BREAKING NEWS

इमरजेंसी वाले बयान पर जावड़ेकर का पलटवार,कहा- आरएसएस को समझने में बहुत समय लगेगा◾वैक्सीन सर्टिफिकेट पर छपी PM मोदी की फोटो पर TMC ने जताया ऐतराज, EC से की शिकायत ◾भारत बायोटेक की कोवैक्सिन के तीसरे चरण के ट्रायल नतीजे जारी, टीका 81 फीसदी तक प्रभावी◾कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए समयसीमा खत्म, अब चौबीसों घंटे लगवा सकते हैं टीका : हर्षवर्धन◾यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसने के बाद रमेश जारकिहोली ने दिया इस्तीफा, कही ये बात ◾एमसीडी उप चुनावों में AAP का जलवा, केजरीवाल बोले- जनता ने ‘काम के नाम’ पर किया मतदान ◾बॉलीवुड सितारों पर लटकी इनकम टैक्स की तलवार, अभिनेता और निर्माताओं के ठिकानों पर छापेमारी ◾SC ने खारिज की फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ याचिका, सरकार की राय से अलग विचार रखने वाला देशद्रोह नहीं◾वेबिनार के संबोधन में PM मोदी बोले- कई क्षेत्रों में प्रतिभावान युवाओं के लिये खुल रहे दरवाजे◾दिल्ली MCD उपचुनाव में नहीं चली मोदी लहर, AAP ने 5 वॉर्ड में से 4 पर किया कब्जा, 1 पर कांग्रेस ◾BJP सांसद के बेटे पर बदमाशों के हमले को लेकर पुलिस ने किया दावा- रिश्तेदार से खुद पर चलवाई गोली◾Covid-19 : पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 14989 नए मामलों की पुष्टि, 98 लोगों की मौत ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 11.47 करोड़ के पार ◾राहुल लाना चाहते हैं कांग्रेस में बदलाव, कहा- BJP के अहंकार से लड़ने के लिए विनम्र बने रहने की जरूरत ◾ सौरव गांगुली को फैसला करना है कि वह PM की रैली में शामिल होना चाहते हैं या नहीं : भाजपा ◾लखनऊ में भाजपा सासंद के बेटे को बाइक सवार हमलावरों ने मारी गोली, हॉस्पिटल में एडमिट ◾TOP - 5 NEWS 03 MARCH : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾आज का राशिफल (03 मार्च 2021)◾आपातकाल एक गलती थी : राहुल गांधी◾यूएई में पहली बार ‘एक्सरसाइज डेजर्ट फ्लैग-6’ युद्धाभ्यास में भाग लेगी भारतीय वायु सेना ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लखनऊ में हिंदू लड़की की हो रही थी मुस्लिम युवक से शादी, पुलिस ने रोका अंतरधार्मिक विवाह

लखनऊ में पुलिस ने एक अंतरधार्मिक विवाह को रोक दिया, जो दोनों परिवारों की सहमति से हो रहा था, जिसके बाद धर्मांतरण विरोधी कानून के खिलाफ गुस्सा भड़क गया है। विवाह की रस्में शुरू होने से ठीक पहले पुलिस ने हस्तक्षेप किया। मारूफ अली ने कहा, 'ये वो है जो अब होने जा रहा है। पुलिस तय करेगी कि शादी होगी या नहीं। अदालतों ने कहा है कि कोई भी वयस्कों को एक साथ रहने से नहीं रोक सकता है, लेकिन इस कानून के साथ, अब पुलिस फैसला करेगी।'

दुल्हन पक्ष के एक रिश्तेदार शिरीष गुप्ता भी उतने ही परेशान थे। उन्होंने कहा, 'शादी दोनों परिवारों की मौजूदगी में हो रही थी, लेकिन पुलिस ने समारोह रोक दिया। मेहमानों को बिना डिनर कराए वापस भेज दिया गया। कभी सोचा भी नहीं था कि ऐसी घटना आजाद भारत में होगी।' एक मुस्लिम धर्मगुरु ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा, ''हमारी आशंकाएं अपेक्षा से जल्द सामने आई हैं। पुलिस अब राज्य चला रही है और इस नए कानून द्वारा व्यक्तिगत स्वतंत्रता खत्म हो गई है।"

खबरों के मुताबिक, हिंदू महासभा के जिला अध्यक्ष बृजेश शुक्ला ने लिखित में शादी के बारे में शिकायत दी थी। पुलिस बुधवार रात विवाह स्थल पर पहुंची, जहां 22 वर्षीय रैना गुप्ता को अपने बचपन के दोस्त 24 वर्षीय मोहम्मद आसिफ से शादी करनी थी। शादी पहले हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार और फिर मुस्लिम परंपरा के अनुसार की जाने थी।

अतिरिक्त डीसीपी (दक्षिण क्षेत्र) सुरेश चंद्र रावत ने कहा, "जब पुलिस विवाह समारोह स्थल पर पहुंची, तो उन्होंने पाया कि हिंदू परंपराओं के अनुसार शादी की रस्में करने की तैयारी चल रही थी। बाद में, मुस्लिम रिवाजों से शादी की जानी थी। दोनों परिवारों की सहमति से शादी हो रही थी, लेकिन योजनाबद्ध धार्मिक समारोह धर्मांतरण के बिना नहीं किया जा सकता था।" 

एडीसीपी ने कहा कि हाल ही में लागू उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश, 2020 की धारा 3 और 8 (खंड दो) के अनुसार विवाह रोक दिया गया, जिसमें कहा गया है कि किसी को भी सीधे या अन्यथा किसी अन्य तरीके से गलत बयानी, बहका कर, बल, अनुचित प्रभाव, जबरदस्ती, खरीद-फरोख्त या किसी धोखेबाजी से या विवाह द्वारा किसी का धर्म परिवर्तन नहीं करना चाहिए। यह दंडनीय अपराध है। इस मामले में कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है, क्योंकि लड़का-लड़की परिवार की सहमति से शादी कर रहे थे।

दुल्हन के पिता विजय गुप्ता ने कहा कि शादी के लिए कोई जबरन धर्म परिवर्तन नहीं किया गया था और दोनों परिवारों ने बिना शर्त के अपनी सहमति दी थी। उन्होंने कहा, "पुलिस के बताने से पहले मैं अनजान था, कि सभी पक्षों से सहमति के बाद भी, एक अंतरधार्मिक विवाह केवल जिला मजिस्ट्रेट की मंजूरी के साथ किया जा सकता है।" रैना और मोहम्मद आसिफ अब जिला मजिस्ट्रेट को सूचित करने की तारीख से दो महीने बाद ही शादी कर सकते हैं।

कर्ज के बोझ तले दबे किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या