भाजपा के बुलंदशहर के सांसद भोला सिंह का कहना है कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी फ्लॉप साबित होंगी और कांग्रेस को उत्तर प्रदेश में कोई लाभ नहीं पहुंचा पाएंगी। भोला सिंह ने 2014 में चार लाख से अधिक वोटों से जीत दर्ज कराई थी और उन्हें उम्मीद है कि इस बार उनके जीत का अंतर और अधिक होगा। उन्होंने सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन के किसी असर को भी नकार दिया।

यह पूछे जाने पर कि क्या विपक्षी गठबंधन भाजपा के लिए एक चुनौती है? सिंह ने कहा, “गठबंधन ने एक तरह से हमें मदद की है। सभी स्थानीय नेता और मतदाता इस समय 100 फीसदी मेरे साथ हैं।” भोला सिंह ने  दावा किया कि जनता जानती है कि विपक्षी गठबंधन के नेता डरे हुए हैं, क्योंकि उन्होंने शौचालय और गैस कनेक्शन जैसी बुनियादी सुविधाओं के बारे में नहीं सोचा और उन्होंने सिर्फ देश को अपने लाभ और अपनी जेब भरने के लिए बांटने का प्रयास किया।

भोला सिंह ने 2014 में छह लाख वोट हासिल कर अपने प्रतिद्वंद्वी बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के उम्मीदवार प्रदीप कुमार जाटव को पराजित किया था और उन्हें उम्मीद है कि इस बार उन्हें अधिक वोट मिलेंगे। उन्होंने कहा, “जिस तरह से अधिक लोग मेरे समर्थन में आ रहे हैं, मुझे 2014 मिले 6.04 लाख वोट से अधिक वोट हासिल होगा।” कांग्रेस के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने मुस्कुराते हुए कहा, “कांग्रेस यहां समाप्त हो चुकी है।”

‘राहुल की असफलता के बाद प्रियंका बनेंगी कांग्रेस की उम्मीद’

उन्होंने कहा, “पिछली बार कांग्रेस-आरएलडी का एक संयुक्त उम्मीदवार मैदान में था, लेकिन वह मात्र 59,000 वोट हासिल कर सका था। इसलिए तस्वीर स्पष्ट है। इस बार कांग्रेस कितनी वोट पाएगी, जब वह आरएलडी के साथ मिलकर कुछ नहीं हासिल कर सकी थी?” कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के उत्तर प्रदेश में पार्टी के पक्ष में प्रचार करने से क्या कोई बदलाव होने वाला है?

सिंह ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि इसका कोई असर होगा। उन्होंने सवाल किया कि यदि प्रियंका के आने से कोई बदलाव होने वाला है, तो उनके भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी के अलावा एक दूसरी सीट से नामांकन दाखिल क्यों किया। बुलंदशहर में जनता के मुद्दों पर भाजपा सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार समस्या मुक्त है, क्योंकि उनके द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाएं ईमानदारी के साथ जनता तक पहुंची हैं।

यह पूछे जाने पर कि जनता इस बात को लेकर नाराज है कि वह अपने क्षेत्र में दिखाई नहीं देते? भोला सिंह ने कहा कि वह कोई ग्राम प्रधान नहीं हैं। उन्होंने कहा, “मैं कोई ग्राम प्रधान नहीं हूं। मैं 951 ग्राम पंचायतों का एक सांसद हूं। मैंने हरेक गांव का दौरा किया है। हर रोज गांवों में जाना किसी सांसद का काम नहीं है। सांसद का काम क्षेत्र के कल्याण के लिए नीतियां बनाना है, और मैंने इस काम को बहुत अच्छी तरह किया है।”