BREAKING NEWS

देश में एक्टिव केस में कमी दर्ज, कोरोना मामले साढ़े 77 लाख के पार◾BJP के फ्री कोरोना वैक्सीन पर बोली शिवसेना-तुम मुझे वोट दो, हम तुम्हें वैक्सीन देंगे◾राहुल का पीएम मोदी पर तंज- तुम्हारे दावों में बिहार का मौसम गुलाबी है, मगर आंकड़े झूठे हैं और दावा किताबी है◾TOP 5 NEWS 23 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾बिहार में आज से सियासी तापमान बढ़ने की उम्मीद, चुनाव प्रचार में पीएम मोदी और राहुल गांधी की एंट्री◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 4 करोड़ 15 लाख के पार, 11 लाख 35 हजार से अधिक की मौत◾कांग्रेस ने विकास नहीं, भ्रष्टाचार की खींची लकीरें : सिंधिया◾MP विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे तुलसीराम सिलावट एवं गोविन्द सिंह राजपूत ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा◾आज का राशिफल ( 23 अक्टूबर 2020 )◾बिहार : विपक्ष को पसंद नहीं BJP का घोषणापत्र, कोरोना वायरस के मुफ्त टीकाकरण पर उठाए सवाल◾PAK की ओर से आतंकी संगठनों को सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना जाना जारी : विदेश मंत्रालय ◾SRH vs RR ( IPL 2020 ) : पांडे की आकर्षक पारी, सनराइजर्स हैदराबाद की राजस्थान रॉयल्स पर आसान जीत ◾सीएम नीतीश ने लालू की बहु ऐश्वर्या से हुए 'अनुचित व्यवहार' का मुद्दा उठाकर कसा तीखा तंज ◾पीएम मोदी 24 अक्टूबर को गुजरात में तीन अहम परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾कल से बिहार के चुनावी रण में उतरेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी, करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां ◾जेडीयू का आरजेडी से सवाल - बड़े बड़े वादे तो कर रहे हो पर इन्हें पूरा करने के लिए पैसा कहां से लाओगे ?◾मोदी सरकार द्वारा सीमाओं को सुरक्षित किये जाने से बौखलाया - घबराया हुआ है चीन : जेपी नड्डा◾BJP के वादे पर राहुल का तंज: 'अपने राज्य के चुनाव की तारीख से जानिये कब मिलेगी फ्री कोरोना वैक्सीन'◾बिहार चुनाव के घोषणा पत्र में BJP ने किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, विपक्ष हुआ हमलावर◾बिहार चुनाव : JDU ने जारी किया घोषणापत्र, पूरे होते वादे-अब हैं नए इरादे का दिया नारा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत बोले- संविधान को मानता है संघ, उसका कोई एजेंडा नहीं

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि संघ भारत के संविधान को मानता है। उसका कोई एजेंडा नहीं है और वह शक्ति का कोई दूसरा केन्द्र नहीं चाहता। संघ प्रमुख ने रुहेलखंड विश्वविद्यालय में ‘भविष्य का भारत : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का दृष्टिकोण’ विषय पर अपने व्याख्यान में संविधान से लेकर हिन्दुत्व तक कई मुद्दों पर खुल कर बात की। 

उन्होंने कहा कि संघ को लेकर तमाम भ्रांतियां फैलाई जाती हैं और वे तभी दूर हो सकती हैं, जब संघ को नजदीक से समझा जाए। उन्होंने कहा कि संघ के पास कोई रिमोट कंट्रोल नहीं है और ना ही वह किसी को अपने हिसाब से चलाता है। भागवत ने कहा कि संघ का कोई एजेंडा नहीं है, वह भारत के संविधान को मानता है। उन्होंने कहा कि हम शक्ति का कोई दूसरा केंद्र नहीं चाहते, संविधान के अलावा कोई शक्ति केंद्र होगा, तो हम उसका विरोध करेंगे। 

दो ही बच्चे पैदा करने की नीति को लेकर शुक्रवार को मुरादाबाद में दिये गये अपने बयान को स्पष्ट करते हुए संघ प्रमुख ने कहा कि कुछ लोग भ्रमवश कह रहे हैं कि संघ देश के परिवारों को दो बच्चों तक सीमित करने की इच्छा रखता है। उन्होंने कहा कि हमारा कहना है कि सरकार को इस बारे में विचार करके एक नीति बनानी चाहिये। संघ प्रमुख ने कहा, ''सबका मन बनाकर नीति बनायी जानी चाहिये।'' 

पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा

भागवत ने कहा कि जब हम कहते हैं कि इस देश के 130 करोड़ लोग हिंदू हैं, तो इसका मतलब यह नहीं है कि हम किसी के धर्म, भाषा या जाति को बदलना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम संविधान से अलग कोई सत्ता केंद्र नहीं चाहते हैं, क्योंकि हम इस पर विश्वास करते हैं। उन्होंने कहा कि जाति, पंथ, संप्रदाय, प्रांत और तमाम विविधताओं के बावजूद हम सभी को मिलकर भारत निर्माण करना है। 

संघ प्रमुख ने भारत की गुलामी का जिक्र करते हुए कहा, “मुट्ठी भर लोग आते हैं और हमें गुलाम बनाते हैं, हमारी कमियों की वजह से ऐसा होता है। हम जब-जब हिन्‍दू भाव भूले हैं, तब-तब विपत्ति आयी है।” भागवत ने अन्य धर्मावलम्बियों की तरफ इशारा करते हुए कहा, ''हम राम-कृष्ण को नहीं मानते, कोई बात नहीं, लेकिन इन सब विविधताओं के बावजूद हम सब हिन्‍दू हैं। जिनके पूर्वज हिन्‍दू थे, वे अब भी हिन्‍दू हैं। हम अपनी संस्कृति से एक हैं। हम अपने भूतकाल में भी एक हैं। यहां 130 करोड़ लोग हिन्‍दू हैं, क्‍योंकि आप भारत माता की संतान हैं।”