BREAKING NEWS

बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर से पहले सभी पक्षकारों को विश्वास में लिया जाए : कांग्रेस ◾चीन में कोरोनावायरस संक्रमण से अभी तक कोई भारतीय प्रभावित नहीं : विदेश मंत्रालय ◾सभी शरणार्थियों को CAA के तहत दी जाएगी नागरिकता : पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख ◾खेलो इंडिया की तर्ज पर हर वर्ष खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स आयोजित होगा : प्रधानमंत्री मोदी ◾हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं, शांति हर सवाल का जवाब : PM मोदी ◾उल्फा (आई) ने गणतंत्र दिवस पर असम में हुए विस्फोटों की जिम्मेदारी ली ◾गणतंत्र दिवस पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी को संविधान की प्रति भेजी ◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो की मौजूदगी में भारत ने मनाया 71वां गणतंत्र दिवस ◾71वां गणतंत्र दिवस के मोके पर राष्ट्रपति कोविंद ने राजपथ पर फहराया तिरंगा◾गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾

प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक महिला की उससे बलात्कार के प्रयास की शिकायत कथित रूप से पुलिस द्वारा दर्ज नहीं करने की खबर का उल्लेख करते हुए रविवार को भाजपा सरकार को ‘‘दुष्प्रचार में विशेषज्ञ’’ करार दिया। 

उन्होंने एक ट्वीट कर राज्य में त्वरित सुनवायी अदालतें शुरू करने में ‘‘देरी’’ पर भी सवाल उठाया। 

प्रियंका गांधी वाड्रा ने महिला के आरोप की खबर टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘‘पुलिस का उस महिला से व्यवहार देखिये जो उन्नाव में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने के लिए गई। और यह तब हुआ जब वहां एक दुखद घटना हुई है।’’ 

प्रियंका गांधी वाड्रा का ‘‘दुखद घटना’’ से आशय जिले की 23 वर्षीय बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत से था जिसे पांच व्यक्तियों ने जला दिया था। उसे जलाने वालों में उससे कथित तौर पर बलात्कार करने के दो आरोपी भी शामिल थे। उक्त लड़की को तब जलाया गया था जब वह स्वयं द्वारा दायर बलात्कार के मामले की अदालत में सुनवायी के लिए रायबरेली जा रही थी। 

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा सरकार और उसकी पुलिस दुष्प्रचार में विशेषज्ञ है। तथ्य यह है कि त्वरित सुनवायी अदालत के गठन के प्रस्ताव को अभी तक उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लंबित रखा गया है।’’ 

उन्होंने यह भी सवाल किया कि राज्य में ऐसी स्थिति कब तक चलेगी। 

प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार को बलात्कार पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के लिए उन्नाव भी गई थीं।