BREAKING NEWS

जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने दायर की चार्जशीट, कुल 17 लोगों की हुई गिरफ्तारी◾उत्तर प्रदेश : योगी सरकार ने 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट किया पेश, जानें क्या रहा खास◾CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾लापता नहीं हुआ आतंकी मसूद अजहर, कड़ी सुरक्षा के बीच परिवार के साथ पाक में ही छिपा बैठा है◾विदेश मंत्री जयशंकर ने यूरोपीय संघ के नेताओं से की मुलाकात, विभिन्न मुद्दों पर की बात◾कोरोना वायरस से चीन में 1,868 लोगों की मौत, लगातार बढ़ रही मरने वालों की संख्या ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- दिल्ली में जल्द ही दूर होगी बसों की कमी◾स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बोला-'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना'◾केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ताबड़तोड़ बैठकें कर जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को पार्टी की विभिन्न समितियों और संगठनों के साथ बैठक कर एक सकारात्मक विपक्ष के रूप में विभिन्न जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की। प्रियंका उत्तर प्रदेश के अपने दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को लखनऊ पहुंचीं और पार्टी की विभिन्न समितियों, प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। 

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी ने 'भाषा' को बताया कि प्रियंका ने सबसे पहले रणनीति और योजना समिति के साथ बैठक की। इसमें महिलाओं के प्रति अपराध, किसानों की समस्याएं, बेरोजगारी और कानून-व्यवस्था के खिलाफ आंदोलन की रणनीति बनायी गयी। 

त्यागी ने बताया कि इन बैठकों में आगामी 14 दिसम्बर को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली 'भारत बचाओ महारैली' को सफल बनाने की रणनीति पर भी चर्चा की गयी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा प्रियंका ने यूथ कांग्रेस, एनएसयूआई, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ समेत कांग्रेस के सभी आनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारियों से भी मुलाकात की। साथ ही वह कुछ पूर्व सांसदों और विधायकों से भी मिलीं। इन बैठकों में तय किया गया कि किस तरह से कांग्रेस एक सकारात्मक विपक्ष की भूमिका में रहते हुए सरकार को जगाने का काम करेगी। 

इसके पूर्व, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने संवाददाताओं को बताया कि प्रियंका ने बैठकों के दौरान खासकर महिलाओं के प्रति हो रहे अपराधों पर गहरी चिंता व्यक्त की और विचार-विमर्श किया कि कैसे इस पर आंदोलन शुरू किया जाए। सरकार पर कैसे दबाव बनायें कि उत्तर प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा दी जा सके।

 

शुक्ला ने एक सवाल पर कहा कि जहां तक वर्ष 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियों की बात है तो ये प्रियंका के कांग्रेस महासचिव बनने के बाद से ही शुरू हो गयी थीं। ब्लॉक स्तर तक पार्टी की समितियां गठित की जाएंगी। हर जगह कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया जाएगा। साल भर के अंदर संगठन का ढांचा तैयार हो जाएगा। 

प्रियंका को आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के मुख्यमंत्री का चेहरा बनाये जाने की सम्भावनाओं के बारे में पूछे जाने पर शुक्ला ने कहा कि वह इस बारे में कुछ नहीं कह सकते, मगर इतना तय है कि वह उत्तर प्रदेश के आम आदमी की आवाज बनकर उभरेंगी।