BREAKING NEWS

रॉ के पूर्व चीफ एएस दुलत ने फारूक अब्दुल्ला से की मुलाकात◾दिल्ली हिंसा : AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर को किया गया सील, SIT करेगी हिंसा की जांच◾दिल्ली HC में अरविंद केजरीवाल, सिसोदिया के निर्वाचन को दी गई चुनौती◾दिल्ली हिंसा की निष्पक्ष जांच हो, दोषियों को मिले कड़ी से कड़ी सजा -पासवान◾CAA पर पीछे हटने का सवाल नहीं : रविशंकर प्रसाद◾बंगाल नगर निकाय चुनाव 2020 : राज्य निर्वाचन आयुक्त मिले पश्चिम बंगाल के गवर्नर से◾दिल्ली हिंसा : आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से मिले पेट्रोल बम और एसिड, हिंसा भड़काने की थी पूरी तैयारी ◾TOP 20 NEWS 27 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, शान से पहुंची सेमीफाइनल में ◾पार्षद ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों पर बोले केजरीवाल : आप का कोई कार्यकर्ता दोषी है तो दुगनी सजा दो ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 10-10 लाख का मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार◾दिल्ली में हुई हिंसा का राजनीतिकरण कर रही है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी : प्रकाश जावड़ेकर ◾दिल्ली हिंसा : केंद्र ने कोर्ट से कहा-सामान्य स्थिति होने तक न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं ◾ताहिर हुसैन को ना जनता माफ करेगी, ना कानून और ना भगवान : गौतम गंभीर ◾सीएए हिंसा : चांदबाग इलाके में नाले से मिले दो और शव, मरने वालो की संख्या बढ़कर 34 हुई◾दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन, गृह मंत्री को हटाने की हुई मांग◾न्यायधीश के तबादले पर बोले रणदीप सुरजेवाला : भाजपा की दबाव और बदले की राजनीति का हुआ पर्दाफाश ◾दिल्ली हिंसा : दंगाग्रस्त इलाकों में दुकानें बंद, शांति लेकिन दहशत का माहौल ◾जज मुरलीधर के ट्रांसफर पर बोले रविशंकर- कोलेजियम की सिफारिश पर हुआ तबादला ◾उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर हुई हिंसा में मरने वालों का आकंड़ा 32 पहुंचा◾

पूर्व IPS अधिकारी की रिहाई पर बोलीं प्रियंका-झूठ कभी नहीं जीत सकता

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी की रिहाई पर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर कटाक्ष करते हुए कहा कि झूठ कभी नहीं जीत सकता। पिछले दिनो नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध प्रदर्शन के दौरान लखनऊ में गिरफ्तार किए गए दारापुरी समेत 14 लोगों को अदालत के आदेश पर जमानत पर मंगलवार को रिहा कर दिया गया। 

रिहाई के कुछ ही देर बाद प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया ‘‘अंबेडकरवादी चिंतक और पूर्व आईपीएस दारापुरी और कांग्रेस नेता सदफ जफ़र आज जेल से रिहा हो गए। कोर्ट द्वारा सबूत माँगने पर यूपी पुलिस बगलें झांकने लगी थी।’’ उन्होने कहा ‘‘ बीजेपी सरकार ने निर्दोष लोगों और बाबा साहेब की विरासत को आगे बढ़ने वाले लोगों को गिरफ्तार करके अपनी असली सोच दिखाई है..मगर झूठ कभी नहीं जीत सकता। 

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा पिछले दिनो कांग्रेस के स्थापना दिवस समारोह में शिरकत करने के बाद एसआर दारापुरी के परिजनो से मिलने गयी थी। इस दौरान पुलिस द्वारा रोके जाने पर उन्होने अभद्रता का आरोप लगाया था। बाद में प्रियंका स्कूटी से पालीटेक्निक चौराहा तक गयी जिसके बाद वे पैदल ही दारापुरी के आवास तक चल पडी। 

पिछली तीन जनवरी को लखनऊ की एक अदालत ने एसआर दारापुरी, रंगमंच कर्मी सदफ जफर समेत 14 लोगों को जमानत पर रिहा करने का आदेश दिए थे। न्यायालय ने सभी को 50-50 हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी थी।