीएस वर्मा ने बताया कि जिले में महिलाओं व लड़कियो के साथ छेड़खानी की घटनाये बढ़ती जा रही है। थानों में पाक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट लिखने के बाद कोर्ट में पुलिस द्वारा प्रभावी पैरवी न करने के कारण आरोपियो को सजा नही मिल पा रही है। 

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने चिन्ता जाहिर करते हुए विभाग को पत्र लिख कर कहा है कि ऐसे अपराधियों को अधिक से अधिक सजा दिलाकर सरकार की मंशानुरुप कार्यवाही की जाये। संयुक्त निदेशक अभियोजन बीएल वर्मा ने बताया कि उन्होने विभाग के समस्त अभियोजकगणों को पत्र लिखकर कहा है कि पाक्सो एक्ट के तहत महिला संबन्धी अपराधो में अपराधियों को अधिक से अधिक सजा दिलाई जाये ताकि अपराधो पर अंकुश लग सके।

श्री वर्मा ने पुलिस अधीक्षक हेमराज मीना से कहा है कि वह सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित करे कि पाक्सो एक्ट के अभियोगों में महत्वपुर्ण साक्ष्यो को न्यायालय के सामने उपस्थित कराये। इसी प्रकार जिला शासकीय अधिवक्ता को भी आदेश जारी किये गये है। इस मामले में जिला प्रोबेशन अधिकारी से कहा गया है की बाल कल्याण समिति द्वारा नियुक्त सामाजिक कार्यकर्ताओं को आदेश जारी करे कि वह पीड़त के साथ न्यायालय जाकर उनका सहयोग करे। यही नही इस मामले में क्या प्रगति हुई है। इसको भी जिलाधिकारी को लिखित रूप से अवगत कराये। 

अधिवक्ताओं का कहना है कि ऐसे मामलो में बाल कल्याण समिति के सदस्यो को पीड़ता को कोर्ट जाने से पहले उसे वहा पर बोलने के लिये उत्साहवर्धन करना चाहिये मगर ये सदस्य मौके पर नही पहुचते। जिससे पीड़ता कोर्ट के सामने जवाब देने मे संकोच करती है और मामला कमजोर हो जाता है। इधर दो माह के अन्तराल में कई मामलो में पुलिस की पैरवी न होने से आरोपी बरी हो गये है।