BREAKING NEWS

राजनाथ ने केंद्रीय विभागों के पुन आवंटन पर मंत्री समूह की अध्यक्षता की ◾कर्नाटक : येदियुरप्पा को अमित शाह ने दी मंत्रिमंडल विस्तार की हरी झंडी ◾जलवायु परिवर्तन पर ‘बेसिक’ देशों को एक सुर में आवाज उठानी होगी : जावड़ेकर ◾BJP सरकार का रवैया नकारात्मक, अमेठी-मैनपुरी में सैनिक स्कूल की स्थापना समाजवादी सरकार में हुई : अखिलेश◾MP : मुख्यमंत्री कमलनाथ उज्जैन मंदिर को दे सकते हैं 300 करोड़ की सौगात ◾TOP 20 NEWS 17 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ AIIMS अस्पताल में लगी भीषण आग, अभी तक कोई हताहत नहीं◾जेटली जीवन रक्षक प्रणाली पर : नीतीश, पीयूष गोयल समेत अन्य नेता हाल जानने एम्स पहुंचे ◾PM मोदी : भूटान का पड़ोसी होना सौभाग्य कि बात, भूटान कि पंचवर्षीय योजनाओं में करेंगे सहयोग◾पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद◾प्रियंका गांधी बोलीं- देश में 'भयंकर मंदी' लेकिन सरकार के लोग खामोश◾ मायावती का ट्वीट- देश में आर्थिक मंदी का खतरा, इसे गंभीरता से लें केंद्र◾AAP के पूर्व विधायक कपिल मिश्रा भाजपा में शामिल◾चिदंबरम बोले- मीर को नजरबंद करना गैरकानूनी, नागरिकों की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें अदालतें◾राजनाथ के आवास पर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक शुरू, शाह समेत कई मंत्री मौजूद◾भूटान पहुंचे मोदी का PM लोटे ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत, दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर◾शरद पवार बोले- पता नहीं राणे का कांग्रेस में शामिल होने का फैसला गलत था या बड़ी भूल◾उत्तर कोरिया ने किया नए हथियार का परीक्षण, किम ने जताया संतोष◾12 दिन बाद आज से घाटी में फोन और जम्मू समेत कई इलाकों में 2G इंटरनेट सेवा बहाल◾राम माधव बोले- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को मिलेगा देश के कानूनों के अनुसार लाभ◾

उत्तर प्रदेश

योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में सामूहिक हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा को रोके जाने को ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’ करार देते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि योगी आदित्यनाथ सरकार में अपराधियों को संरक्षण मिल रहा है। 

पार्टी ने प्रियंका की ‘गिरफ्तारी’ के विरोध में समूचे देश में धरना-प्रदर्शन करने का भी आह्वान किया है। 

प्रियंका को सोनभद्र जाने से रोकने की खबर आने के तुरंत बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘सोनभद्र में प्रियंका की गैरकानूनी गिरफ्तारी परेशान करने वाली है। वह उन 10 आदिवासियों के परिवारों से मिलने जा रही थीं जिनकी अपनी जमीन छोड़ने से इनकार करने पर निर्मम हत्या कर दी गई। उन्हें रोकने के लिए सत्ता का मनमाने ढंग से इस्तेमाल किया गया है। इससे भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का पता चलता है।’’ 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भाजपा के शासन में उत्तर प्रदेश अपराध प्रदेश बन गया है। अजय सिंह बिष्ट की सरकार बलात्कार, हत्या, डकैती और संगठित अपराधों के संरक्षण के लिए जानी जाती है। ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों का शासन चल रहा है।’’ 

उन्होंने सवाल किया, ‘‘ सोनभद्र में अपराधियों पर कार्रवाई करने की बजाय प्रियंका गांधी को गिरफ्तार कर लिया। देश के नागरिक जानना चाहते हैं कि अपराध से पीड़ित लोगों के आंसू पोंछना अब आपराध हो गया है? क्या अब उत्तर प्रदेश में विपक्ष के नेताओं के जाने पर पाबंदी है? क्या अपराधियों को सजा देने की बजाय विपक्षी नेताओं को गिरफ्तार करेगी?’’ 

सुरजेवाला ने पूछा कि क्या ऐसी सरकार को एक दिन भी सत्ता में रहने का अधिकार है? 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सोनभद्र की घटना के लिए पहले की कांग्रेस सरकारों की नीति को जिम्मेदार ठहराने पर सुरजेवाला ने कहा, ‘‘आदित्यनाथ जी अगर आप शासन नहीं चला सकते तो सत्ता छोड़ दीजिए। क्या वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तरह कांग्रेस पर आरोप मढ़कर अपनी विफताओं से पीछा छुड़ा सकते हैं?’’ 

कांग्रेस के कई अन्य वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने भी प्रियंका की ‘गिरफ्तारी’ को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार की आलोचना की और इस कार्रवाई को “लोकतंत्र को कुचलने” जैसा करार दिया। 

कांग्रेस महासचिव और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से रोकने पर योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह कार्रवाई लोकतंत्र की “खुलेआम अपमान” है। 

उन्होंने ट्वीट में कहा, “उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा प्रियंका गांधी जी को सोनभद्र जाने से रोकना खुलेआम लोकतंत्र का अपमान है। पीड़ित परिवार से मिलना और संवेदना व्यक्त करना हर जनप्रतिनिधि का प्रथम कर्तव्य है; ऐसे में सरकार ने लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास किया है जो अत्यंत निंदनीय है।” 

कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराने संबंधी योगी के बयान के बारे में पूछे जाने पर पार्टी नेता संजय सिंह ने कहा, ‘‘इससे बड़ी विडंबना क्या हो सकती है। आज के समय में केंद्र और राज्यों की भाजपा सरकार अपनी सभी विफलताओं का ठीकरा पंडित जवाहरलाल नेहरू और कांग्रेस पार्टी पर फोड़ने की कोशिश में रहती हैं। मेरा मानना हि वे बेनकाब हो चुके हैं। यह वैचारिक दिवालियापन है।’’ 

प्रियंका गांधी वाड्रा को प्रशासन द्वारा रोके जाने के बाद उनके पति रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि प्रियंका की ‘गिरफ्तारी’ असंवैधानिक है तथा उन्हें तत्काल रिहा किया जाना चाहिए। 

गौरतलब है कि प्रियंका को शुक्रवार को सोनभद्र जाने से प्रशासन ने रोक दिया। वह बुधवार को हुए इस सामूहिक हत्याकांड के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहीं थी। प्रियंका प्रशासन के इस कदम के विरोध में धरने पर बैठ गईं। बाद में उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया। 

पिछले दिनों सोनभद्र में जमीन विवाद में एक ग्राम प्रधान ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर कथित रूप से दूसरे पक्ष पर गोलीबारी की जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।