BREAKING NEWS

इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, मिलकर काम करने की इच्छा जताई ◾मोदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी : बाबा रामदेव◾TOP 20 News 26 MAY : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी, करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को दिया कंधा◾राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में पार्टी के सफाए से राहुल गांधी ज्यादा नाराज !◾अमेठी : सुरेंद्र सिंह के भाई ने बताया- राजनीतिक रंजिश में हुई हत्या◾शारदा घोटाला : सीबीआई ने जारी किया राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस ◾ISIS की नौकाओं को लेकर खुफिया सूचना के बाद केरल के तटवर्ती इलाकों में हाई अलर्ट ◾मंत्री बनना चाहती हैं हेमा मालिनी◾मोदी की जीत पर विश्व नेताओं की बधाई का जारी है सिलसिला◾ये नए भारत का, नया उत्तर प्रदेश बनाने का जनादेश : योगी आदित्यनाथ◾नरेंद्र मोदी ने उपराष्ट्रपति नायडू से की मुलाकात, बताया शिष्टाचार भेंट◾बिहार : राजद को अब बदलनी होगी जातिवाद की रणनीति !◾प्रचंड जीत के बाद मां हीराबेन से मिलने जाएंगे मोदी, पटेल की मूर्ति पर करेंगे माल्यार्पण◾नरेंद्र मोदी की सांसदों को नसीहत, बोले- छपास एवं दिखास से बचिए, मिठास रखिए ◾केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या◾भाजपा बंगाल में सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीती : ममता◾मतदाताओं और कार्यकर्ता का धन्यवाद करने वायनाड जायेंगे राहुल◾केरल के तटों पर हाई अलर्ट, ISIS के 15 आतंकवादी भारत में घुसने की फिराक में - खुफिया रिपोर्ट◾ममता के इस्तीफे की पेशकश को बीजेपी ने बताया 'नाटक' ◾

उत्तर प्रदेश

कांग्रेस MLA पर हमले के बाद रायबरेली पहुंचीं प्रियंका, प्रशासन और UP सरकार पर साधा निशाना

जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान को लेकर हुई हिंसा के बाद बुधवार को अचानक रायबरेली पहुंची कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने स्थानीय प्रशासन और भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने इस मुद्दे पर प्रदेश के राज्यपाल और चुनाव आयोग से मिलने की बात भी कही।

मंगलवार को सदर विधायक और जिला पंचायत सदस्यों पर हमले के बाद बुधवार को प्रियंका फुरसतगंज हवाई अड्डे पहुंची। वह वहां से सीधे तिलक भवन कांग्रेस कार्यालय पहुंची जहां उन्होंने जिला पंचायत सदस्यों से मुलाकात की। वह सदर विधायक अदिति सिंह से भी मिलीं। इस हमले में विधायक अदिति सिंह तथा कई अन्य लोग घायल भी हो गये थे।

\"Aditi

प्रियंका ने दावा किया, \"प्रशासन ने किसी भी जिला पंचायत सदस्य की मदद नहीं की और जब वह कारवां आ रहा था तब भी प्रशासन ने कुछ नहीं किया। खुले आम कट्टे, पत्थर और लाठियों से जिला पंचायत सदस्यों को मारा गया। सदस्यों को गाड़ी से घसीटकर मारा गया। यह कैसा लोकतंत्र चल रहा है। राज्य में भाजपा की सरकार है और इस तरह की घटनाएं हो रही हैं।\"

उन्होंने कहा, \"प्रशासन बैठा हुआ है और हम पूरी तरह से कानूनी कार्रवाई करेंगे। कांग्रेस के नेता राज्यपाल से मुलाकात कर रहे हैं और दिल्ली में चुनाव आयोग से मिल रहे हैं। जितना भी हमारा राजनीतिक जोर है, हम लगायेंगे। पूरी कानूनी कार्रवाई करेंगे, अगर प्रशासन के खिलाफ भी एफआईआर करनी होगी तो हम करेंगे। यह लोकतंत्र पर हमला है , यह रायबरेली पर हमला है।\"

\"priyanka

गौरतलब है कि रायबरेली में मंगलवार को जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान को लेकर हुई हिंसा में कांग्रेस की सदर विधायक अदिति सिंह समेत कई लोग घायल हो गये थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिये कुछ सदस्य आ रहे थे।

आरोप है कि पंचायत सदस्यों की अगुवाई कर रहे सदस्य राकेश अवस्थी को बछरावां की सीमा में निगोहा थाना क्षेत्र में स्थित टोल प्लाजा पर दबंगों ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। वहीं, रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने आरोप लगाया कि वह मतदान का जायजा लेने जा रही थीं, तभी हरचंद थाना क्षेत्र में उनकी कार को पीछे से टक्कर मारी गयी, जिससे वह पलट गई। उन्हें बायें हाथ में चोट आयी है। इसके अलावा कार में सवार कई अन्य लोग भी घायल हो गये। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

\"Aditi

टोल प्लाजा पर जिला पंचायत सदस्यों पर हमले की सूचना के बाद जिलाधिकारी नेहा शर्मा और पुलिस अधीक्षक सुनील सिंह ने टोल प्लाजा पहुंचकर घटना की जानकारी ली। घटना की सूचना पर पुलिस महानिरीक्षक भी रायबरेली पहुंचे। अदिति ने इस हमले के लिये जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह को दोषी ठहराते हुए आरोप लगाया है कि हमलावर हथियार, पत्थर और आयरन की छड़ें लिये हुए थे। इस घटना पर शासन-प्रशासन चुप है।

गौरतलब है कि अवधेश विधान परिषद सदस्य और इस बार रायबरेली से भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़े दिनेश प्रताप सिंह के भाई हैं। इस बीच, अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिये पीठासीन अधिकारी नियुक्त किये गये अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ सिंह ने पंचायती राज विभाग के प्रमुख सचिव को भेजे गये पत्र में कहा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर होने वाली बैठक की कार्यवाही कोरम पूरा नहीं होने की वजह से समाप्त घोषित कर दी गयी है।