BREAKING NEWS

LIVE : भारत पहुंचने से पहले ट्रंप ने हिंदी भाषा में किया ट्वीट, स्वागत के लिए अहमदाबाद पहुंचे मोदी◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के खाते में भेजे गए 50850 करोड़ रुपये◾ट्रम्प की यात्रा से दोनों देशों को मिलेगा एक-दुसरे को पहचानने का मौका : SBI प्रबंध निदेशक◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कश्मीर को लेकर पाक राष्ट्रपति की चिंताओं का समर्थन करने की बात से किया इनकार◾Trump - Modi गुजरात में कल करेंगे रोड शो, एक लाख से अधिक लोगों की मौजूदगी में होगा ‘नमस्ते ट्रंप’, शाह ने की समीक्षा◾भारत के सामने गिड़गिड़ाया चीन, कहा- हमें उम्मीद है कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की वस्तुपरक समीक्षा करेगा◾

समाजवादी पार्टी यूपी में उपचुनाव से पहले पार्टी में कर सकती है फेरबदल

समाजवादी पार्टी (सपा) ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा उपचुनाव से पहले अपने पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए एक बड़े फेरबदल की तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी में युवाओं को अधिक प्रतिनिधित्व देने और दिग्गज नेताओं पर अधिक विश्वास करने की तैयारी कर रही है। 

पार्टी पिछड़े और दलित वर्गों के नेताओं को बड़ी जिम्मेदारियां सौंपने की तैयारी कर रही है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पहले ही राज्य और दिल्ली की सभी पार्टी इकाइयों के साथ ही फ्रंटल संगठनों को भंग कर दिया था। पार्टी उपचुनावों से पहले संगठन को मजबूत करने की तैयारी कर रही है। 

इस बार उपचुनावों में सपा का मुकाबला बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से भी होगा। 2018 के उपचुनाव में तीन लोकसभा सीटों और एक विधानसभा सीट पर बसपा ने सपा को समर्थन दिया था।सपा के एक वरिष्ठ नेता ने सोमवार को बताया कि "सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव उपचुनावों को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं। उपचुनाव सपा के लिए अपनी विश्वसनीयता फिर से हासिल करने का एक मौका है। हालांकि मौजूदा समय में पार्टी के पास केवल एक रामपुर सीट है जहां उपचुनाव होना हैं। हम भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से अन्य सीटों को भी छीनना चाहते हैं।" 

मुहर्रम और गणेश चतुर्थी के मद्देनजर अखिलेश यादव ने रद्द किया रामपुर दौरा

उन्होंने कहा कि उपचुनाव में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को 13 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार अभियान की निगरानी का जिम्मा सौंपा जाएगा। कुछ नेताओं को संगठनात्मक जिम्मेदारियां भी दी जा सकती हैं। पूर्व मंत्री और सपा नेता रविदास मेहरोत्रा ने स्वीकार किया कि यह पार्टी के लिए संघर्ष का समय है। उन्होंने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध नेताओं की जरूरत है। हमें भरोसा है कि नया संगठन युवा और पुराने के बीच संतुलन बनाएगा। 

यादव समाजवादी पार्टी की खोई हुई जमीन को फिर से हासिल करने की कठिन चुनौती का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उनके फैसलों का सिलसिला थम गया। 2017 के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन के बाद सपा को 403 सदस्यीय राज्य विधानसभा में 47 सीटे मिली थी। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में बसपा के साथ गठबंधन के बाद भी पार्टी को सिर्फ पांच सीटे मिली थी। बसपा ने चुनाव के बाद सपा के साथ अपना गठबंधन समाप्त कर दिया था। 

इस बीच, सपा प्रमुख अखिलेश यादव रामपुर पहुंचे हैं, जहां वह सोमवार को मोहम्मद आजम खान के समर्थन में पार्टी द्वारा धरना प्रदर्शन का नेतृत्व करेंगे। सपा ने योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा अपने नेता और पार्टी के सांसद रामपुर मोहम्मद आजम खान के खिलाफ कथित राजनीतिक प्रतिशोध के खिलाफ विरोध दर्ज कराया है। इसके अलावा में पार्टी महंगाई, बिगड़ती कानून व्यवस्था और आर्थिक मंदी के कारण बेरोजगारी के मुद्दे में सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है।